12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची | 15 प्रमुख कंप्यूटर कोर्स

आज के दौर में बिना कंप्यूटर की जानकारी के नौकरी मिलना बहुत मुश्किल है. और खासकर 12वीं के बाद तो और भी मुश्किल है. क्योंकि 12वीं तक आपको कोई हुनर नहीं सिखाया जाता है. सिर्फ पढ़ाया जाता है. इसलिए जल्दी नौकरी पाने के लिए आप 12th ke baad computer course कर सकते हैं. तो आइए विस्तार से 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची जानते हैं.

12वीं के बाद आप कंप्यूटर कोर्स में डिप्लोमा, बैचलर और अगर समय की कमी है तो शॉर्ट टर्म कोर्स भी कर सकते हैं. डिप्लोमा कंप्यूटर कोर्स की अवधि 1 से 3 साल तक होती है. बैचलर की 3 से 4 साल तक होती है. तो वहीं शॉर्ट टर्म कोर्स 6 महीने तक का भी होता है. 

इस पोस्ट में हमलोग विस्तार से 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची जानेंगे. जिसके अंतर्गत 12th ke baad best computer course, सरकारी नौकरी के लिए कंप्यूटर कोर्स, कंप्यूटर कोर्स करने के बाद क्या करें, आदि जानेंगे. अंत में best computer courses after 12th in hindi से जुड़ा कुछ FAQs भी देखेंगे. 

12वीं के बाद 15 सबसे बेस्ट कंप्यूटर कोर्स 

नीचे आपको 15 बेहतरीन कंप्यूटर कोर्स बताए जा रहे हैं. इसमें से ज्यादातर कोर्स को कोई भी स्ट्रीम वाले कर सकते हैं. तो वहीं कुछ कंप्यूटर कोर्स करने में स्ट्रीम की पाबंदी होती है. यानी उसे किसी खास स्ट्रीम से 12वीं पास अभ्यर्थी ही कर सकते हैं. तो चलिए 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची को शुरू करते हैं.

12th ke baad computer course list
Computer Course

1. ADCA 

ये एक बेसिक कंप्यूटर कोर्स है. जिसकी अवधि 1 साल होती है. जो दो सेमेस्टर में बटा होता है. प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने का होता है. पहले सेमेस्टर में MS Office, कंप्यूटर फंडामेंटल्स, इंटरनेट, ईमेल आदि सिखाया जाता है तो वहीं दूसरे सेमेस्टर में tally, सी प्रोग्रामिंग, कोरल्ड्रॉ, फोटोशॉप आदि सिखाया जाता है.

ADCA का फुल फॉर्म Advance Diploma in Computer Application होता है.

इस कोर्स को आप किसी कॉलेज, यूनिवर्सिटी या कंप्यूटर इंस्टिट्यूट से कर सकते हैं.  इसकी फीस ₹ 5000 से ₹ 20,000 तक होती है. तथा एडीसीए करने के बाद आपकी सैलरी 10,000 से 30,000 ₹ प्रतिमाह तक होती है.

2. Digital Marketing Course 

मार्केटिंग कोई नई चीज नहीं है पर इसे करने का तरीका अब बदल चुका है. पहले जहां मार्केटर अपना पूरा ध्यान बिलबोर्ड, न्यूज़ पेपर, पंपलेट आदि के जरिए अपने प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार करने में लगाते थे. 

तो वहीं अब मार्केटर की कोशिश ये रहती है कि वे ऑनलाइन ज्यादा से ज्यादा लोगों का ध्यान अपने प्रोडक्ट या सर्विस की तरफ खींच सकें. 

इसी खींचातानी के चक्कर में हमलोग को इतना सारा एड्स देखना पड़ जाता है.

बहुत सारे कॉलेज या यूनिवर्सिटी के साथ-साथ कई सारी कंपनियां भी इस कोर्स को करवाती है. एकेडमीक्स की बात करें तो 12वीं के बाद आप सर्टिफिकेट इन डिजिटल मार्केटिंग या बीबीए इन डिजिटल मार्केटिंग कर सकते हैं. कॉलेज/ यूनिवर्सिटी में ये कोर्स ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से होती है.

अगर आप मुफ्त में ये कोर्स करना चाहते हैं तो Google Digital Garage द्वारा जारी किया गया फंडामेंटल्स आफ डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कर सकते हैं. उसके बाद आपको सर्टिफिकेट भी मिलता है.

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के बाद जल्दी जॉब पाने के लिए आपको इंटर्नशिप (internship) करना होगा. अपने देश भारत में Digital Deepak एक बहुत ही मशहूर डिजिटल मार्केटिंग इंटर्नशिप प्रोग्राम है.

3. Tally 

फाइनेंस किसी भी बिजनेस का रीड की हड्डी (backbone) होती है. और इसका हिसाब किताब रखने के लिए आपको अकाउंटिंग करना होगा.  

एकाउंटिंग आप पेपर पर भी कर सकते हैं. लेकिन इसको मेंटेन करना बहुत मुश्किल होता है. इसलिए ज्यादातर कंपनी रिकॉर्ड रखने और अकाउंटिंग के लिए टैली सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करती हैं.

चूंकि टैली सॉफ्टवेयर मुख्यत: अकाउंटिंग के लिए इस्तेमाल होता है. इसलिए 12वीं कॉमर्स के बाद ये एक बहुत अच्छा कंप्यूटर कोर्स (12th commerce ke baad best computer course) है. तथा ये एक बहुत अच्छा बैंक के लिए कंप्यूटर कोर्स भी है.

Tally का फुल फॉर्म Transactions Allowed in a Linear Line Yards होता है.

टैली का सर्टिफिकेट और डिप्लोमा दोनों कोर्स होता है. इसके डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1 से 2 साल होती हैं. तथा सर्टिफिकेट कोर्स की अवधि 2 से 4 महीना होती है. 

सर्टिफिकेशन इन टैली कोर्स के लिए द इंस्टीट्यूट आफ कंप्यूटर अकाउंटेंट्स (मुंबई), YMCA इंस्टीट्यूट ऑफ ऑफिस मैनेजमेंट (नई दिल्ली), आदि बहुत अच्छा कॉलेज है.

4. Cyber Security Course 

सब कुछ ऑनलाइन हो जाने से जहां बहुत सारी सुविधाएं आई है, तो वहीं कुछ खतरे भी साथ लाई है. और बड़ी बड़ी कंपनियों के लिए तो और भी ज्यादा खतरा है. उनको हमेशा डाटा लीक होने का या डाटा चोरी होने का डर लगा रहता है. इसी से बचने के लिए वें साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट को हायर करते है.

12वीं के बाद साइबर सिक्योरिटी में आप बीटेक, बीएससी और सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते है. कुछ टॉप कॉलेज या यूनिवर्सिटी से बीटेक इन साइबर सिक्योरिटी करने के लिए आपको जेईई मेन (JEE Main) एग्जाम पास करना होगा.

Cisco, IBM जैसी कंपनियां भी इसमें सर्टिफिकेट कोर्स करवाती है. Coursera पर “आईबीएम साइबर सिक्योरिटी एनालिस्ट प्रोफेशनल सर्टिफिकेट” कोर्स बहुत प्रसिद्ध है. इसके अलावा आप Udemy, Great Learning, Simplilearn और Edureka जैसे ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म पर भी ये कोर्स कर सकते है.

5. Graphic Designing 

आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं पास विद्यार्थियों के लिए ये कंप्यूटर कोर्स (12th arts ke baad computer course) बहुत ही अच्छा है. इसमें आपको अपनी कला ही तो दिखानी होती है. आप जितने ज्यादा क्रिएटिव होंगे उतना ही अच्छा ग्राफिक्स आप बना पाएंगे.

ग्राफिक डिजाइनिंग में आप 12वीं के बाद डिप्लोमा, सर्टिफिकेट और बैचलर डिग्री कर सकते है. 12वीं के बाद ग्राफिक डिजाइनिंग में प्रमुख बैचलर डिग्री निम्नलिखित है:

  • बैचलर ऑफ डिजाइन (B.Des)
  • बीए (ऑनर्स) ग्राफिक डिजाइन
  • बीएससी इन ग्राफिक, एडवरटाइजिंग एंड डिजिटल डिजाइन
  • बीए ग्राफिक डिजाइन एंड विजुअल कम्युनिकेशन
  • बीए (ऑनर्स) ग्राफिक डिजाइन: एडवरटाइजिंग एंड ब्रांडिंग

6. वेब डेवलपमेंट

वेब डेवलपमेंट एक हाई पेइंग जॉब है. ये आजकल ट्रेंडिंग करियर में भी शुमार होता है. इसमें आपको विभिन्न प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (HTML, CSS, Java, etc.), कंप्यूटर ग्राफिक्स, मैथमेटिकल स्ट्रक्चर फॉर कंप्यूटर साइंस, आदि सीखना होता है.

बहुत सारे ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म और यूट्यूब पर इसके कई सारे कोर्स मौजूद है. लेकिन अगर आप ऑफलाइन ये कोर्स करना चाहते है तो यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास द्वारा कराया जाने वाला “सर्टिफिकेट इन वेब डेवलपमेंट” कोर्स कर सकते है.

इस कोर्स को करने के बाद आपकी निम्नलिखित जॉब प्रोफाइल होती है:

  • जूनियर वेब डेवलपर
  • एसोसिएट वेब डेवलपर
  • वेब डेवलपर एंड डिजाइनर
  • पीएचपी वेब डेवलपर
  • वेब यूआई डेवलपर
  • वेब एप्लीकेशन डेवलपर
  • फ्रंट एंड वेब डेवलपर
  • फुल स्टैक वेब डेवलपर 
  • सीनियर वेब डेवलपर

7. App Development

अब लगभग सभी के जेब में एक स्मार्टफोन रहता है, और उस एक स्मार्टफोन में न जाने कितना ऐप रहता है. ये सभी ऐप, ऐप डेवलपर ही बनाते है. वेब डेवलपर की तरह ही ऐप डेवलपर की मांग भी समय के साथ बढ़ती ही जा रही है. क्योंकि हर बिजनेस ऑनर चाहते है की उनकी वेबसाइट के साथ-साथ उनका एक ऐप भी हो.

12वीं के बाद प्रमुख ऐप डेवलपमेंट कोर्स निम्नलिखित है:

  • डिप्लोमा इन मोबाइल ऐप डेवलपमेंट
  • बीसीए – मोबाइल एप्लिकेशन डेवलपमेंट
  • बीटेक – कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग विथ स्पेशलाइजेशन इन मोबाइल एप्लिकेशन
  • बीएससी इन गेमिंग एंड मोबाइल एप्लीकेशन डेवलपमेंट
  • B.Voc. इन मोबाइल ऐप डेवलपमेंट

इसके अलावा मोबाइल ऐप डेवलपमेंट के बहुत सारे सर्टिफिकेट कोर्स भी है जो आप ऑनलाइन कर सकते है.

8. VFX & Animation

गेम्स हो या चाहे कार्टून वीडियो हो, वीएफएक्स और एनीमेशन का इस्तेमाल हर जगह है. आजकल तो यूट्यूब पर भी बच्चों के लिए बहुत सारी कहानियां (story) आ रही है. वो सब एनीमेशन का ही कमाल होता है.

12वीं के बाद प्रमुख वीएफएक्स और एनीमेशन कोर्स और उसकी अवधि निम्नलिखित है:

कोर्स अवधि
सर्टिफिकेशन इन वीएफएक्स एंड एनीमेशन2 महीना
डिप्लोमा इन वीएफएक्स एंड एनीमेशन2 साल
बीएससी इन एनीमेशन एंड वीएफएक्स3 साल
बीए इन एनीमेशन एंड मल्टीमीडिया3 साल
बैचलर ऑफ डिजाइन इन एनीमेशन3 साल
बैचलर ऑफ विजुअल आर्ट्स (एनीमेशन)3 साल
बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स इन एनीमेशन, ग्राफिक्स एंड वेब डिजाइन3 साल
VFX & Animation Course

कुछ कॉलेज वीएफएक्स एंड एनीमेशन कोर्स में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर देती है. NIT DAT, BIT Entrance Test और ITM IDM Entrance Test इसके कुछ प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम है.

9. BCA 

बीसीए 3 साल का एक अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम है. जिन लोगों को कोडिंग करने में मजा आता है तथा कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर के बारे में सीखने की जिज्ञासा रहती हैं. उन लोगों के लिए ये कोर्स उपयुक्त है.

BCA का फुल फॉर्म Bachelor of Computer Application होता है.

ज्यादातर कॉलेज या यूनिवर्सिटी में किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास अभ्यर्थी ये कोर्स कर सकते है. तो वहीं कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटी सिर्फ 12वीं साइंस (PCM) पास अभ्यर्थी को ही ये कोर्स करने का मौका देती है.

BCA के बारे में विस्तार से पढ़ें…

10. Ethical Hacking 

Hacker मुख्यत: दो तरीके के होते है. एक ब्लैक हैट हैकर तथा दूसरा व्हाइट हैट हैकर. ब्लैक हैट हैकर गैर कानूनी काम करते है. वें बैंक या कंपनी के सिस्टम को हैक करके पैसा और डाटा चुरा लेते है तो वहीं व्हाइट हैट हैकर अपने हैकिंग स्किल का इस्तेमाल करके कंपनियों या अन्य संस्थानों के सिस्टम को हैक होने से बचाती है.

व्हाइट हैट हैकर को ही एथिकल हैकर कहा जाता है. जिस तरह लोहा लोहे को काटता है उसी तरह एथिकल हैकर ब्लैक हैट हैकर को सिस्टम को हैक करने से रोकता है.

एथिकल हैकिंग का कोर्स आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से कर सकते है. भारत में NIIT University, KRMU University, मानव रचना यूनिवर्सिटी, आदि एथिकल हैकिंग का बैचलर डिग्री करवाती है. 

11. AutoCAD

AutoCAD एक सॉफ्टवेयर है, जिसके जरिए से आप कई तरह के डिजाइन और स्केच बना सकते है. सिविल इंजीनियर के लिए इस सॉफ्टवेयर को सीखना बहुत जरूरी होता है. वें इसी के जरिए से घर, पुल, आदि का 2D या 3D नक्शा तैयार करते है.

AutoCAD का फुल फॉर्म Automatic Computer Aided Design होता है.

सिविल इंजीनियर के लिए तो ये कोर्स जरूरी है ही इसके अलावा अगर मैकेनिकल इंजीनियर भी ये कोर्स कर लें तो उनको बहुत फायदा होगा. क्योंकि गाड़ी का डिजाइन भी इसी सॉफ्टवेयर से बनाया जाता है.

प्रमुख कंपनियां जो AutoCAD ग्रेजुएट को अपने यहां हायर करती है, निम्नलिखित है:

  • टाटा मोटर्स
  • टेक महिंद्रा लिमिटेड
  • जैकब्स इंजीनियरिंग ग्रुप
  • मारुति सुजुकी
  • HCL टेक्नोलॉजीज लिमिटेड
  • इंटेल कॉरपोरेशन
  • हनीवेल ऑटोमेशन इंडिया लिमिटेड

12. Data Entry Operator 

डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम कंप्यूटर में डाटा को इंटर करना और पहले से मौजूद डाटा को अपडेट करना होता है. चूंकि किसी भी कंपनी या संस्थान के लिए डाटा बहुत महत्वपूर्ण होती है. इसलिए इसको मैनेज करने के लिए उसको डाटा एंट्री ऑपरेटर की जरूरत पड़ती ही है.

Data Entry Operator के प्रमुख सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स निम्नलिखित है:

  1. सर्टिफिकेट इन डाटा एंट्री ऑपरेटर
  2. सर्टिफिकेट इन मॉडर्न ऑफिस मैनेजमेंट एंड सेक्रेटरीअल प्रैक्टिस
  3. सर्टिफिकेट इन ऑफिस असिस्टेंट कम कंप्यूटर ऑपरेटर
  4. डिप्लोमा इन ऑफिस मैनेजमेंट एंड सेक्रेटरीअल प्रैक्टिस 

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना या किसी राज्य सरकार द्वारा आयोजित कौशल विकास योजना के तहत भी इसके सर्टिफिकेट कोर्स कराए जाते है. 

किसी ITI या पॉलीटेक्निक कॉलेज से आप डाटा एंट्री ऑपरेटर का डिप्लोमा कोर्स कर सकते है.

13. SEO Course 

ये कोर्स ज्यादातर ऑनलाइन ही होती है. Moz Academy, Hubspot Academy, Simplilearn, आदि कुछ प्रमुख प्लेटफार्म है जहां से आप ऑनलाइन एसईओ का कोर्स कर सकते है.

SEO Course करने के बाद प्रमुख जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी निम्नलिखित है:

जॉब प्रोफाइलऔसत वेतन (मासिक)
SEO Executive₹ 12,000
SEO Trainee₹ 14,000
SEO Analysts₹ 15,000
Content Marketer₹ 17,000
Digital Marketing Executive₹ 18,000
SEM Specialists₹ 19,000
Digital Marketer₹ 20,000
SEO Manager₹ 46,000
Job Profile after SEO Course

14. Java Course 

Java एक बहुत ही प्रसिद्ध प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है. एड्राइड ऐप, क्लाउड एप्लीकेशंस, मशीन लर्निंग यहां तक के कई सारे IOT टेक्नोलॉजी में भी इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल होता है.

ये कोर्स भी आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीके से कर सकते हैं. प्रमुख जावा कोर्स और उसकी फीस निम्नलिखित है:

कोर्स का नामऔसत फीस (सालाना)
प्रोफेशनल सर्टिफिकेट इन इंट्रोडक्शन टू जावा₹ 30,000
डिप्लोमा इन जावा₹ 40,000
बी टेक कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग₹ 1,20,000
बीएससी इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी₹ 50,000
बीएससी सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग₹ 1,00,000
Java Courses with their fees

15. DMLT 

डीएमएलटी एक पैरामेडिकल कोर्स है. पैरामेडिकल कोर्स मेडिकल के क्षेत्र में प्रवेश करने का सस्ता और आसान तरीका है. क्योंकि अगर आप एमबीबीएस, बीडीएस जैसे कोर्स करेंगे तो पहली बात तो फीस बहुत लगेगी और दूसरा ये कि इन कोर्सेज में एडमिशन के लिए नीट (NEET) क्लियर करना होगा. जो की खुद एक मुश्किल एग्जाम है.

DMLT का फुल फॉर्म Diploma in Medical Laboratory Technology होता है.

ये 12वीं विज्ञान के बाद एक बहुत अच्छा कंप्यूटर कोर्स (12th science ke baad computer course) है. इस कोर्स को करने के लिए आपका 12वीं साइंस (PCB) से 50% अंक के साथ पास होना अनिवार्य है. हालांकि कुछ इंस्टीट्यूट 10वीं पास विद्यार्थियों को भी ये कोर्स करने का मौका देती है. 

DMLT करने के बाद आप लैब टेक्नीशियन बन सकते है.

प्रमुख DMLT कॉलेज निम्नलिखित है:

कॉलेज/ यूनिवर्सिटीस्थान
PDM यूनिवर्सिटीहरियाणा
बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूटबैंगलोर
जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेजमहाराष्ट्र
जाकिर हुसैन इंस्टीट्यूटदिल्ली
आईटीएम इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंसमुंबई
राजीव गांधी पैरामेडिकल इंस्टीट्यूटदिल्ली
टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसमुंबई
DMLT Colleges

अब तक आपने 15 कंप्यूटर कोर्स का 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची जान चुके है. आइए अब विभिन्न सरकारी नौकरी के लिए महत्वपूर्ण कंप्यूटर कोर्स जानते है.

सरकारी नौकरी के लिए कंप्यूटर कोर्स

प्राइवेट नौकरी की तुलना में सरकारी नौकरी ज्यादा सुरक्षित होती है और गवर्नमेंट जॉब वालों की समाज में ज्यादा इज्जत भी होती है. इसलिए बहुत से अभ्यर्थी प्राइवेट नौकरी की तुलना में सरकारी नौकरी को ज्यादा तरजीह देते हैं.

आप निम्नलिखित कंप्यूटर कोर्स करके 12वीं के बाद सरकारी नौकरी पा सकते हैं:

  • कोर्स ऑन कंप्यूटर कॉन्सेप्ट्स (CCC)
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स 
  • एडवांस डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (ADCA)
  • ओ लेवल कोर्स 
  • बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA)
  • एडवांस डिप्लोमा इन फाइनेंशियल अकाउंटिंग

इसमें से ओ लेवल कोर्स सिर्फ नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी (NIELIT) द्वारा कराया जाता है. बाकी कोर्स आप किसी भी कंप्यूटर इंस्टिट्यूट, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से कर सकते हैं.

कंप्यूटर कोर्स करने के बाद क्या करें?

कंप्यूटर कोर्स करने के बाद ज्यादातर लोग प्राइवेट नौकरी ही करते हैं या यूं कहें की ज्यादातर प्राइवेट नौकरी ही मिलती है. लेकिन अगर आप पिछले सेक्शन (सरकारी नौकरी के लिए कंप्यूटर कोर्स) में बताए गए कोर्स में से कोई किए है तो सरकारी नौकरी भी पा सकते है.

अगर आप नौकरी के बंधन में नही बंधना चाहते है तो फ्रीलांसिंग (freelancing) कर सकते है. इसमें आपको अलग अलग क्लाइंट्स के लिए काम करना होता है. इसमें आप अपने कंप्यूटर स्किल का इस्तेमाल करके घर बैठे ऑनलाइन पैसा कमा सकते है.

नौकरी हो या चाहे फ्रीलांसिंग हो दोनों में आपको तभी आसानी से काम मिलेगा जब आपके पास कंप्यूटर का प्रैक्टिकल नॉलेज होगा. और प्रैक्टिकल नॉलेज हासिल करने का सबसे अच्छा तरीका है इंटर्नशिप. ये आप ऑनलाइन भी कर सकते है और इसके जरिए ऑफलाइन भी पैसा कमा सकते है.

आप अगर साहसी है, जोखिम (risk) उठा सकते है और अगर आपके पास पैसा भी है तो आप अपना कंप्यूटर इंस्टीट्यूट भी खोल सकते है.

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची – निष्कर्ष

12वीं के बाद आप कंप्यूटर कोर्स में बैचलर, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते है. इसका बैचलर डिग्री और डिप्लोमा ज्यादातर कॉलेज/ यूनिवर्सिटी ही करवाती है. तो वहीं इसका सर्टिफिकेट कोर्स आप ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म (जैसे Udemy, Coursera, आदि) से भी कर सकते है.

सरकारी नौकरी का एक अलग ही रुतबा है. इसलिए बहुत से स्टूडेंट 12वीं के बाद सरकारी नौकरी पाना चाहते है. सरकारी नौकरी पाने के लिए आप डाटा एंट्री ऑपरेटर कोर्स, CCC, ओ लेवल कोर्स, आदि कर सकते है.

कंप्यूटर कोर्स करने के बाद सबसे पहले ये कोशिश करें कि कहीं इंटर्नशिप कर लें. इससे आपको कंप्यूटर का प्रैक्टिकल नॉलेज हो जाएगा. जिससे आपके लिए नौकरी मिलना आसान हो जाएगा. आप फ्रीलांसिंग भी कर सकते है. अगर आपके पास पैसा है तो कंप्यूटर इंस्टीट्यूट खोलना भी एक अच्छा विकल्प है.

उम्मीद है कि ये पोस्ट ‘ 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची ’ आपको उपयोगी लगा होगा. इसमें बताएं गए किसी कंप्यूटर कोर्स के बारे में अगर विस्तार से जानना हो तो कॉमेंट में जरूर बताएं. एवं इस पोस्ट को उन लोगों तक शेयर करें जो 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स करना चाहते हो.

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची – FAQs 

बेसिक कंप्यूटर कोर्स कितने महीने का होता है?

बेसिक कंप्यूटर कोर्स 3 से 4 महीने का होता है.

20000 Salary के लिए कौन सा computer course करना चाहिए?

20 हजार या उससे अधिक सैलरी के लिए आप एथिकल हैकिंग, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, ग्राफिक डिजाइनिंग, आदि कंप्यूटर कोर्स करना चाहिए.

Diploma in Mechanical Engineering के बाद O level computer course करने का कुछ फायदा है?

O level computer course को भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा मान्यता प्राप्त है. इस कोर्स को करने के बाद आप केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों के अंतर्गत आनेवाले नौकरी के लिए पात्र हो जाते हैं. 

तो Diploma in Mechanical Engineering के बाद O level computer course करने का कई सारा फायदा है. जिसमें से सबसे बड़ा फायदा ये है कि आप सरकारी नौकरी पा सकते है.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Nitika Saini
Nitika Saini
1 month ago

आर्ट से जो पढ़ रहे हैं और 12के बाद कौन सा कोर्स करें की उनको सिविल सेवा परीक्षा में भी काम आ सके और 12 के बाद कोई भी नौकरी कर सके

Muskan
1 month ago

best

Rajjanpasi
Rajjanpasi
28 days ago

12th science ke best course future