Blogging Kaise Kare? विद्यार्थियों के लिए ब्लॉगिंग के फायदे

ब्लॉगिंग को कई विद्यार्थियों ने अपना करियर बना लिया और वह इससे अच्छा – खासा कमा भी रहे है। ऐसे में बहुत से विद्यार्थी ये जानने के इच्छुक होंगे की Blogging Kaise Kare? ब्लॉगिंग कैसे करें को जानने से पहले ब्लॉग क्या होता है को एक उदाहरण की मदद से समझने का प्रयास करते हैं।

जब आप गूगल में कुछ सर्च करते है। तो बहुत सारे परिणाम (result) आते हैं। जैसे आप ने सर्च किया के ‘करियर कैसे चुने’ तो आपको बहुत सारे आर्टिकल नजर आएँगे। आखिर इतना सारा आर्टिकल लिखता कौन है? ये हम-आप जैसे लोग ही लिखते हैं। उस आर्टिकल को ब्लॉग पोस्ट (blogpost) कहते है, जो लिखता है उसे ब्लॉगर (blogger) कहते है और इस काम को ब्लॉगिंग (blogging) कहते है। तो फिर blogging kaise kare? आईए इस ब्लॉग पोस्ट में जानते हैं।

Blog क्या है

Blog, वेबसाइट की ही तरह होता है बस फर्क इतना होता है कि वेबसाइट को कभी-कभी अपडेट किया जाता है लेकिन ब्लॉग को रेगुलर अपडेट किया जाता है और इसमें यूजर से कमेंट के माध्यम से जुड़ भी सकते हैं।

Blogging kaise kare

इस ब्लॉग पोस्ट ‘ blogging kaise kare ‘ में आप जानेंगे ब्लॉग क्या है? विद्यार्थियों के लिए ब्लॉगिंग करने के फायदे और नुकसान,ब्लॉगिंग से जुड़े कुछ मिथक (myth) और उनका खंडन, ब्लॉगिंग की प्रक्रिया और अंत में ब्लॉगिंग से कमाने का तरीका। तो इस ब्लॉग पोस्ट को पुरा ज़रूर पढ़े।

विद्यार्थियों के लिए ब्लॉगिंग करने के फायदे

वैसे ब्लॉगिंग करने के बहुत सारे फायदे हैं जिसमें से कुछ व्यापक फायदे यहां आपको बता रहे हैं।

1. आपके अंदर लिखने की सलाहियत पैदा होगी

हुनर कभी भी बेकार नहीं जाती खासकर वह हुनर जिसकी बहुत ज्यादा मांग हो। अगर आप ब्लॉगिंग में सफल नहीं भी होते है तो आप कहीं कंटेंट राइटर के तौर पर काम कर सकते हैं।

2. आपका ज्ञान बढ़ेगा

आपको किसी भी विषय पर लिखने से पहले बहुत सारे स्रोत से उस विषय से जुड़ी जानकारी इकट्ठा करनी होगी जिससे आपके अंदर शोध (research) करने कि आदत पैदा होगी और आपका ज्ञान बढ़ेगा।

3. आपका एक डिजिटल पहचान बनेगा

अब सिर्फ ऑफलाइन पहचान बनाना ही काफी नहीं है बल्कि आपको ऑनलाइन भी पहचान बनानी होगी और ब्लॉगिंग के जरिए आप ऑनलाइन पहचान बना सकते हैं।

4. आप अपने विचार और ज्ञान बहुत से लोगों तक पहुंचा सकते हैं

ब्लॉगिंग के माध्यम से आप बहुत से लोगों से जुड़ सकते हैं, उनकी मदद कर सकते हैं, उन तक अपना ज्ञान पहुंचा सकते हैं।

5. आप ब्लॉगिंग से पैसे भी कमा सकते हैं

कई सारे तरीके हैं जिसके माध्यम से आप ब्लॉगिंग से पैसा कमा सकते है। इन तरीकों के बारे में विस्तार से आप आगे पढ़ेंगे। पहले ब्लॉगिंग सिर्फ एक हॉबी थी, फिर ये धीरे-धीरे एक करियर बना अब ये एक बिजनेस के तौर पर है। इस में आप अपने बॉस खुद होते हैं। जब ब्लॉगिंग के इतने सारे फायदे हैं तो आप जरूर जानना चाहेंगे कि blogging kaise kare? तो वो हम आपको इसी ब्लॉग पोस्ट में आगे बताएंगे। इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

ये भी पढ़े > विद्यार्थियों के लिए 10 ऑनलाइन कमाई के तरीके

विद्यार्थियों के लिए ब्लॉगिंग करने के नुकसान

वैसे ब्लॉगिंग करने के मुझे कोई नुकसान तो नहीं नजर आता लेकिन जिस तरह किसी भी चीज की ज्यादती बुरी होती हैं ठीक वहीं नियम यहां भी लागू होता है।

1. पढ़ाई पर प्रभाव : इससे बचने के लिए आप एक टाइम टेबल बना ले और रोज थोड़ा-थोड़ा समय ही ब्लॉगिंग को दें जैसे पूरे दिन में से सिर्फ 02 घंटे।

2. बहुत ज्यादा पैसा खर्च करना : आप अगर शुरुआत कर रहे है तो पैसा खर्च करने की कोई जरूरत नहीं है आप फ्री प्लेटफॉर्म जैसे blogger से शुरुआत कर सकते हैं।

ब्लॉगिंग से जुड़े कुछ मिथक (myth) और उनका खंडन

1. ब्लॉगिंग एक फ्रॉड है

ब्लॉगिंग कोई नई चीज नहीं है। यह 1994 से अभी तक जारी है यानी 26 साल से। भारत के भी बहुत सारे मशहूर ब्लॉगर हैं जैसे अमित अग्रवाल, हर्ष अग्रवाल, उमेर कुरैशी (16 साल), आदि आप उनके बारे में पढ़ सकते हैं।

2. मेरे पास लैपटॉप या कम्प्यूटर तो नहीं है, मै ब्लॉगिंग नही कर सकता

आप मोबाइल से भी ब्लॉगिंग कर सकते है। शुरुआत में सेट-अप करने के लिए लैपटॉप की जरूरत पड़ सकती है तो आप या तो अपने दोस्त से मांग सकते हैं या साइबर कैफ़े में सेट-अप कर सकते हैं।

3. ब्लॉगिंग के लिए बहुत ज्यादा टेक्निकल जानकारी चाहिए

थोड़ी सी जानकारी भी शुरुआत करने के लिए काफी है। आप धीरे-धीरे सीखते जाए बहुत सारे यूट्यूब वीडियो और आर्टिकल मौजूद हैं आप वहां से आसानी से सीख सकते हैं।

4. अब तो ज्यादातर लोग वीडियो की तरफ जाते है तो ब्लॉगिंग करने से क्या फायदा

चाहे कितने भी वीडियो आ जाए लिखने और पढ़ने का सिलसिला कभी खत्म नहीं होगा। दूसरी बात यूट्यूब पर आपको ब्लॉग-पोस्ट जितनी क्वालिटी नहीं मिलेगी। कभी-कभी थंबनेल (फोटो) पर कुछ लिखा होता है और वीडियो में कुछ और होता है।

ये भी पढ़े > विद्यार्थी के लिए 07 ऑफलाइन कमाई के तरीके

Blogging kaise kare? ब्लॉगिंग की प्रक्रिया

1. ब्लॉग के लिए भाषा चुने

आप की जिस भाषा में पकड़ अच्छी हो, आप ब्लॉगिंग के लिए वही भाषा चुने क्युकी ब्लॉगिंग में आपको बहुत सारे ब्लॉग पोस्ट लिखने होंगे। तो आप जुगाड़ पर ज्यादा दिन तक नहीं चल सकते।

अभी भारत में हिन्दी का ट्रेंड बहुत तेजी से चल रहा है और भविष्य में यह और बढ़ने की संभावना है। ऐसे में अगर आप हिन्दी में ब्लॉगिंग करने का सोच रहे है तो ये भी अच्छा विचार है।

इसके अलावा आप उर्दू में भी ब्लॉगिंग कर सकते हैं। गूगल AdSense भी अब उर्दू ब्लॉग को अप्रूवल देने लगा है। यानी आप उर्दू ब्लॉग से भी पैसा कमा सकते हैं।

2. ब्लॉग के लिए niche (विषय) चुने

आप उसी niche (विषय) पर लिखें जिसकी आपको पहले से कुछ जानकारी और उस विषय में रुचि हो। तो आप ज्यादा अच्छे से और लंबे समय तक ब्लॉगिंग कर पाएंगे। जैसे माना आपको भूगोल की बहुत ही अच्छी जानकारी है और उसमें रूचि भी हैं तो आप भूगोल के विभिन्न अध्याय को आसान भाषा लिख सकते है ताकि दूसरे भी उसे आसानी से समझ सकें।

ब्लॉगिंग में मुख्यत: दो तरह के niche  होते हैं।

1. Macro Niche : बहुत बड़ा niche (विषय) जिसके अंतर्गत कई छोटे-छोटे niche (विषय) आते हों। जैसे शिक्षा, टेक्नोलॉजी आदि। जो ब्लॉगिंग शुरू कर रहें हैं उनके लिए macro niche में रैंक करना बहुत मुश्किल होता है।

2 . Micro Niche : ये macro niche का ही एक भाग होता हैं जैसे आप पुरे शिक्षा पर ना लिख कर सिर्फ उसके एक भाग करियर पर ही लिखे। इसमें macro niche कि तुलना में कंपटीशन कम होता है। इसलिए ये नए ब्लॉगर के लिए उपयुक्त है।

3. ब्लॉग के लिए प्लेटफार्म चुने।

वैसे ब्लॉगिंग करने के लिए कई प्लेटफार्म हैं जैसे

  • WordPress
  • Blogger
  • Medium
  • Tumblr
  • Wix, आदि

अगर आप सोच रहे है कि blog kaise banaye? तो आप इनमें से किसी भी प्लेटफॉर्म पर ब्लॉग बना सकते हैं। लेकिन इनमें से सबसे अच्छा प्लेटफॉर्म WordPress को माना जाता है क्युकी यहां बहुत सारे Plugins मौजूद है जो ब्लॉगिंग को बहुत ही आसान बनाते है। अगर आप मुफ्त में ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो आपके लिए Blogger सबसे अच्छा रहेगा।

4. ब्लॉग के लिए डोमेन चुने

अगर आप Blogger पर ब्लॉग बना रहे है तो मुफ्त में ब्लॉग बना सकते हैं लेकिन मुफ्त के ब्लॉग को उतना अच्छा नहीं माना जाता है और इसका यूआरएल भी बहुत लंबा होता है। जैसे आप अपने ब्लॉग का नाम abcd रखना चाहते हैं तो मुफ्त वाले ब्लॉग में इसका यूआरएल abcd.blogspot.com होगा वहीं अगर आप अपना डोमेन खरीदते है तो आपके ब्लॉग का यूआरएल abcd.com होगा।

Domain Search _ blogging Kaise kare

अगर आप domain (डोमेन) खरीदना चाहते है तो Namesilo से खरीद सकते हैं। ये सबसे सस्ते और अच्छे डोमेन रजिस्ट्रार में से एक है। इस लिंक से डोमेन खरीदें और छूट पाने के लिए कूपन कोड में studenthalt इस्तेमाल करे।

अगर आप WordPress पर ब्लॉग बना रहे हैं तो आपको  डोमेन और hosting (होस्टिंग) दोनों खरीदनी होगी। होस्टिंग आप hostinger से खरीद सकते है ये नए ब्लॉगर के लिए बहुत ही कम दामों में होस्टिंग प्रोवाइड करती हैं।

ब्लॉग बनाने के बाद उस पर नियमित रूप से पोस्ट करें, कुछ SEO (Search Engine Optimization) करें और धीरे – धीरे सीखते रहें और बढ़ते रहें। शुरू-शुरू में मुश्किल थी, लोगों को ब्लॉगिंग के बारे में ज्यादा पता नहीं था लेकिन अब आप अगर गूगल में सर्च करेंगे की blogging kaise kare? तो आपको ढेरों आर्टिकल और वीडियो मिल जाएंगे।

ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के तरीके

अब तक आप जान गए होंगे कि blogging kaise kare? तो अब आप जानेंगे कि blogging se paise kaise kamaye? आप ब्लॉगिंग से पैसे भी कमा सकते हैं। वैसे ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के बहुत सारे तरीके हैं। इनमें से कुछ मशहूर तरीके आपको यहां बता रहे हैं। इनमें से आप चाहे जिस भी तरीके को अपनाएं लेकिन एक बात याद रखें कि ये कोई रातों रात अमीर होने वाली स्कीम नहीं है। यहां आपको मेहनत करनी होगी और धैर्य रखना होगा।

1. ब्लॉग पर प्रचार (ads) दिखाकर

ये नए ब्लॉगर के लिए सबसे आसान और उपयुक्त कमाई का तरीक़ा हैं। वैसे कई सारे एड नेटवर्क है जिस के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं लेकिन नए ब्लॉगर के लिए गूगल का AdSense सबसे अच्छा माना जाता है।

2. Affiliate marketing करके

ये ब्लॉगरों का सबसे लोकप्रिय कमाई का तरीक़ा है। इसमें आप किसी प्रोडक्ट या सर्विस के एफिलिएट प्रोग्राम से जुड़कर उनके प्रोडक्ट या सर्विस को प्रमोट करते हैं और आपके लींक से जो भी खरीदता है तो आप को कमीशन मिलता है।

3. Sponsored post लिख कर

इसके जरिए आप तब कमाई कर सकते है जब आप का ब्लॉग कुछ फेमस हो गया हो और अच्छी खासी ट्रैफिक आती हो। इसमें आपके niche से जुड़े हुई कंपनियां या कोई और आपके ब्लॉग पर पोस्ट डालती है या आपको खुद उसके प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में लिखने को बोलती हैं और बदले में अच्छा खासा पैसा देते हैं।

4. आप अपना कोई प्रोडक्ट या सर्विस बेचकर

ब्लॉगिंग के माध्यम से आपकी बहुत लोगों तक पहुंच हो जाती हैं। अगर आपके पास कोई प्रॉडक्ट या सर्विस हैं जैसे कोई आपकी लिखी हुई किताब हो, आपके द्वारा बनाया गया कोई कोर्स हो आदि तो आप इसे ब्लॉगिंग के माध्यम से बेच सकते हैं।

5. ब्लॉग को बेचकर

अगर आप ब्लॉगिंग को छोड़कर कोई दूसरा काम शुरू करना चाहते या आपको पैसे की बहुत ही ज्यादा जरूरत है तो आप अपने ब्लॉग को बेच सकते हैं। अगर आपका ब्लॉग कुछ फेमस हो और अच्छी खासी ट्रैफिक आती हो। तो अच्छे दामों में बिकेगी।

Blogging Kaise Kare – निष्कर्ष

अगर आप विद्यार्थी है तो आप पहले अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें। अच्छे से मन लगाकर पढ़े। खाली समय में आप ब्लॉगिंग कर सकते हैं। blogging kaise shuru kare ? ये हम ऊपर बता चुके हैं। ब्लॉगिंग से आपके अंदर शोध करने की आदत और लिखने की सलाहियत पैदा होगी। ब्लॉगिंग करना ज्यादा मुश्किल नहीं है। आप ब्लॉगिंग से जुड़ी यूट्यूब वीडियो देखकर और ब्लॉग पोस्ट पढ़ कर धीरे-धीरे आसानी से सीख सकते हैं।

ये आपको भी पता है कि बेरोजगारी धीरे-धीरे बढ़ती ही जा रही है और भविष्य में और बढ़ने की संभावना है। ऐसे में अगर आपका ब्लॉग कामयाब हो गया तो आप यहां से कमाई कर सकते है और इसे अपना करियर बना सकते हैं। एक ऐसा करियर जिसमें आप अपने बॉस खुद हो।

उम्मीद है कि आपको ये ब्लॉग पोस्ट ‘ blogging kaise kare? ‘ पसंद आयी होगी अगर आपके इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल है तो कॉमेंट मे जरूर पूछें। इस ब्लॉग पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें ताकि सभी लोग ब्लॉगिंग के बारे में जान पाएं।

Blogging Kaise Kare – FAQs

मैं अपने ब्लॉग पर खेती किसानी के बारे में जानकारी लेना चाहता हूं क्या मेरा ब्लॉक सही है?

हां, ब्लॉगिंग के लिए ये एक बहुत ही अच्छा विषय (niche) है. अगर आप पूरी खेती को कवर नहीं कर सकते है तो इसके किसी एक हिस्से के ऊपर ब्लॉग बना सकते है. जैसे जैविक खेती (organic farming), मसाले की खेती, आदि.

इसमें भी कमाई के बहुत सारे विकल्प है जैसे एफिलिएट मार्केटिंग, प्रचार, इबुक, कोर्स, वर्कशॉप, आदि.

क्या multiple Blogging के लिए एक ही domain name chalega या हर एक blog के लिए अलग domain name लेना पड़ेगा?

आप एक ही डोमेन नेम से कैटेगरी बनाकर या सबडोमैन के जरिए मल्टीपल ब्लॉगिंग कर सकते है. लेकिन प्रत्येक ब्लॉग के लिए अलग-अलग डोमेन नेम लेना ज्यादा बेहतर माना जाता है. क्योंकि ऐसा करने से आप और आपके यूजर कन्फ्यूज नहीं होते है.

क्या कविताओं व कहानियों के लिये ब्लॉग बनाना सही है?

हां सही है, लेकिन इसमें सर्च इंजन से ट्रैफिक लाना थोड़ा मुश्किल है. इसमें सोशल मीडिया से ट्रैफिक लाने पर ज्यादा ध्यान देना होगा. आपका अगर कोई किताब या कोर्स है तो उसको आप अपने ब्लॉग के जरिए प्रमोट और बेच सकते है.

कौन सा साइटमैप ब्लॉगर ब्लॉग में उपयोग करना ठीक है Atom या XML Sitemap?

ब्लॉगर ब्लॉग हो या वर्डप्रेस ब्लॉग दोनो ही के लिए XML Sitemap सबसे अच्छा है. इसमें आपके सभी पेज का लिस्ट होता है. जिससे गूगल, बिंग और अन्य सर्च इंजन के क्रॉलर को आपके ब्लॉग के पेज को इंडेक्स करना आसान होता है.

क्या गूगल क्वेश्चन हब के प्रश्नों के उत्तर के लिए एक ब्लॉग बनाया जा सकता है?

ब्लॉगर ब्लॉग हो या वर्डप्रेस ब्लॉग दोनो ही के लिए XML Sitemap सबसे अच्छा है. इसमें आपके सभी पेज का लिस्ट होता है. जिससे गूगल, बिंग और अन्य सर्च इंजन के क्रॉलर को आपके ब्लॉग के पेज को इंडेक्स करना आसान होता है.

क्या गूगल क्वेश्चन हब के प्रश्नों के उत्तर के लिए एक ब्लॉग बनाया जा सकता है?

मेरे हिसाब से सिर्फ गूगल क्वेश्चन हब के प्रश्नों के उत्तर के लिए ब्लॉग बनाना उतना फायदेमंद नहीं होगा, क्योंकि उनके सर्च वॉल्यूम न के बराबर होता है. हालांकि आप अपने पोस्ट में इनके प्रश्नों को शामिल करके उसका उत्तर दे सकते है.

DA कैसे पता करें ब्लॉग का?

ये DA, Moz के द्वारा दिया गया एक मैट्रिक्स है. आप Moz के Free Domain SEO Analysis Tool के जरिए अपने ब्लॉग का DA पता कर सकते है.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Tablet Giri
15 days ago

Great Piece of Content.

harsh
7 months ago

thank you so much bhai

harsh
7 months ago

thank you so much