44 प्रमुख डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद | Diploma Courses after 12th

आजकल बहुत सारे शिक्षित युवा बेरोजगार है. इसकी बहुत सारी वजहें हैं, जिसमें से एक प्रमुख वजह ये है कि कई सारे युवा ऐसा कोर्स कर लेते हैं की जिसके आधार पर नौकरी मिलना बहुत मुश्किल होता है. इसलिए आपको अगर नौकरी चाहिए तो आप सर्टिफिकेट्स या डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद कर सकते हैं.

12वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आप कम समय में नौकरी पाने के काबिल हो जाते हैं.  इसकी अवधि 1 साल से 3 साल तक होती है. ये आप रेगुलर या डिस्टेंस से भी कर सकते हैं.

इस पोस्ट में हम लोग डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद जानेंगे. जिसके अंतर्गत इग्नू डिप्लोमा कोर्स, 12वीं के बाद डेंटल डिप्लोमा कोर्स, आदि भी जानेंगे एवं अंत में 12th ke baad diploma course से जुड़ा कुछ FAQs भी देखेंगे.

डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद सूची

12वीं आर्ट्स, साइंस या कॉमर्स तीनों के बाद डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं. हालांकि कुछ डिप्लोमा कोर्सेज सिर्फ साइंस से 12वीं पास स्टूडेंट के लिए खास होता है. तो नीचे आपको 12वीं के बाद किए जाने वाले कुछ प्रमुख डिप्लोमा कोर्स (diploma courses after 12th in hindi) बताए जा रहे हैं.

diploma course 12th ke baad

1. डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट

डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत आने वाला 3 साल का एक डिप्लोमा लेवल का कोर्स है. जो 6 सेमेस्टर में बटा होता है. इस कोर्स में होटल एडमिनिस्ट्रेशन, अकाउंट्स, फ्रंट ऑफिस, फूड मैनेजमेंट जैसे टॉपिक पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है.

किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास अभ्यर्थी इस कोर्स को कर सकते हैं. इस कोर्स में ज्यादातर मेरिट के आधार पर एडमिशन होता है. हालांकि कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटी इस कोर्स में एडमिशन के लिए अपना एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करवाती है. AIMA UGAT, AIH MCT, WAT, BVP CET, आदि इसके कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षा है.

डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट के लिए प्रमुख कॉलेज या यूनिवर्सिटी निम्नलिखित है:

कॉलेज/ यूनिवर्सिटीस्थान
गार्डन सिटी यूनिवर्सिटीबैंगलोर
अम्रपाली इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंटहल्द्वानी
RIG इंस्टीट्यूट आफ हॉस्पिटैलिटी एंड मैनेजमेंटग्रेटर नोएडा
इंडियन होटल अकैडमीनई दिल्ली
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ हॉस्पिटैलिटी एंड मैनेजमेंटमुंबई
इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट, कैटरिंग टेक्नोलॉजी एंड अप्लाइड न्यूट्रीशनमेरठ 
Diploma in Hotel Management Colleges

2. डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन

ये एक बहुत ही अच्छा 12वीं कला के बाद डिप्लोमा कोर्स है. इसकी अवधि 1 या 2 साल होती है. इसमें आपको घर, ऑफिस, सहित अन्य जगहों पर डिजाइन बनाना सिखाया जाता है. ये उन लोगों के लिए बहुत ही उपयुक्त कोर्स है जिसको रचनात्मक (creative) काम करने में मजा आता हो.

इसमें एडमिशन के लिए आपका किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से 12वीं न्यूनतम 50% अंक के साथ पास होना अनिवार्य है. इसके अलावा कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर अपने यहां एडमिशन देती है.

डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन के लिए प्रमुख प्रवेश परीक्षा निम्नलिखित है:

  • SOFT CET
  • MET
  • BHU UET
  • NID एंट्रेंस एग्जाम

3. डिप्लोमा इन बिजनेस मैनेजमेंट

ये सिर्फ 1 साल का कोर्स ही होता है. इसमें आपको मैनेजमेंट, बिजनेस स्किल, डिजिटल मार्केटिंग, टैली जीएसटी, आदि सिखाई जाती है.

डिप्लोमा इन बिजनेस मैनेजमेंट करने के बाद आपको मैनेजमेंट में एंट्री लेवल की नौकरी मिलती है. अच्छी नौकरी पाने के लिए आप इसके बाद बीबीए (BBA) या बिजनेस मैनेजमेंट में MBA कर सकते हैं.

4. डिप्लोमा इन फाइनेंसियल एकाउंटिंग

बारहवीं कॉमर्स के बाद ये एक बहुत ही अच्छा डिप्लोमा कोर्स है. आमतौर पर ये कोर्स 6 महीने का ही होता है. इसमें भी आप पार्ट टाइम में भी ये कोर्स कर सकते हैं.

डिप्लोमा इन फाइनेंसियल एकाउंटिंग कोर्स करने के बाद आप निम्नलिखित क्षेत्र में जॉब पा सकते है: 

  • बैंक 
  • फाइनेंसियल 
  • एजेंसी 
  • स्टॉक एक्सचेंज 
  • ई-कॉमर्स 
  • एजुकेशन इंस्टीट्यूट

5. DMLT 

ये एक प्रमुख 12वीं के बाद प्रयोगशाला तकनीशियन कोर्स है. ये पैरामेडिकल कोर्स की श्रेणी में भी आता है. इसकी अवधि 2 साल होती है. इस कोर्स को सिर्फ साइंस स्ट्रीम वाले ही कर सकते हैं. 

डिप्लोमा इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी करने के बाद आपकी निम्नलिखित जॉब प्रोफाइल हो सकती हैं:

  • लैब टेक्नीशियन 
  • सीटी स्कैन टेक्निशियन
  • एनएसथीसिया टेक्नोलॉजीस्ट
  • MRI टेक्निशियन 
  • पैथोलॉजी टेक्निशियन 
  • ऑपरेशन थियेटर टेक्निशियन

6. DPT 

WHO के अनुसार हर 10,000 लोगों पर 1 फिजियोथेरेपिस्ट होना चाहिए. लेकिन एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में अभी सिर्फ 5,000 ही क्वालिफाइड फिजियोथेरेपिस्ट हैं. इसका मतलब है की अभी 95,000 से भी प्रोफेशनल की जरूरत है. 

DPT का फुल फॉर्म Diploma in Physiotherapy होता है.

ये 2 साल का एक पैरामेडिकल कोर्स है, जिसे आप 12th साइंस के बाद कर सकते हैं. इसमें एडमिशन मेरिट के और प्रवेश परीक्षा दोनों के आधार पर होता है.

डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी के लिए प्रमुख कॉलेज और उसकी फीस निम्नलिखित है:

कॉलेज/ यूनिवर्सिटीऔसत फीस (सालाना)
क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज₹ 22,000
किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी₹ 73,000
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी₹ 2,16,000
नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी₹ 1,53,000
एरा लखनऊ मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल₹ 1,45,000
माधव यूनिवर्सिटी₹ 55,000
नेशनल इंस्टीट्यूट आफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंस₹ 54,000
College for physiotherapy course

7. ADCA 

ये 12वीं के बाद बहुत अच्छा कंप्यूटर कोर्स है. इसकी अवधि 1 साल होती है. जो 2 सेमेस्टर में बटा होता है. पहले सेमेस्टर में आपको कंप्यूटर की बेसिक चीजें पढ़ाई जाती है, तो वहीं दूसरे सेमेस्टर में एडवांस लेवल की पढ़ाई होती है.

इस कोर्स की सबसे खास बात ये है कि इसकी फीस बहुत कम है. आमतौर पर इसकी फीस ₹ 3000 से ₹ 4000 तक होती है. कई सारे कंप्यूटर इंस्टिट्यूट में आप 10वीं के बाद भी ये कोर्स कर सकते हैं.

एडवांस डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (ADCA) के पाठ्यक्रम में मुख्यत: निम्नलिखित टॉपिक शामिल होते हैं:

  • कंप्यूटर फंडामेंटल्स 
  • इंटरनेट एवं ईमेल 
  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 
  • बेसिक टाइपिंग 
  • नेटवर्किंग 
  • टैली 
  • फोटोशॉप 
  • पेजमेकर
  • सी प्रोग्रामिंग, आदि.

ये भी पढ़ें > Engineer कैसे बनें? विभिन्न प्रकार के इंजिनियर बनने की प्रक्रिया एवं उनकी सैलरी

इग्नू डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद

इग्नू एक बहुत ही प्रसिद्ध ओपन यूनिवर्सिटी है. यहां से आप डिस्टेंस से सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, बैचलर तथा मास्टर डिग्री तक कर सकते हैं. यहां से डिप्लोमा कोर्स करने के लिए आपका बारहवीं पास होना अनिवार्य है.

IGNOU का फुल फॉर्म Indira Gandhi National Open University होता है.

IGNOU को हिंदी में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय कहा जाता है.

12वीं के बाद प्रमुख इग्नू डिप्लोमा कोर्स निम्नलिखित है:

  • डिप्लोमा इन पैरालीगल प्रैक्टिस 
  • डिप्लोमा इन बिजनेस प्रोसेस, आउटसोर्सिंग फाइनेंस एंड अकाउंटिंग
  • डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट 
  • डिप्लोमा इन मॉडर्न ऑफिस प्रैक्टिस
  • डिप्लोमा इन वैल्यू एजुकेशन 
  • डिप्लोमा इन पंचायत लेवल एडमिनिस्ट्रेशन एंड डेवलपमेंट 
  • डिप्लोमा इन अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन 
  • डिप्लोमा इन न्यूट्रिशन एंड हेल्थ एजुकेशन
  • डिप्लोमा इन वूमेन एंपावरमेंट एंड डेवलपमेंट 
  • डिप्लोमा इन क्रिएटिव राइटिंग इन इंग्लिश
  • डिप्लोमा इन उर्दू 
  • डिप्लोमा इन टूरिज्म स्टडीज
  • डिप्लोमा इन एचआईवी एंड फैमिली एजुकेशन 
  • डिप्लोमा इन थियेटर आर्ट्स 
  • डिप्लोमा इन फिश प्रोडक्ट्स टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन डेयरी टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन मीट टेक्नोलॉजी 
  • डिप्लोमा इन वैल्यू ऐडेड प्रोडक्ट्स फ्रॉम फ्रूट्स एंड वेजिटेबल्स 
  • डिप्लोमा इन एक्वाकल्चर

12वीं के बाद डेंटल डिप्लोमा कोर्स

MBBS के बाद दूसरा सबसे मशहूर कोर्स डेंटल कोर्स ही होता है. और इसके अलावा 12वीं के बाद डेंटल डिप्लोमा कोर्स एक ऐसा मेडिकल कोर्स है. जिसे नीट (NEET) क्लियर किए बिना भी किया जा सकता है.

12वीं के बाद दो डेंटल डिप्लोमा कोर्स है:

  1. डिप्लोमा इन डेंटल असिस्टेंट 
  2. डिप्लोमा इन डेंटल हाइजीन

इन दोनों कोर्स की अवधि 2 साल है. इसमें एडमिशन के लिए आपका 12वीं साइंस (PCB) से न्यूनतम 50% अंक के साथ किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से पास होना अनिवार्य है.

12वीं के बाद प्रमुख डेंटल डिप्लोमा कॉलेज निम्नलिखित हैं:

ये भी पढ़ें > NEET के बिना 12वीं के बाद मेडिकल कोर्स

12वीं के बाद चिकित्सा डिप्लोमा कोर्स

चिकित्सा (medical) के क्षेत्र में कई सारे डिप्लोमा कोर्स मौजूद है, जिसे आप 12वीं के बाद कर सकते हैं. इसमें से कुछ डिप्लोमा कोर्स 6 महीने से 1 साल तक का (शॉर्ट टर्म कोर्स) होता है. तो वहीं ज्यादातर डिप्लोमा कोर्स 2 साल तक का होता है.

12वीं के बाद प्रमुख चिकित्सा डिप्लोमा कोर्स निम्नलिखित है:

  • डिप्लोमा इन चाइल्ड हेल्थ 
  • डिप्लोमा इन हेल्थ इंस्पेक्टर 
  • डिप्लोमा इन डायलिसिस 
  • डिप्लोमा इन एनएसथीसिया 
  • डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी 
  • डिप्लोमा इन नर्सिंग 
  • डिप्लोमा इन रेडियोलॉजी 
  • डिप्लोमा इन न्यूट्रिशन एंड डाइटेटिक्स
  • डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन ऑडियोलॉजी एंड स्पीच थेरेपी

12वीं के बाद पशु चिकित्सा डिप्लोमा कोर्स

क्या आपको जानवरों से प्यार है और आप मेडिकल के फील्ड में अपना करियर भी बनाना चाहते हैं. तो ये दोनों चीज मुमकिन है एक पशु चिकित्सक बन कर.

पशु चिकित्सक (Veterinary doctor) जानवरों के रोग को जांच कर उसका इलाज करते हैं. आम बोलचाल की भाषा में इन्हें जानवरों का डॉक्टर भी कहां जाता है.

12वीं के बाद प्रमुख पशु चिकित्सा डिप्लोमा कोर्स निम्नलिखित है:

  • डिप्लोमा इन वेटरिनरी एंड लाइवस्टोक डेवलपमेंट असिस्टेंट
  • डिप्लोमा इन वेटरिनरी फार्मेसी

इन दोनों कोर्स की अवधि 2 साल होती है. किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास अभ्यर्थी डिप्लोमा इन वेटरिनरी एंड लाइवस्टोक डेवलपमेंट असिस्टेंट कोर्स कर सकता है. जबकि डिप्लोमा इन वेटरिनरी फार्मेसी कोर्स के लिए आपका 12वीं साइंस से न्यूनतम 50% अंक के पास होना अनिवार्य है.

12वीं के बाद प्रमुख पशु चिकित्सा डिप्लोमा कॉलेज/ यूनिवर्सिटी निम्नलिखित है:

  • NIPE, दिल्ली
  • NSMC, लखनऊ 
  • RGPI, नई दिल्ली
  • JS यूनिवर्सिटी, फैजाबाद 

उम्मीद है कि ये पोस्ट आपको उपयोगी लगा होगा. अगर डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद से जुड़ा आपका कोई प्रश्न है तो कॉमेंट में जरूर पूछें एवं इस पोस्ट को 12वीं या 12वीं पास विद्यार्थियों को शेयर करें.

डिप्लोमा कोर्स 12वीं के बाद – FAQs 

क्या 12वीं के बाद पत्रकारिता का 6 मा या 1 साल का सर्टिफिकेट या डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है?

हां, 12वीं के बाद पत्रकारिता (journalism) में सर्टिफिकेट या डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है. इन दोनों प्रोग्राम की अवधि 1 साल होती हैं.

क्या हमें ओपन से डिप्लोमा इन फिजिकल एजुकेशन कोर्स हो सकता है?

हां, आप ओपन से डिप्लोमा इन फिजिकल एजुकेशन कोर्स कर सकते हैं. कई सारे कॉलेज या यूनिवर्सिटी ये कोर्स डिस्टेंस मोड में भी करवाती है. जिसमें से नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी बहुत प्रसिद्ध है.

कम खर्च में डिप्लोमा कोर्स कॉलेज कौन-कौन सी हैं?

फीस तो सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी की ही कम होती है. इसलिए अगर आप कम खर्च में डिप्लोमा करना चाहते हैं तो गवर्नमेंट कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ये कोर्स कर सकते हैं. 

प्रमुख गवर्नमेंट डिप्लोमा कॉलेज या यूनिवर्सिटी निम्नलिखित है: 

NIFT, मुंबई 
IHM, बेंगलुरु 
MAMC, दिल्ली 
पंजाब यूनिवर्सिटी 
PDC, पटना 
पटना वूमंस कॉलेज 
गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, पुणे

ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन में डिप्लोमा कोर्स कहां से करें?

प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा कोर्स आप महाराष्ट्र इंस्टीट्यूट आफ प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी, पुणे से कर सकते हैं.

क्या आर्ट्स के बच्चे डिप्लोमा मेडिकल कोर्स कर सकते हैं?

हां आर्ट्स के स्टूडेंट डिप्लोमा मेडिकल कॉलेज कोर्स कर सकते हैं. लेकिन बहुत कम ही ऐसे डिप्लोमा मेडिकल कोर्स है जिसके लिए आर्ट्स के स्टूडेंट पात्र होते हैं.

12वीं के बाद आर्ट्स के स्टूडेंट निम्नलिखित डिप्लोमा मेडिकल कोर्स कर सकते हैं:

डिप्लोमा इन नेचरोपैथी 
डिप्लोमा इन नर्सिंग असिस्टेंट 
डिप्लोमा इन हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन
डिप्लोमा इन वेटरनरी एंड लाइवस्टोक डेवलपमेंट असिस्टेंट

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments