English Padhna Kaise Sikhe? अंग्रेजी पढ़ना सीखने के लिए 8 टिप्स

कई सारे न्यूज आर्टिकल, रोड साइन, होटल के मेनू, आदि अंग्रेजी भाषा में लिखे होते हैं. इन सभी को आप तभी समझ सकते है जब आपको इंग्लिश पढ़ना आता हो. आपको अंग्रेजी पढ़ना आता हो या नहीं आता हो दोनों मामलों में ये पोस्ट आपके लिए बहुत उपयोगी होने वाली है. तो आइए विस्तार से जानते है कि English padhna kaise sikhe?

इंग्लिश पढ़ना सीखने का एक बहुत बड़ा फायदा ये भी है कि आप बहुत सारे रोचक और मशहूर किताबों को पढ़ने में सक्षम हो जाएंगे जो अंग्रेजी भाषा में लिखी गई हैं.

इस ब्लॉग पोस्ट में हमलोग जानेंगे की English padhna kaise sikhe? जिसके अंतर्गत अंग्रेजी पढ़ना सीखने से जुड़ा 8 टिप्स भी आपके साथ साझा करेंगे एवं अंत में इंग्लिश पढ़ना कैसे सीखे? से जुड़ा कुछ FAQs भी देखेंगे.

English Padhna Kaise Sikhe? 8 टिप्स अंग्रेजी पढ़ना सीखने के लिए

आप नीचे बताए गए टिप्स को अपना कर आसानी से अंग्रेजी पढ़ना सीख सकते है.

English Padhna kaise sikhe
English Reading

1. अंग्रेजी के ग्रामर और वोकेबलरी की किताब पढ़े

इंग्लिश पढ़ना सीखने के लिए सबसे जरूरी चीज है कि आपको बेसिक ग्रामर (grammar) की समझ हो और रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली वर्ड मीनिंग याद हो.

अंग्रेजी के ग्रामर को अच्छे से समझने के लिए Raymond Murphy की “Essential English Grammar किताब बहुत उपयोगी है.

इंग्लिश ग्रामर के बेसिक को समझने के लिए ये सबसे अच्छी किताब है. इसमें आपको मॉडर्न तरीके से ग्रामर सिखाया गया है.

वहीं वोकेबलरी पर पकड़ बनाने के लिए Norman Lewis की किताब “Word Power Made Easy” बहुत उपयोगी है.

इंग्लिश वोकेबलरी (vocabulary) इंप्रूव करने के लिए ये सबसे बढ़िया किताब है. इसमें कुल 47 लेसन है. जिसे पूरा पढ़ने के बाद इंग्लिश वोकेबलरी पर आपकी अच्छी पकड़ हो जाएगी.

2. ऐप की मदद से इंग्लिश पढ़ना सीखें

ऐप की मदद से अंग्रेजी पढ़ना सीखना काफी रोचक और आसान होता है. चूंकि ये आपके फोन में होता है इसलिए आप कहीं भी और कभी भी इसका इस्तेमाल कर सकते है.

इंग्लिश पढ़ना सीखने के लिए कई सारे ऐप्स गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर पर मिल जाएंगे. Read Me Stories: Learn to read ऐप भी इंग्लिश पढ़ना सीखने के लिए बहुत अच्छा है.

इसमें बच्चों के लिए 140 से भी ज्यादा शैक्षणिक कहानी दी गई है. जिससे आप या आपके बच्चे के अंदर अंग्रेजी पढ़ने की रुचि जागेगी.

इसके अलावा इसमें वर्ड और सेंटेंस फॉर्मेशन भी बहुत अच्छे से बताया गया है. साथ ही साथ 1000 से भी ज्यादा वोकेबुलरी भी दिया गया है.

3. English Spelling के नियम को समझें

अंग्रेजी पढ़ना सीखने के दौरान इंग्लिश स्पेलिंग बहुत बड़ी बाधा होती है. कई अक्षर के अलग-अलग शब्दों में अलग-अलग उच्चारण होता है. वो क्यों होता है अगर आपको नहीं पता होगा तो आपके लिए अंग्रेजी पढ़ना बहुत मुश्किल होगा.

जैसे e, i या y से पहले c आने से इसका उच्चारण स होता है जैसे city (सिटी) वरना आमतौर पर c का उच्चारण क होता है जैसे cat (कैट).

यहां उदाहरण के लिए सिर्फ एक वर्ड का उच्चारण दिया गया है. इसी तरह और भी अक्षरों का उच्चारण कुछ नियम के तहत होते हैं. अगर आप वो नियम समझ जाएंगे तो अंग्रेजी पढ़ना आसान हो जाएगा.

ये भी पढ़ें > English likhna kaise sikhe? अंग्रेजी लिखना सीखने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

4. अपने अंग्रेजी समझने के स्तर का रीडिंग मैटेरियल पढ़े

अंग्रेजी ग्रामर एवं वोकेबुलरी की किताब पढ़कर और ऊपर बताए गए ऐप की मदद से आपको कुछ इंग्लिश पढ़ना आ गया होगा. अब आपको कुछ किताब, आर्टिकल, ब्लॉग पोस्ट, न्यूज पेपर, आदि पढ़ना चाहिए.

लेकिन आप जो भी रीडिंग मैटेरियल पढ़े वो आपके अंग्रेजी समझने के स्तर का होना चाहिए. क्योंकि आप अगर कोई बहुत मुश्किल चीज पढ़ेंगे तो सही से समझ में नहीं आएगा, और अगर बहुत ही आसान चीज पढ़ेंगे तो आप नया कुछ नहीं सीख पाएंगे और तुरंत बोर भी हो जाएंगे.

आप अपने अंग्रेजी समझने के स्तर को जांचने के लिए British council की वेबसाइट पर विजिट करके learn english टेस्ट दे सकते है. इससे आपको अपने अंग्रेजी रीडिंग लेवल का जेनरल आइडिया हो जाएगा.

आमतौर पर बात करे तो आप जो भी पढ़ रहे हो उसमें 10% से ज्यादा नए शब्द न हो, क्योंकि जहां 10% से ज्यादा नया शब्द हुआ वो आपके लिए पढ़ना मुश्किल हो जाएगा.

5. Reading Comprehension का इस्तेमाल करें

रीडिंग कंप्रीहेंशन एक तरह का अभ्यास होता है जो अंग्रेजी पढ़ने की योग्यता को बढ़ाने के लिए डिजाइन किया जाता है.

आपने शायद 10वीं और 12वीं कक्षा में रीडिंग कंप्रीहेंशन वाले प्रश्न हल भी किए होंगे.

आमतौर पर रीडिंग कंप्रीहेंशन कुछ पैराग्राफ से शुरू होता है उसके बाद कुछ साधारण से प्रश्न होते है. ये प्रश्न बहुविकल्पीय (MCQs), रिक्त स्थानों की पूर्ति करें (fill in the blanks) या लघु उत्तरीय प्रश्न (short answer questions) हो सकते है.

अगर आप ऑनलाइन रीडिंग कंप्रीहेंशन ढूंढ रहे है तो My English Pages एक बहुत ही उपयोगी वेबसाइट है. यहां आपको विज्ञान, इतिहास, और जीवनी जैसे विषयों से सैकड़ों रीडिंग कंप्रीहेंशन मिल जाएंगे.

6. उस टॉपिक के बारे में पढ़ें जिसे आप अच्छी तरह से जानते हो

आप अगर किसी नए टॉपिक के बारे में पढ़ते है तो आपके लिए उसकी भाषा समझने के साथ-साथ उसका कांसेप्ट समझना भी मुश्किल होता है. इसलिए इस दुविधा से बचने के लिए उस टॉपिक के बारे में ही पढ़ें जिसे आप अच्छे से जानते हो.

इससे एक फायदा ये भी होगा की उस टॉपिक से जुड़ा आप का शब्द भंडार भी बढ़ेगा जो की आपके रोजमर्रा की जिंदगी में भी काफी उपयोगी होगा.

यहां एक बात ध्यान रखें कि किसी टॉपिक के बारे में जानने का मतलब ये नहीं है कि उसमें एक्सपर्ट होना. बल्कि अगर आप कोई न्यूज आर्टिकल हिंदी में या किसी क्षेत्रीय भाषा (regional language) में पढ़ते है तो आप उसी को अंग्रेजी में भी पढ़ने का प्रयास करें.

इसी तरह आप अगर कोई किताब किसी भी भाषा में पढ़ें है तो उसे आप इंग्लिश में पढ़ सकते है. अंग्रेजी के बहुत सारे प्रसिद्ध किताबों का हिंदी में अनुवाद हो चुका है. आप दोनों खरीद लें. पहले हिंदी वाला पढ़ें फिर कांसेप्ट समझ में आ जाने के बाद अंग्रेजी वाला पढ़ें. ऐसे में आपके लिए अंग्रेजी समझना आसान होगा.

ये भी पढ़ें > इंग्लिश बोलना कैसे सीखें? इंग्लिश स्पीकिंग सीखने के लिए टिप्स, यूट्यूब चैनल और ऐप्स

7. अपने पास एक डिक्शनरी जरूर रखें

चूंकि अभी आप अंग्रेजी पढ़ना सीख ही रहे है तो पढ़ने के दौरान आपको बहुत सारे नए वर्ड मिलेंगे जिसका मतलब आपको नहीं पता होगा. इसलिए नए शब्द अर्थ जानने के लिए अपने पास एक डिक्शनरी जरूर रखें.

हिंदी भाषी के लिए ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस की Oxford English-Hindi Dictionary सबसे अच्छी है. इसमें 25,000 से भी ज्यादा इंग्लिश वर्ड का अर्थ उदाहरण सहित दिया गया है.

अगर आप ऑनलाइन कुछ पढ़ रहे है और वहां आपको किसी अंग्रेजी वर्ड का अर्थ जानना है तो इसके लिए आप Google Translate की मदद ले सकते है.

लेकिन डिक्शनरी रखने का मतलब ये नहीं है कि पढ़ने के दौरान जो भी नए शब्द आएं उसका तुरंत अर्थ देखने लग जाए! अगर आप ऐसा करते है तो आपके पढ़ने का प्रवाह (flow) टूट जाएगा और आप तुरंत बोर होने लगेंगे.

English padhne ka tarika ये है कि आप जो कुछ भी पढ़ रहे हो पहले उसे एक बार अच्छे से पढ़ लें, पढ़ने के दौरान आए नए वर्ड को अंडरलाइन या हाइलाइट कर दें. पूरा पढ़ लेने के बाद जो शब्द ज्यादा बार आया हो पहले उसका अर्थ देखें.

8. रोजाना पढ़े

रोजाना कुछ न कुछ अंग्रेजी जरूर पढ़ें. इससे आपके अंदर पढ़ने की आदत बनेगी. जो की आपके इंग्लिश पढ़ना सीखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.

इंटरनेट के माध्यम से तो पढ़ना और भी आसान हो गया है. आप आसानी से ब्लॉग पोस्ट, न्यूज आर्टिकल, मैगजीन, कॉमिक्स, ईबुक, आदि पढ़ सकते है.

एक ही दिन बहुत सारा पढ़ने से कई गुना ज्यादा बेहतर है कि आप रोज थोड़ा-थोड़ा ही पढ़ें.

अगर आप रूटीन बना कर पढ़ते है तो ये आपके लिए और भी ज्यादा अच्छा है. जैसे रोज सुबह चाय की चुस्की के साथ अंग्रेजी अखबार पढ़ना.

निष्कर्ष (conclusion)

इंग्लिश पढ़ना सीखने के लिए ग्रामर की समझ विकसित करें और दैनिक जीवन में इस्तेमाल होने वाले वर्ड मीनिंग याद रखें. किताब के अलावा कई सारे ऐप्स भी है जो आपको अंग्रेजी पढ़ना सीखने में मदद कर सकते है.

अंग्रेजी के ग्रामर और वोकेबुलरी पर कुछ पकड़ हो जाए तो उसके बाद खुद से कुछ-कुछ पढ़ा करें. पढ़ने के लिए ऐसा रीडिंग मैटेरियल चुने जो आपको समझ में आ पाएं. उसमें बहुत नए शब्द न हो.

शुरुआत में नए विषय के बारे में पढ़ना आपके लिए मुश्किल और उबाऊ हो सकता है. इसलिए अपने रुचि के टॉपिक के बारे में ही पढ़ें. लेकिन जो भी पढ़ें रोज पढ़ें. जिससे आपके अंदर पढ़ने की आदत बनेगी. और हां पढ़ते वक्त अपने पास एक डिक्शनरी जरूर रखें. जिससे पढ़ने के दौरान आए नए शब्दों का अर्थ जान सके.

ये भी पढ़ें > IELTS क्या होता है? IELTS से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

English Padhna Kaise Sikhe – FAQs

छोटे बच्चों को इंग्लिश पढ़ना कैसे सिखाएं?

छोटे बच्चों को इंग्लिश पढ़ना सिखाने के लिए सर्वप्रथम जरूरी है की उसे अंग्रेजी के वर्णमाला (Alphabet) की पहचान कराएं. अल्फाबेट में भी दो तरह के अक्षर होते है एक वॉवेल (vowel) और दूसरा कॉन्सोनेंट (consonant). बच्चों को दोनों के बीच का अंतर समझाएं.

फिर बच्चों को अक्षरों को जोड़कर शब्द बनाना और उस शब्द को पढ़ना सिखाएं. इसी तरह शब्दों को जोड़कर वाक्य बनाना भी सिखाए और फिर बच्चे को उन शब्द और वाक्यों को बोलना सिखाएं.

इंग्लिश फास्ट पढ़ना कैसे सीखें

इंग्लिश फास्ट पढ़ना सीखने के लिए आपको चाहिए की आप वर्ड बाय वर्ड न पढ़ें बल्कि एक बार में एक सेंटेंस या एक लाइन पढ़ने की कोशिश करें.

इसके अलावा जब भी इंग्लिश पढ़ने बैठे तो थोड़ा लंबे समय तक पढ़ें. क्योंकि आपके दिमाग को पढ़ाई पर फोकस करने में कुछ समय लगता है, लेकिन जब ये एक बार फोकस कर लेता है फिर एक लय (rhythm) बन जाता है जिससे आप इंग्लिश फास्ट पढ़ पाते है.

उम्मीद है कि English Padhna Kaise Sikhe आपको मालूम हो गया होगा. अगर इससे जुड़ा आपका कोई प्रश्न है तो कॉमेंट में जरूर पूछें, और इस पोस्ट को उन लोगों तक शेयर करें जो इंग्लिश पढ़ना सीखना चाहते है.


विद्यार्थियों के लिए उपयोगी ऐसे और भी पोस्ट नियमित रूप से पाने के लिए कृपया आप हमारे न्यूज़लेटर (Newsletter) को सब्सक्राइब करें.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ravi
2 months ago

बहुत ही बढि़या जानकारी हैं अंग्रेजी पढ़ना सीखने के लिए बेहतर जानकारी दी गई हैंं।धन्‍यवाद