Engineer Kaise Bane? इंजीनियर बनने की प्रक्रिया, प्रकार और सैलरी

दोस्तो स्वागत है आपका हमारे आज के न्यू पोस्ट में अगर आपका सपना है, इंजीनियर बनना तो आज आप सही पोस्ट पर आए हो. क्या आप जानना चाहते हो Engineer Kaise Bane? अगर हां तो लास्ट तक इसे जरूर पढ़े. 

12वीं पास करने के बाद छात्रों को सबसे ज्यादा चिंता रहती है की क्या करे तो कुछ छात्र बैंक मैनेजर बनते है तो कुछ पुलिस ऑफिसर बनते है लेकिन अगर आप इंजीनियर बनना चाहते हो लेकिन आपको यह नहीं पता की कौन सा इंजीनियर बने तो आप हमारे साथ बने रहे यहाँ पर आपको Engineer Kaise Bane? इसके साथ में Engineer Kitne Prakar Ke Hote? इसके बारे में बताऊंगा तो आइए आपका समय न लेते हुए पढ़ना शुरू करते है.

Engineer Kaise Bane?

80% छात्रों का मकसद होता है पढ़ाई करके एक अच्छी जॉब पाने का और साथ में बढ़ी कंपनी के साथ काम करने का लेकिन अगर आप महनत से पढ़ाई करते हो, तो आप अपने सपने को जरूर पूरा कर सकते हो. 

लेकिन दोस्तों इंजीनियर बनने के लिए सिर्फ मेहनत नहीं उसके साथ में आपको सही जानकारी भी होनी जरूरी है. 

आपको सही जानकारी होगी तो आप इंजीनियर आसानी से बन सकोगे. तो आइए जानते है इंजिनियर कैसे बनें? इंजीनियर बनने के लिए क्या पढ़ना पड़ेगा. और सबसे बड़ी बात इंजिनियर कितने प्रकार के होते हैं? तो सबसे पहले हम इंजिनियर के प्रकार (types of engineer) जान लेते हैं.

इंजिनियर कितने प्रकार के होते हैं?

इंजीनियर की बहुत सारी फील्ड होती हैं सभी फील्ड में अलग-अलग प्रकार के इंजीनियर होते हैं. 

Top 6 Engineer Types In India

  1. Civil Engineer 
  2. Marine Engineer
  3. Railway Engineer 
  4. Software Engineer
  5. Electrical Engineer 
  6. Chemical Engineer 

यह जितने भी इंजीनियर के नाम मैंने आपको बताए है यह सब टॉप लिस्ट में आते हैं आइए हम सभी के बारे में थोड़ी – थोड़ी जानकारी प्राप्त करते हैं. जैसे विभिन्न प्रकार के इंजीनियर कैसे बनते हैं? Engineer Ka Kya Kaam Hota Hai?  Engineer Ki Salary Kitni Hoti Hai? इन सभी पर इस पोस्ट में अब हम चर्चा करेंगे.

Civil Engineer Kaise Bane?

सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपके पास दो रास्ते हैं. सबसे पहले अगर आप 10वीं के बाद सिविल इंजीनियर बनना चाहते हो तो आप पॉलिटेक्निक करके सिविल इंजीनियर बन सकते हो. 

पॉलिटेक्निक यह 3 साल का डिप्लोमा कोर्स होता है यह डिप्लोमा कोर्स होने के बाद आप जूनियर सिविल इंजीनियर बन जाते हो.

दूसरा तरीका यह है कि आपको सबसे पहले 12वीं साइंस (PCM) साइड से फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ, के साथ कक्षा को पास करना होगा उसके बाद IIT या टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला के लिए जेईई मेन (JEE Main) एग्जाम पास करना होगा.

JEE Main एग्जाम पास करने के बाद आपको BE या बीटेक में एडमिशन मिलेगा. BE या B.TECH में एडमिशन मिलने के बाद सिविल इंजीनियर का डिग्री कोर्स कर सकते हो डिग्री कोर्स करने के बाद आप एक सीनियर सिविल इंजीनियर बन जाते हो.

Civil Engineer Ka Kya Kaam Hota Hai?

सिविल इंजीनियर प्राकृतिक रूप से वस्तुओं के निर्माण का डिजाइन बनाने का काम करते है. जैसे कि कोई बिल्डिंग, घर, होटल, पुल, डैम, बांध, नहर, आदि बनाते है जब यह घर, होटल, पुल, डैम, बांध, नहर, आदि बनाते हैं तो इसमें सबसे ज्यादा अहम रोल सिविल इंजीनियर का रहता है. 

खाली प्लाट पर घर या बंगला बनाया जाता है तो सबसे पहले सिविल इंजीनियर रिसर्च करते हैं और वही एक डिजाइन तैयार करता हैं कि कौन सा कमरा कहां बनाना है कहांं पर किचन बनाना है कहां पर टॉयलेट और बाथरूम बनाना है और कहां पर बैडरूम बनाना है.

Civil Engineer Ki Salary Kitni Hai?

सिविल इंजीनियर की प्राइवेट सेक्टर में शुरुआत की सैलरी ₹ 25,000 से 30,000 होती है. लेकिन सिविल इंजीनियर का 3 से 4 साल का अनुभव होने के बाद एक लाख तक सैलरी होती है.

Marine Engineer Kaise Bane?

मरीन इंजीनियर का काम हमेशा खतरों भरा रहता है. मरीन इंजीनियर बनने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं कक्षा साइंस साइड के साथ पास करना होगा. साइंस साइड में आपको फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथ, के साथ-साथ बारहवीं कक्षा को पास करना है. 

12वीं कक्षा कंप्लीट करने के बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम देकर बीटेक में एडमिशन लेना है. बीटेक का कोर्स 4 साल का होता है. 4 साल का कोर्स करने के बाद आप मरीन इंजीनियर के लिए अप्लाई कर सकते हो. 

B.Tech कोर्स अगर आप नहीं करना चाहते हो तो आप बीएससी नॉटिकल कोर्स करने के बाद भी मरीन इंजीनियर बन सकते हो. यह कोर्स 3 साल का होता है.

Marine Engineer Ka Kaam Kya Hota Hai?

जो बड़े-बड़े समुद्री जहाज होते हैं उनको मेंटेन करने का काम मरीन इंजीनियर का होता है जैसे कि जो पानी वाले जहाज समुद्र में चलाए जाते हैं उनका कंस्ट्रक्शन करना उनकी मरम्मत करना कोई भी खराबी आती है तो उनको संभालने का काम मरीन इंजीनियर का होता है. 

साथ मैं मरीन इंजीनियर बड़े-बड़े जहाजों के अंदर जो मशीनें होती हैं उनका भी कंस्ट्रक्शन एवं डिजाइन तैयार करते हैं. यह काम मरीन इंजीनियर का ही होता है.

Marine Engineer Salary Per Month

मरीन इंजीनियर बनने के बाद आपको शुरुआत में 7.1 लाख तक की सैलरी मिल सकती है लेकिन काम करने के बाद जैसे-जैसे आपका अनुभव पड़ता है अनुभव के साथ में ही आपकी सैलरी भी बढ़ती रहती है.

Railway Engineer Kaise Bane

रेलवे इंजीनियर बनने के लिए बहुत कड़ी मेहनत करनी पड़ती है तो अगर बात की जाए कि रेलवे इंजीनियर बनने के लिए आपके पास क्या योग्यता होनी चाहिए तो आइए जानते हैं.

Railway Engineer बनने के लिए आपको दसवीं कक्षा को अच्छे नंबरों के साथ पास होना होगा अगर आप दसवीं कक्षा के बाद ही रेलवे में जाना चाहते हो तो आप आईटीआई कर सकते हो आईटीआई करने के बाद आप जूनियर रेलवे इंजीनियर में काम कर सकते हो लेकिन आप बड़े पद पर इंजीनियर बनना चाहते हो तो आपको दसवीं कक्षा के बाद 12वीं कक्षा को साइंस साइड से पास करना होगा और उसके बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम निकालकर बी टेक एग्जाम को क्लियर करना है 

बीटेक 4 साल का कोर्स होता है यह कंप्लीट करने के बाद आप एक सीनियर पद पर रेलवे इंजीनियर बन सकते हो बीटेक करने के बाद आपको रेलवे इंजीनियर के लिए अप्लाई करना है.

Railway Engineer Ka Kya Kaam Hota Hai?

रेलवे इंजीनियर रेलवे का एक भाग होता है इस रेलवे के भाग में बहुत से अलग-अलग काम होते हैं जैसे कि रेलवे कंप्यूटर इंजीनियर, रेलवे पटरी इंजीनियर, जो लाइन को बिछाने का काम करता है, रेलवे पानी का पाइप इंजीनियर, रेलवे इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर, आदि इंजीनियर होते हैं. इन सभी का काम अलग अलग होता है.

Railway Engineer Ki Salary Kitni Hoti Hai?

रेलवे में इंजीनियर बनाने के बाद बात आती है सैलरी की तो अगर आप सीनियर इंजीनियर के पद पर जाते हो तो आपको शुरू में ₹ 30,000 से 35,000 की सैलरी मिल सकती है लेकिन यहीं पर सीनियर पद पर इंजीनियरों की सैलरी ज्यादा होती है.

Software Engineer Kaise Bane?

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए दसवीं कक्षा पास होना जरूरी है. दसवीं के बाद आपको 12वीं कक्षा साइंस साइड PCM सब्जेक्ट के साथ 60% मार्क्स के साथ पास करना है.

बारहवीं कक्षा कंप्लीट होने के बाद आप B.TECH IT सेक्टर से कंप्लीट कर सकते हो और एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हो. या फिर आप BCA या B.SC कोर्स भी कर सकते हो.

लेकिन सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए सिर्फ कंप्यूटर कोर्स ही जरूरी नहीं है. बल्कि इसके साथ में आपको टॉप टेन कोडिंग लैंग्वेज आनी चाहिए जब ही आप एक अच्छे सॉफ्टवेयर बन सकते हो आइए जानते हैं कौन – कौन सी लैंग्वेज सीखना है.

सॉफ्टवेयर इंजिनियर बनने के लिए टॉप 10 कोडिंग लैंग्वेज

  1. PHP 
  2. Swift 
  3. CSS 
  4. Katlin 
  5. Go Lang 
  6. C and C++ 
  7. Java 
  8. Script 
  9. Java python

Software Engineer Ka Kam Kya Hai?

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग यह इंजीनियरिंग की एक बड़ी शाखा है सॉफ्टवेयर इंजीनियर के बहुत सारे काम होते हैं जैसे कि सॉफ्टवेयर डेवलप करना, सर्च इंजन का एल्गोरिदम का डिजाइन करना, एंड्राइड एप्लीकेशन बनाना, वेबसाइट बनाना आईफोन लैपटॉप जैसे डिवाइस के लिए भी एप्लीकेशन बनाने का काम सॉफ्टवेयर इंजीनियर का ही होता है. 

अगर आपको कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी है और आपको टेक्नोलॉजी फील्ड अच्छी लगती है तो आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर जरूर बनना चाहिए.

Software Engineer Ki Salary Kitni Hoti Hai?

इंजीनियर की सैलरी आपके अनुभव के ऊपर डिपेंड करती हैं. औसतन अगर शुरुआत सैलरी की बात करें तो आपकी सैलरी ₹ 20,000 से 40,000 तक हो सकती है. यहीं पर अगर आपकी जॉब मल्टीनेशनल कंपनी में लगती है तो आपकी सैलरी 1,00000 से भी ज्यादा हो सकती है. 

लेकिन सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बाद आप फ्रीलांसिंग से काम करके पैसा कमाते हो तो एक लाख से ₹2,00000 तक भी कमा सकते हो.

Electrical Engineer Kaise Bane?

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग करने के लिए आपका 12वीं कक्षा पास होना जरूरी है. 12वीं कक्षा में आपको साइंस साइड से फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथ, सब्जेक्ट में 60% मार्क्स के साथ पास होना होगा. 

12वीं कक्षा पास होने के बाद आप इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग ट्रेड से आईटीआई कर सकते हो यह ट्रेड 2 साल का होता है. सबसे बड़ी बात ITI करने के लिए खर्च बहुत कम आता है. 

Electrical Wiring - Engineer Kaise Bane
Electrical Wiring

लेकिन अगर आप बड़े लेवल पर इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग करना चाहते हो तो आपको बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (BE) या बीटेक जैसी डिग्री करनी होगी. बीटेक डिग्री को आप किसी भी फील्ड में कर सकते हो. 

Electrical Engineer Ka Kya Kaam Hota Hai?

Electrical Engineer को हिंदी में विद्युत अभियांत्रिकी कहां जाता है Electrical Engineer का काम इलेक्ट्रॉनिक मशीनों का निर्माण करना और कोई भी इलेक्ट्रॉनिक मशीन खराब हो जाती है तो उसको संभालने का होता है.

Electrical Engineer Ki Salary Kitni Hoti Hai?

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की सैलरी 3 लाख से लेकर 4 लाख तक एक वर्ष की हो सकती है बात की जाए कि शुरुआती इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है तो शुरुआत में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की सैलरी हर महीने 30 से 40,,000 हो सकती है.

यह सैलरी आपके अनुभव के साथ बढ़ती रहती हैं और अगर आप विदेश में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के पद पर काम करते हो तो आपकी सैलरी लाखों में भी हो सकती है.

Mechanical Engineer Kaise Bane?

मेकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए आपको 10 वीं कक्षा के बाद पॉलिटेक्निक करना होगा पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम कराया जाता है एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद आपका पॉलिटेक्निक में एडमिशन होगा. 

पॉलिटेक्निक में आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करना है, मैकेनिकल इंजीनियरिंग का पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद आप जूनियर मैकेनिकल इंजीनियर बन जाते हैं लेकिन 12वीं के बाद आप इंजीनियरिंग करना चाहते हो तो आपको BE या बी टेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से करना होगा. 

BE या B.Tech मैकेनिकल इंजीनियरिंग के ब्रांच में आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के बाद करना चाहते हो तो यह कोर्स आपके लिए 2 साल का होगा 2 साल का करने के बाद आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग कंपनी के साथ कार्य कर सकते हो

Mechanical Engineer Ka Kya Kaam Hota Hai?

मनुष्य के जीवन में सबसे ज्यादा रोल मैकेनिकल इंजीनियर का होता है. मैकेनिकल इंजीनियर सिविल इंजीनियर सभी पुरानी इंजीनियरिंग है सिविल इंजीनियरिंग में घर पुल वेल्डिंग होटल आदि को बनाया जाता है, लेकिन मैकेनिकल इंजीनियरिंग में नई मशीनों को बनाया जाता है जैसे कि पानी की मोटर, कार की डिजाइनिंग, कंप्यूटर यह सब बनाने का काम मैकेनिकल इंजीनियर का होता है.

Mechanical Engineer Ki Salary Kitni Hoti Hai?

मैकेनिकल इंजीनियर बनने के बाद सैलरी की बात की जाए तो आप अगर जूनियर इंजीनियरिंग किए हो तो आपको सरकारी नौकरी भी मिल सकती जहां 25 से 30,,000 महीना तनख्वाह मिल सकती है. लेकिन अगर जूनियर इंजीनियरिंग करके प्राइवेट सेक्टर में काम करते हो तो आपको शुरुआत में 8 से ₹15,000 की महीने की सैलरी मिलेगी. 

ये सैलरी आपकी राज्य पर भी निर्भर होती है अगर आप यूपी में कार्यरत हो तो यहां की सैलरी आपकी अलग होगी अगर आप झारखंड, मध्य प्रदेश जैसे राज्य में हो तो वहां की सैलरी अलग होगी सभी राज्य की सैलरी अलग-अलग होती है. 

लेकिन बात की जाए सीनियर इंजीनियरिंग की की सीनियर इंजीनियरिंग करने के बाद आपकी सैलरी कितनी होगी तो सीनियर इंजीनियरिंग BE या B.TECH की डिग्री करने के बाद बनते हैं. तो BE या B.TECH की डिग्री जब आपको प्राप्त हो जाती है उसके बाद आपकी सरकारी सेक्टर में सैलरी 30 से ₹ 5,0000 महीना हो सकती हैं और यह सैलरी आपके अनुभव के साथ बढ़ती रहती है.

Engineer Kaise Bane – निष्कर्ष

इंजीनियर बनना एक गर्व की बात होती है इंजीनियर बनने के बाद आपकी रिस्पेक्ट लोगों के सामने बहुत अधिक हो जाती है साथ में इंजीनियरिंग की सैलरी भी हाई रहती है. 

इंजीनियरिंग आप किसी भी फील्ड में कर सकते हो अगर आपका सपना है इंजीनियरिंग करना लेकिन आपको यह नहीं मालूम कि इंजीनियरिंग किस फील्ड में करें, तो हमने इस पोस्ट में आपको बहुत सारे इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी दी है जैसे कि Engineer Kaise Bane? और इंजीनियरिंग कौन सी फील्ड में करें साथ में हमने आपको सभी इंजीनियरिंग फील्ड की सैलरी भी आपको बताई है.

मैं उम्मीद करता हूं आपको जानकारी पसंद आई होगी. अगर आपकी इस पोस्ट से थोड़ी भी हेल्पफुल अगर रही हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि दूसरों को भी फायदा हो सके.

Engineer Kaise Bane – FAQs

12वीं के बाद इंजीनियर कैसे बने?

12वीं के बाद इंजीनियर बनने के लिए आप बी टेक कर सकते हैं. ये चार साल का एक इंजीनियरिंग कोर्स है. सभी आईआईटी (IIT) सहित अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज से बीटेक करने के लिए आपको जेईई मेन (JEE Main) परीक्षा अच्छे रैंक से पास करनी होगी.

वैसे B.Tech के अलावा आप आईटीआई (ITI) और पॉलीटेक्निक कोर्स करके भी आप 12वीं के बाद जूनियर इंजीनियर बन सकते हैं.

सरकारी  इंजीनियर कैसे बनें?

सरकारी इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से आईटीआई, पॉलीटेक्निक या बीटेक करना होगा. फिर जब भी सरकारी इंजीनियर की भर्ती (Govt Engineer Vacancy) निकले तो अपने योग्यता के अनुसार फॉर्म भर दें. फिर आपका परीक्षा और इंटरव्यू होगा. उनमें पास होने पर आप सरकारी इंजीनियर बन जाएंगे.

SSC, BPSC, सहित कई सारे आयोग समय-समय पर गवर्मनेट इंजीनियर के लिए भर्ती निकलती रहती हैं. जैसे कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा एसएससी जूनियर इंजीनियर (SSC JE), बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा बीपीएससी असिस्टेंट इंजीनियर (BPSC AE), आदि. तो आप इस तरह से सरकारी इंजीनियर की परीक्षा पास करके सरकारी इंजीनियर बन सकते हैं.

इंजीनियरिंग में कौन सी ब्रांच अच्छी है?

इंजीनियरिंग में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, आदि इंजीनियरिंग के अच्छे ब्रांच है.

10वीं के बाद इंजीनियर कैसे बनें?

10वीं के बाद इंजीनियर बनने के लिए आपको 10वीं के बाद ITI या पॉलीटेक्निक करना होगा.

इंजीनियर बनने के लिए कौन सी परीक्षा देनी पड़ती हैं?

इंजीनियर बनने के लिए जेईई मेन परीक्षा देनी पड़ती है, और अगर आप IIT से अपनी इंजीनियरिंग करना चाहते है तो जेईई मेन के बाद जेईई एडवांस परीक्षा भी देनी पड़ेगी.

वैसे JEE Main और JEE Advance के अलावा भी कुछ परीक्षा है, जिसके माध्यम से आप इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments