2024 के बोर्ड परीक्षा की कॉपी में लिखने का सही तरीका एवं टिप्स

सभी विद्यार्थियों के लिए बोर्ड यानी 10वीं और 12वीं की परीक्षा बहुत महत्वपूर्ण होती है. मुख्यता इसी में लाए गए अंक के आधार पर उनका किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन होता है. इसलिए इसको लेकर छात्र चिंतित भी बहुत रहते हैं. तो ज्यादा चिंता ना करें और इस पोस्ट में दिए गए बोर्ड परीक्षा की कॉपी में लिखने का तरीका अपनाएं और अच्छा नंबर पाएं.

बहुत से छात्र इस खुशफहमी में रहते हैं कि हमारी बोर्ड एग्जाम की तैयारी तो अच्छी है तो फिर इस बारे में इतना सोचने की क्या जरूरत है, जो आएगा परीक्षा में लिख देंगे. तो ये सोच गलत है. क्योंकि किसी भी चीज का ज्ञान होना अलग बात है तथा उसे दूसरों के सामने पेश करना अलग बात है. यह एक कला है जिसे आपको इस एग्जाम से पहले मास्टर करने की जरूरत है.

इस पोस्ट में लोग 10वीं और 12वीं की परीक्षा में अच्छे से उत्तर लिखने का 8 प्रमुख तरीका एवं कुछ महत्वपूर्ण टिप्स जानेंगे, एवं अंत में इससे संबंधित कुछ सवाल व उनके जवाब (FAQs) भी देखेंगे. तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें.

नीचे बताएं गए तरीके से अगर आप बोर्ड परीक्षा में कॉपी लिखते हैं तो जरूर आप इसमें अच्छे नंबर ला पाएंगे.

Students in exam hall
Image Source: Shiksha.com

1. सबसे पहले दिशा निर्देश पढ़ें

परीक्षा भवन (exam hall) में बैठने के बाद छात्रों को प्रश्न देखने की इतनी उत्सुकता रहती है कि वे प्रश्न पत्र के पहले पन्ने में दिए गए दिशा निर्देश (instructions) को या तो नजर अंदाज कर देते हैं हड़बड़ी में सिर्फ एक नजर डाल लेते हैं.

ऐसा नहीं करना चाहिए. बल्कि सबसे पहले दिशा निर्देश को अच्छे से पढ़ कर उसे समझना चाहिए, फिर उसी अनुसार अपना उत्तर लिखना चाहिए.

प्रश्न पत्र के पहले पन्ने पर दिए गए इस दिशा निर्देश में विभिन्न अंक के प्रश्न के उत्तर के लिए आवश्यक शब्द सीमा (word limit), उत्तर के प्रकार (format) का विवरण एवं प्रश्न की कुल संख्या, आदि जैसी महत्वपूर्ण जानकारी दी रहती है.

2. प्रश्न को अच्छी तरह समझें

क्या आपको पता है की परीक्षा शुरू होने से 15 मिनट पहले ही प्रश्न पत्र (question paper) क्यों दे दिया जाता है? सिंपल. तब तक इसे पढ़ कर समझने के लिए.

अरबी में एक कहावत है जिसका हिंदी अर्थ ये है कि, “प्रश्न को अच्छे से समझना ही आधा उत्तर है” और यह सही भी है. अगर आप प्रश्न को अच्छे से समझ जाते हैं तो उस बारे में अगर आप थोड़ा-बहुत भी कुछ जानते होंगे तो वह आपके जहन में आ जाएगा.

Question Paper of Mathematics
Question Paper of Mathematics

सभी प्रश्न को पढ़ कर इसे इस तरह से इन तीन श्रेणीयों (categories) में बांट दें:

  • ये आपको पूरी तरह आता है.
  • यह आपको थोड़ा बहुत आता है.
  • इसका उत्तर आपको बिल्कुल भी नहीं पता है.

फिर इसे इसी श्रेणी के अनुसार हल करें. इससे आप कम समय में भी अच्छा उत्तर लिखकर बेहतर अंक ला सकते हैं.

3. जरूरी जानकारी सही-सही भरें

जब आपके हाथ में उत्तर पत्रिका (Answer Sheet) आती है तो उसमें सबसे ऊपर जरूरी जानकारी भरने का विकल्प रहता है. तो यह आपको सबसे पहले भरना चाहिए.

इसमें जो भी जानकारी मांगा जाता है, जैसे रोल नंबर, रोल कोड, पेपर कोड, विषय का नाम, आदि. यह सब साफ-साफ और सही-सही भरें.

OMR Sheet
OMR Sheet

इसमें से भी आपका सबसे ज्यादा ध्यान ओएमआर शीट पर गोला भरते समय देना चाहिए. हम ऐसे कई लोगों को जानते हैं जिसका सही से गोला ना भरने के कारण उसका रिजल्ट पेंडिंग में चला गया था. इसलिए गोला को सावधानी पूर्वक पूरा भरें.

4. जिस प्रश्न का उत्तर अच्छे से आए उसे सबसे पहले लिखें

अंग्रेजी में कहावत है, “First impression is the last impression” यह यहां भी लागू होता है. अगर आप कॉपी के शुरू में ही अच्छा उत्तर लिखें रहेंगे तो इससे कॉपी चेक करने वाले का आपके प्रति सकारात्मक भावना पैदा होगा जिसका आपको आगे भी फायदा हो सकता है.

इसका दूसरा फायदा यह है कि शुरू में ही अच्छा उत्तर लिखने से आपके अंदर एक आत्मविश्वास (confidence) पैदा होता है, जो आगे भी अच्छा उत्तर लिखने के लिए आपको मोटिवेट करता है.

इसकी मिसाल ठीक इसी तरह से है कि जब आप सुबह में ही कोई अच्छा काम जैसे व्यायाम, पढ़ाई, आदि कर लेते हैं तो फिर आपका पूरा दिन भी अच्छा जाता है.

जो उत्तर आपको अच्छे से आता है, उसे पहले लिखने का तीसरा बड़ा फायदा यह है कि उत्तर को लिखते समय आपको बाकी अन्य प्रश्न के उत्तर भी दिमाग में आते रहेंगे, जो आपको आगे के प्रश्न को हल करने में आपकी सहायता करेंगे.

यह सब तो अच्छे से पता प्रश्न के उत्तर को प्राथमिकता देने के फायदे हो गए. आईए अब एक अच्छा उत्तर लिखने के लिए जरूरी कुछ टिप्स जान लेते है.

एक अच्छा उत्तर लिखने के लिए कुछ टिप्स

  • कोई भी उत्तर लिखने से पहले उनका एक ढांचा (structure) अपने दिमाग में बना लें.
  • साफ-साफ लिखें.
  • गलती होने पर सिर्फ एक बार कट का निशान लगा दें. बस. उसे घिसें नहीं.
  • जहां जरूरत हो वहां चित्र, डायग्राम, चार्ट, ग्राफ, आदि भी बनाए. चित्र के मामले में उसका नामकरण भी करें.
  • आंसर शीट में फालतू चीज (जैसे शायरी, अपना दुखरा, आदि) ना लिखें. इसका नकारात्मक असर पड़ता है.
  • कुछ महत्वपूर्ण शब्द को अंडरलाइन कर दें, जिससे कॉपी जांचने वाले का ध्यान उस पर पहले जाए.
  • उत्तर लिखते समय वर्तनी (spelling) और व्याकरण की गलती से बचें.
  • प्रश्न न उतारें, बल्कि सिर्फ प्रश्न संख्या लिखकर उसके नीचे से उत्तर लिखना शुरू कर दें.
  • प्रश्न के अंक के हिसाब से उत्तर की लंबाई रखें, अगर आप दो अंक के प्रश्न के जवाब में पूरा एक पेज भी भर देंगे फिर भी दो नंबर से ज्यादा मिलने वाला नहीं है. बल्कि इससे और आपका टाइम ही बर्बाद होगा.
  • एक उत्तर लिखने के बाद दूसरा उत्तर कम से कम दो लाइन (gap) छोड़कर लिखना शुरू करें. ऐसा न करने से एग्जामिनर आपके दो-तीन उत्तर को एक ही उत्तर समझकर उसी हिसाब से नंबर दे सकते है.
  • उत्तर के बीच में रफ (rough) न करें, बल्कि ये आखिरी पन्ने पर करें.
  • अगर आप पॉइंट्स में उत्तर लिख रहे है, तो महत्वपूर्ण पॉइंट्स को पहले लिखें.
  • गणित के पेपर में उत्तर को बॉक्स में लिखें, क्योंकि इस पेपर में कॉपी चेक करने वाला कई बार पहले उत्तर ही ढूंढता है. उसके बाद प्रक्रिया देखता है.
  • टू द पॉइंट आंसर लिखे, बात को ज्यादा घुमाएं नहीं.
  • दूसरों का नकल या चीटिंग ना करें, पकड़े जाने पर आपको विभिन्न मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. इसके बदले अपने ज्ञान और काबिलियत पर भरोसा करके लिखना शुरू करें.

अगर आपके मन में इसके अलावा भी कोई टिप्स है जो 10वीं या 12वीं के परीक्षार्थी के लिए उपयोगी हो सकता है तो कमेंट में जरूर शेयर करें ताकि दूसरों का भी भला हो सके.

अगर वो टिप्स अच्छा रहा तो उसे आपके नाम के साथ इस पोस्ट में पब्लिश भी किया जा सकता है.

5. सभी प्रश्न को हल करें

JEE Mains या NEET की तरह बोर्ड परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग की व्यवस्था नहीं होती है. इसका फायदा हमें उठाना चाहिए. उत्तर गलत भी हो जाए तो कौन सा अपना कुछ जाता है, वैसे भी प्रश्न को छोड़ने पर कोई नंबर तो मिलने वाला है नहीं.

इसके बरअक्स अगर आप किसी भी प्रश्न का पूरा सही उत्तर नहीं भी लिखते हैं, फिर भी आपको कुछ ना कुछ नंबर मिलने की संभावना रहती है. इसलिए अपने ज्ञान और दिमाग का भरपूर इस्तेमाल करके बोर्ड परीक्षा में जो प्रश्न ना भी आता है उसका भी उत्तर लिखकर आए.

6. समय का भी ख्याल रखें

समय प्रबंधन एक महत्वपूर्ण कला है जिसे आपको मास्टर करना चाहिए, क्योंकि आपको पूरी जिंदगी ये बहुत काम आएगी. फिलहाल बोर्ड परीक्षा की बात करें तो इसमें भी ये बहुत कम आने वाली है.

इसमें सबसे बड़ी गलती परीक्षार्थी ये करते हैं कि उनको जिस प्रश्न का उत्तर अच्छे से आता है उसको जरूरत से ज्यादा खींच देते हैं. भाई ऐसा नहीं करें. आप चाहे जितना भी लंबा उसका उत्तर लिखिए परीक्षक जितने अंक का प्रश्न है उससे ज्यादा आपको नहीं देगा. बल्कि कई बार इसका उलटा पड़ जाता है, फालतू खींचने से आपका अंक कट जाता है.

इसलिए जितने अंक का प्रश्न है उसको उसी हिसाब से लिखें. फिर भी अगर आखिरी में प्रश्न ज्यादा और समय कम रह जाए तो बाकी प्रश्न का पूरा उत्तर लिखने के बजाय चार्ट या लिस्ट बनाकर सिर्फ मुख्य बिंदु ही लिख दें. इससे भी आपको जरूर कुछ ना कुछ नंबर मिल ही जाएगा.

Alarm clock at study table
Alarm clock at study table

अगर आप चाहते हैं कि आपका 3 घंटे के अंदर ही पूरा प्रश्न हल हो जाए तो इसके लिए आपको पहले ही खूब प्रैक्टिस करनी होगी. इसकी प्रैक्टिस के लिए आप घर पर ही टाइमर लगाकर सैंपल पेपर हल करें और कोचिंग के टेस्ट तथा स्कूल के प्री बोर्ड परीक्षा में समय के अंदर ही सभी प्रश्न के उत्तर लिखने का प्रयास करें.

7. पेपर जमा करने से पहले एक बार उसे पूरा देख लें

3 घंटे का तो पेपर होता है, परंतु आपको कोशिश करनी चाहिए कि इससे 15-20 मिनट पहले ही पूरा उत्तर लिख लें ताकि आपको उस लिखे हुए उत्तर को रिवाइज करने का भी कुछ समय मिल जाए.

कई बार परीक्षार्थी जल्दबाजी में रोल नंबर जैसी जरूरी जानकारी लिखना ही भूल जाते हैं, कुछ उत्तर में कहीं गलती रह जाती है, तो वहीं कभी-कभी कुछ प्रश्न भी छूट जाता है.

प्रश्न छुटने जैसी समस्या से बचने के लिए आप जो भी प्रश्न हल कर लिए है उस पर पेंसिल से टिक मार दें या घेरा लगा दें. इससे आपको याद रहेगा कि आपने कितना प्रश्न कर लिया है और कितना अभी बाकी है.

आंसर शीट को रिवाइज करते समय सबसे पहले शुरू में मांगी गई जरूरी जानकारी (जैसे रोल नंबर) को देखना चाहिए, फिर उत्तर को और अंत में बाकी बचे हुए प्रश्न की तरफ देखना चाहिए.

एग्जाम हॉल में जाकर प्रश्न पत्र मिलने पर सबसे पहले उसके शुरू में दिए गए दिशा निर्देश को पढ़ें, फिर सभी प्रश्न को समझने का प्रयास करें. क्योंकि अगर आप प्रश्न को अच्छे से समझ जाएंगे तो आपके लिए उत्तर लिखना बहुत आसान हो जाएगा.

उत्तर पत्रिका मिलने पर सबसे पहले उसके पहले पन्ने पर मांगी गई सभी जरूरी जानकारी (जैसे पेपर कोड) को सही-सही भरें और उसके बाद जिस प्रश्न का उत्तर अच्छी तरह से मालूम हो उसको पहले हल करें.

उत्तर लिखने से पहले उनका एक ढांचा (outline) अपने दिमाग में बना लें, फिर संयम से साफ-साफ शब्दों में उत्तर लिखना शुरू करें. इस दौरान जहां कहीं भी जरूरत हो वहां चित्र, डायग्राम, आदि भी अवश्य बनाएं.

उत्तर लिखते समय, समय का भी ध्यान रखें एवं कोशिश करें कि 3 घंटे से कुछ पहले ही सभी प्रश्न हल हो जाए. अंत में पेपर जमा करने से पहले उसे रिवाज कर लें और अगर कहीं गलती मिलती है तो उसे सुधार लें.

बोर्ड परीक्षा की कॉपी कैसे चेक होती है?

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) एवं सीबीएसई सहित सभी बोर्ड कॉपी चेक करने के लिए योग्य टीचर को चयनित करते हैं.

इन शिक्षकों को बोर्ड की तरफ से ही कॉपी चेक करने से संबंधित दिशा निर्देश तथा मार्किंग स्कीम दी जाती है, जिसके आधार पर ही ये काफी चेक करके नंबर देते हैं.

गौरतलब रहे की बहुत अधिक कॉपी होने के कारण ये शिक्षक बहुत जल्दी-जल्दी चेक करते हैं. इसलिए अगर आप उत्तर में महत्वपूर्ण शब्दों को अंडरलाइन कर देंगे और चित्र, डायग्राम वगैरह भी बना देंगे. तो उसपर उसकी नजर जाएगी और आपको अच्छा नंबर मिल सकता है.

बोर्ड एग्जाम में कौन सा कलम इस्तेमाल करना चाहिए?

बोर्ड एग्जाम में सिर्फ नीला और काला कलम इस्तेमाल करना चाहिए. इसके अलावा डायग्राम, चित्र, ग्राफ, आदि पेंसिल से बनाना चाहिए.

बोर्ड परीक्षा में कुछ ना आए तो क्या करें?

सभी प्रश्न को अच्छे से पढ़ें और समझें. उससे संबंधित कुछ न कुछ आपके दिमाग में जरूर आएगा.

अगर फिर भी कुछ समझ में ना आए तो उस टॉपिक से संबंधित जो भी सही लगे वह लिख दें और महत्वपूर्ण बिंदु को अंडरलाइन कर दें.

टॉपर परीक्षा में कॉपी कैसे लिखते हैं?

टॉपर परीक्षा में साफ-साफ और टू द पॉइंट उत्तर लिखते हैं. जरूरत पड़ने पर चित्र, डायग्राम आदि भी बनाते हैं. प्रश्न के अंक के हिसाब से उत्तर की लंबाई रखते हैं एवं सभी प्रश्न को हल करने का प्रयास करते हैं.

बाकी इसकी विस्तृत जानकारी आपको इस पोस्ट में दी ही गई है.

उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा. अगर इससे संबंधित आपका कोई प्रश्न या सुझाव है तो कॉमेंट में जरूर बताएं एवं इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
This Blog is Hosted on Cloudways