10वीं के बाद रेलवे में नौकरीयां: योग्यता, परीक्षा, पद एवं सैलरी

अमेरिका, रूस और चीन के बाद भारत के पास दुनिया की चौथी सबसे बड़ी रेलवे सिस्टम है. इतने बड़े सिस्टम को चलाने के लिए इसमें लगभग अभी 14 लाख कर्मचारी काम कर रहे हैं. 10वीं के बाद रेलवे में नौकरी पाकर आप भी इस बड़े सिस्टम का हिस्सा बन सकते हैं.

भारतीय रेल में भर्ती के लिए सरकार ने रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) के नाम से एक संगठन बनाया है, जो समय-समय पर देश के विभिन्न हिस्सों में भर्ती निकालती रहती है. नौकरी के अलावा आरआरबी अपने यहां अप्रेंटिसशिप का मौका भी देती है.

इस पोस्ट में हम लोग 10वीं पास अभ्यर्थियों के लिए रेलवे में मौजूद नौकरी एवं अप्रेंटिसशिप के अवसर के बारे में जानेंगे. जिसके अंतर्गत रेलवे में नौकरी पाने के लिए जरूरी परीक्षा, योग्यता, चयन प्रक्रिया और उनमें मिलने वाले वेतन के बारे में भी जानेंग. अंत में इससे संबंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर (FAQs) भी देखेंगे.

रेलवे में दसवीं पास अभ्यर्थियों के लिए सबसे ज्यादा ग्रुप डी स्तर की नौकरी रहती है. इसके अलावा असिस्टेंट लोको पायलट एवं कांस्टेबल भी एक विकल्प रहता है.

a train on the tracks
Train

1. असिस्टेंट लोको पायलट

जो ट्रेन को चलाते हैं उसे ही असिस्टेंट लोको पायलट कहा जाता है. आम बोल-चाल की भाषा में इसे ट्रेन का ड्राइवर भी कहते हैं.

असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए पात्रता

दसवीं के बाद असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए अभ्यर्थियों को RRB ALP परीक्षा देना होता है. इस परीक्षा में शामिल होने के लिए आपका दसवीं न्यूनतम 40% अंक के साथ पास होने के अलावा आपका आईटीआई कोर्स किया होना भी जरूरी है.

आयु सीमा (age limit) की बात करें तो 18 से 30 वर्ष तक के अभ्यर्थी इस आरआरबी एएलपी परीक्षा के लिए पात्र (eligible) हैं.


RRB ALP परीक्षा में निम्न चार चरण होते हैं:

  • कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT) 1
  • कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT) 2
  • कंप्यूटर आधारित एप्टीट्यूड टेस्ट (CBAT)
  • दस्तावेज सत्यापन (DV)

असिस्टेंट लोको पायलट की सैलरी कितनी होती है?

असिस्टेंट लोको पायलट को ₹19,900 का बेसिक पे मिलता है जो सभी भत्तो (DA, HRA) को मिलाकर लगभग ₹33,000 से ₹40,000 तक पहुंच जाता है.

2. Group D की नौकरियां

जैसा कि आपको बताया ही गया है की 10वीं के बाद रेलवे में सबसे ज्यादा नौकरी ग्रुप डी स्तर की होती है, जिसकी भर्ती RRB Group D परीक्षा के जरिए होता है.

a person standing on the tracks holding a pole to a train
Train

रेलवे में ग्रुप डी के अंतर्गत आने वाले प्रमुख पद निम्न है:

  • केबिन मैन
  • फिटर
  • हेल्पर
  • की मैन
  • पोर्टल
  • लीवर मैन
  • वेल्डर
  • स्विच मैन

RRB Group D परीक्षा के लिए योग्यता

आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा में शामिल होने के लिए आपका 10वीं न्यूनतम 40% अंक के साथ पास होना अनिवार्य है. वहीं इसमें जो कुछ टेक्निकल पद है (जैसे फिटर) उसके लिए आपके पास दसवीं के अलावा आईटीआई का भी सर्टिफिकेट होना चाहिए.

इस आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा के लिए आयु सीमा 18 से 33 वर्ष है.

आरआरबी ग्रुप डी का परीक्षा पैटर्न

रेलवे में ग्रुप डी के स्तर की नौकरी पाने के लिए अभ्यर्थियों को इन चार चरणों से होकर गुजरना होता है:

  • कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT)
  • शारीरिक्त दक्षता परीक्षण (PET)
  • दस्तावेज सत्यापन (DV)
  • मेडिकल इवेलुएशन

आरआरबी ग्रुप डी के कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT) में कुल चार विषयों से प्रश्न रहते हैं, जिसका विवरण नीचे की तालिका में दिया जा रहा है.

विषयप्रश्न की संख्या
गणित25
रिजनिंग30
सामान्य विज्ञान25
सामान्य जागरूकता20
RRB Group D Exam Pattern in Hindi

इस तरह से आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा में कुल 100 प्रश्न होते हैं, जिसे हल करने के लिए 90 मिनट का समय मिलता है.

इसके अलावा इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग की भी व्यवस्था रहती है. इसके अंतर्गत प्रत्येक गलत उत्तर पर ⅓ अंक काटता है. इसलिए इसमें तुक्का मारने से बचें और अच्छे से समझ कर ही प्रश्न को हल करें.

कंप्यूटर आधारित परीक्षा (CBT) को पास करके अगले चरण के लिए क्वालीफाई करने के लिए अनारक्षित (unreserved) एवं ईडब्ल्यूएस (EWS) अभ्यर्थियों को न्यूनतम 40% अंक यानी 40 अंक तथा इसके अलावा बचें श्रेणी वाले को 30% अंक लाना होता है. बाकी यह कट ऑफ पर भी निर्भर करता है.

रेलवे ग्रुप डी की सैलरी कितनी होती है?

ग्रुप डी वालों को ₹18,000 का बेसिक पे मिलता है तथा इसके अलावा DA, HRA, जैसे विभिन्न भत्ते भी मिलते हैं. इन सबको मिलाकर कुल वेतन लगभग ₹30,000 से ₹35000 तक मिलता है.

चूंकि रेलवे ग्रुप डी के अंतर्गत कई सारे विभिन्न प्रकार के पद होते तो आपकी सैलरी इन पदों पर भी निर्भर करती है.

3. RPF Constable

जिन लोगों की सेहत बहुत अच्छी है, ज्यादा देर तक दौड़ सकते हैं और लंबी छलांग लगा सकते हैं उनके लिए रेलवे सुरक्षा बल (RPF) में जाना एक अच्छा विकल्प है.

RPF में 18 से 25 वर्ष के 10वीं पास अभ्यर्थी आरपीएफ कांस्टेबल परीक्षा देकर कांस्टेबल बन सकते हैं.

RPF Constable का परीक्षा पैटर्न

RRB Group D ही की तरह RPF Constable की भी चयन प्रक्रिया चार चरणों में विभाजित है, जो कि निम्नलिखित है:

  • कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT)
  • फिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट (PET)
  • मेडिकल इवेलुएशन
  • डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन

आरपीएफ कांस्टेबल परीक्षा में गणित, रीजनिंग और सामान्य जागरूकता (general awareness) से कुल 100 (25+25+50) प्रश्न पूछे जाते हैं, और इस परीक्षा की अवधि (duration) 90 मिनट होती है.

इसमें सभी प्रश्न एक अंक के रहते हैं. इस तरह से ये परीक्षा कुल 100 अंक का होता है तथा इसमें भी ⅓ की नेगेटिव मार्किंग भी रहती है.

आरपीएफ कांस्टेबल की सैलरी

दसवीं के बाद RPF Constable सबसे ज्यादा सैलरी वाली रेलवे जॉब है. इसमें आपको ₹21,700 का बेसिक पे मिलता है और फिर DA,HRA,जैसे भत्ते भी इसमें जुड़ते हैं तो कुल मिलाकर इसकी सैलरी ₹35,000 से ₹40,000 प्रति महीना तक होती है.

इसके अलावा आरपीएफ कांस्टेबल का वेतन (salary) शहर पर भी निर्भर करता है. जैसे अगर आपकी पोस्टिंग मुंबई, बेंगलुरु, आदि जैसे महंगे शहर में हुआ तो आपकी सैलरी ज्यादा होगी वहीं इसके विपरित यूपी, बिहार, जैसे राज्य के किसी शहर में हुआ तो सैलरी कम होगी.

10वीं पास अभ्यर्थियों के लिए रेलवे नौकरी के अलावा अपने यहां अप्रेंटिसशिप (apprenticeship) करने का भी मौका भी देता है.

अप्रेंटिसशिप, इंटर्नशिप की ही तरह होता है जिसके अंतर्गत आपको मुख्यता 3 महीने से लेकर 2 साल तक काम करने और सीखने का मौका मिलता है.

मैट्रिक पास अभ्यर्थियों के लिए रेलवे में मुख्यता इन पदों पर अप्रेंटिसशिप का मौका रहता है:

इनमें से जो टेक्निकल पद है जैसे इलेक्ट्रीशियन, फिटर, आदि इसके लिए आपके पास दसवीं के अलावा आईटीआई का सर्टिफिकेट भी होना चाहिए.

इसमें यह जरूरी है कि सर्टिफिकेट नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल एजुकेशन एंड ट्रेनिंग (NCVET) या स्टेट काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग (SCVT) से मान्यता प्राप्त संस्थान से आपको मिला हो.

चूंकि ये नौकरी नहीं है सिर्फ ट्रेनिंग है तो इसलिए इसमें आपको वेतन बहुत कम लगभग 6-7 हज़ार रुपए प्रति महीना मिलता है.

परंतु इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपको काम करने का कुछ अनुभव हो जाता है, आप काम भी सीख जाते हैं, जिससे आपके लिए आगे काम पाना यानी नौकरी मिलना आसान हो जाता है.

क्या 10वीं पास रेलवे में अप्लाई कर सकते हैं?

हां, 10वीं पास अभ्यर्थी रेलवे में असिस्टेंट लोको पायलट, कांस्टेबल एवं ग्रुप डी के अंतर्गत आने वाले विभिन्न पद जैसे हेल्पर, फिटर, केबिन मैन, आदि जैसे पद के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

इन पदों पर भर्ती RRB ALP, RPF Constable और RRB Group D परीक्षा के जरिए होता है.

रेलवे ग्रुप डी में उम्र कितनी है?

रेलवे ग्रुप डी परीक्षा के लिए आयु सीमा 18 से 33 वर्ष है.

10वीं के बाद रेलवे की नौकरी के लिए कौन सा विषय सबसे अच्छा है?

चूंकि इसमें ज्यादातर टेक्निकल पोस्ट होता है इसलिए 10वीं के बाद रेलवे की नौकरी के लिए आईटीआई (ITI) करना सबसे अच्छा रहेगा.

इसके अलावा 12वीं विज्ञान (PCM) से करना भी बेहतर है.

रेलवे की भर्ती 2024 में कब निकलेगी?

रेलवे भर्ती बोर्ड ने हाल ही में RRB Calendar 2024 जारी किया है. जिसके अनुसार जनवरी से मार्च के बीच असिस्टेंट लोको पायलट की भर्ती निकलेगी.

इसके अलावा अप्रैल से जून की अवधि में टेक्नीशियन के पदों पर, जुलाई से सितंबर के बीच नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (NTPC), जूनियर इंजीनियर तथा पैरामेडिकल की श्रेणी की भर्ती निकलेगी.

अंत में अक्टूबर से दिसंबर तक ग्रुप डी और अधिकारी स्तर के पद पर भर्ती निकलेगी.

रेलवे ग्रुप डी में कितने घंटे की ड्यूटी होती है?

रेलवे ग्रुप डी में सप्ताह के दिन (week days) यानी सोम, मंगल, बुध, गुरु एवं शुक्रवार को 8.5 घंटे की ड्यूटी और शनिवार को कर 5.5 घंटे की ड्यूटी होती है तथा रविवार को छुट्टी होती है.

उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा. अगर आपका इससे संबंधित कोई प्रश्न है तो कॉमेंट में जरूर पूछें एवं इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
This Blog is Hosted on Cloudways