Hindi Diwas Speech | हिंदी दिवस पर 4 शानदार भाषण एवं शायरी

जैसा की आप सभी जानते होंगे की पूरे विश्व में भारत ही एकमात्र ऐसा देश है जहां इतनी ज्यादा भाषाएं बोली जाती है. जिसमें से हिंदी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है. तो आइए विस्तार से Hindi Diwas Speech जानते हैं.

भारत में हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा के रूप में भारत के हर क्षेत्र में फैलाने के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस मनाया जाता है. जिसके माध्यम से हिन्दी भाषा के महत्व को उजागर किया जाता है. 

अतः यदि आप एक विद्यार्थी हो और आपको विद्यालय, महाविद्यालय आदि में हिंदी दिवस के उपलक्ष्य पर भाषण देने का अवसर मिला है लेकिन हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी में कहां से प्राप्त करें यह सवाल आपके मन में आ रहा है तो यह लेख आपको जरूर पढ़ना चाहिए.

हम ऐसा इसलिए कह रहें है क्योंकि आज के इस लेख के द्वारा हम आपको हिंदी दिवस पर कई सारे भाषण प्रदान करने वाले है जिनको आप इस्तेमाल कर सकते हो किसी भी शिक्षण संस्थान या हिंदी दिवस समारोह में भाषण देने के लिए. 

हमने इस लेख में कई सारे छोटे छोटे Hindi Diwas Par Speech आपके लिए ही तैयार किया है की ताकि आपको ज्यादा मेहनत न करनी पड़े. 

निम्नलिखित भाषण का उद्देश्य है सम्पूर्ण भारतीयों को हिन्दी भाषा के महत्व को समझाना क्योंकि भारत के हर क्षेत्र में अलग अलग भाषाएं बोली जाती है जिसकी वजह से लोग मिलजुल नही पाते है. आइए फिर Speech on Hindi Diwas for Students पर नज़र डालें.

छात्रों के लिए हिंदी दिवस पर भाषण

हिंदी दिवस के मौके पर आप नीचे दिए गए 4 शानदार भाषण में से कोई भी भाषण दे सकते हैं. या आप इन चारों भाषण में से जो जो प्वाइंट आपको अच्छा लगे, उन सब इकठ्ठा करके आप हिंदी दिवस पर एक नया भाषण बना सकते हैं.

Hindi Alphabets - Hindi Diwas Par Speech
Hindi Alphabets

तो आइए हिंदी दिवस के मौके पर दिए जा सकने वाले 4 प्रमुख भाषण जानते हैं.

Hindi Diwas Speech for Students [1]

माननीय प्रधानाचार्य जी, उपप्रधानाचार्य जी, अध्यापकगण, प्राध्यापकगण और मेरे समस्त उपस्थित मेरे प्रिय मित्रों. जैसा की आप सभी को अच्छे से यह विदित होगा की आज हम सभी यहां पर हिंदी दिवस के उपलक्ष्य पर उपस्थित हुए है. 

पूरे भारत देश में हर वर्ष 14 सितंबर के दिन ही हिंदी दिवस को पूरे हर्षों उल्लास के साथ मनाया जाता है. अतः हम भी इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए यहां पर एकत्रित हुए है. 

हिंदी दिवस के इस शुभ अवसर पर मैं आप सभी के समक्ष हिंदी दिवस के संदर्भ में अपने कुछ विचार प्रस्तुत करने जा रहा हूं/रही हूं. अपने विचार को आपके समक्ष प्रस्तुत करने से पूर्व आप सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने की बात सबसे पहले गांधी जी ने 1918 में कही थी जिसके अनुसार कुछ समय बाद अनेक वाद विवादों का सामना करने के बाद 14 सितंबर को राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी भाषा को संविधान में जोड़ा गया था. 

लेकिन कई सारे गैर हिंदी राज्यों के द्वारा इस निर्णय के खिलाफ विरोध किया गया जिसके कारण गैर भारतीय भाषा अंग्रेजी को भी संविधान में जगह देनी पड़ी और हिंदी सम्पूर्ण रूप से राजभाषा नही बन सका. 

अतः इसी वजह से आज हिंदी दिवस हर साल मनाया जाता है ताकि हिन्दी भाषा का प्रचार पूरे देश के हर कोने में किया जा सके.

हिंदी भाषा के महत्व को और अच्छे से समझाने के लिए हिंदी दिवस को विद्यालय, महाविद्यालय और अन्य शिक्षण संस्थान में मनाया जाने लगा. 

हिंदी दिवस के दिन यानी की 14 सितंबर के दिन प्रतियोगिता, भाषण, काव्य गोष्ठी, वाद-विवाद जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जिससे की लोगों की रुचि हिंदी भाषा के प्रति बढ़ें तथा लोग भी ऐसी प्रतियोगिताओं में भाग लेकर हिंदी भाषा का समर्थन करें.

इन सब चीजों की जरूरत इसलिए भी है क्योंकि लोग भी जो अधिक पढ़ें लिखें है वह सभी हिंदी भाषा कम बोलने लगे हैं. अतः हमें आज यह प्रण लेना चाहिए की हम अपनी मातृभाषा हिंदी को मिटने नही देंगे. इसी के साथ मेरे विचार यहां समाप्त होते है. धन्यवाद!

ये भी पढ़ें > विश्व हिंदी दिवस (world hindi day) पर बेहतरीन निबंध

विश्व हिंदी दिवस (world hindi day) पर एक शानदार भाषण

Hindi Diwas Par Speech [2]

श्रीमान प्रधानाचार्य जी, उपप्रधानाचार्य जी, अतिथिगण, अध्यापकगण, प्राध्यापकगण और यहां पर मौजूद मेरे प्रिय भाईयो तथा बहनों. मैं आज आप सभी का हिंदी दिवस के इस अवसर पर यहां स्वागत करता हूं/करती हूं. साथ ही आप सभी को हिंदी दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं. 

आज मैं बहुत ही ज्यादा गर्व महसूस कर रहा हूं/कर रही हूं क्योंकि आज मुझे यह अवसर मिला है की मैं आप सभी के सामने हिंदी दिवस के विषय मे अपने विचारों को प्रकट कर सकूंं तथा आप सभी को यह जानकारी प्रदान कर सकूंं की हिंदी भाषा हम सब भारतीयों के लिए कितनी महत्वपूर्ण है. 

मैं आप सभी से यही आशा करती हूं/करता हूं की मेरे विचार आपको जरूर पसंद आए.

हर साल 14 सितंबर के दिन को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है. जिस सप्ताह हिंदी दिवस मनाया जाता है उसे पखवाड़ा के नाम से जाना जाता है. आपको शायद यह पता न हो लेकिन हिंदी भाषा पूरे विश्व में तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है. 

हिंदी दिवस मनाने की शुरुआत इसलिए की गई क्योंकि अंग्रेजों की गुलामी से आजादी पाने के बाद से लोग अंग्रेजी सभ्यता को अपनाने के साथ-साथ अंग्रेजी भाषा भी बोलने लगे थे जिसके चलते हिंदी बोलने वाले लोगों की संख्या कम होती नजर आ रही थी. 

हालांकि आज भी हिन्दी भाषा बोली जाती है लेकिन हिंदी और अंग्रेजी भाषा को आज के समय में मिलाकर बोला जाता है.

इसी बात को ध्यान में रखते हुए आजादी के बाद 14 सितंबर 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया परंतु अनेक गैर हिंदी राज्यों ने इस बात का बहुत ज्यादा विरोध किया जिसके चलते हिंदी के साथ अंग्रजी भाषा को भी संविधान द्वारा हिंदी भाषा के साथ स्थान दिया गया. 

इन्ही विरोध के कारण आज भी हिन्दी भाषा देश में स्वतंत्र रूप से राजभाषा नही बन पाई है और इसीलिए 14 सितंबर के दिन ही हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है सभी स्कूल और कॉलेजों में. 

इसके साथ सरकारी कार्यालयों में भी हिंदी विभाग बनाया गया ताकि हिन्दी भाषा के महत्व को लोगों को समझाया जा सके और हिंदी भाषा को उच्च स्थान मिले. धन्यवाद!

Long and Short Speech on Hindi Diwas [3]

मंच पर उपस्थित आदरणीय प्रधानाचार्य जी, उप प्रधानाचार्य जी, शिक्षकगण, यहां आए हुए अथितिगण और यहां पर मौजूद सभी मेरे प्यारे दोस्तों एवं इस सभा में उपस्थित सभी लोगों को मेरी तरफ से हिंदी दिवस की बहुत-बहुत बधाइयां. 

आप सभी को यह अच्छे से ज्ञात होगा की आज हमारे विद्यालय/महाविद्यालय में हिंदी दिवस के अवसर पर एक कार्यक्रम आयोजन किया गया है, जिसके आधार पर मुझे आज मौका मिला है की मैं आज आप सभी के सामने हिन्दी दिवस और हिंदी भाषा के प्रति अपने विचारों को रख सकूंं. 

Mic - hindi diwas speech
Mic – hindi diwas par speech

इस मंच से आज मैं आप सभी के साथ हिंदी भाषा से संबंधित कुछ जानकरियां साझा करना चाहता हूं/चाहती हूं जिससे आपको जानने को मिलेगा की हिंदी भाषा हमारे लिए जरूरी क्यों है?

आप सभी को यह तो अच्छे से पता होगा की हिंदी हमारे देश की राजभाषा है और आज हम सभी यहां पर हिंदी दिवस के मौके उपस्थित हुए है. 

हिन्दी सिर्फ एक राजभाषा नही है बल्कि यह एक महत्वपूर्ण जरिया है हम सभी के लिए की हम अपने विचारों को आसानी से दूसरों के समक्ष प्रकट कर सकें. 

हिंदी भाषा पहले से ही भारत में बोली जाने वाली भाषा है लेकिन समय के साथ-साथ ऐसा प्रतीत होता है की हिन्दी भाषा को अब कम लोगों द्वारा बोला जाता है. 

आजादी के बाद से तो अंग्रेजी भाषा का प्रसार भारत में ऐसा हुआ है की लोग हिंदी की जगह पर अंग्रेजी में बात कर रहे हैं. जबकि देश की आजादी में हिंदी भाषा का योगदान भी रहा है.

हिन्दी भाषा का योगदान आजादी में किस तरह से रहा है? यदि यह सवाल मन में उठ रहा है तो हम बताना चाहेंगे की आजादी के समय में लड़ने वाले अधिकतर लोग हिंदी भाषा जानते थे, अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह करने के लिए जो भी नारे तैयार किए गए थे वह हिंदी में ही थे. 

यहां तक की कई सारी प्रसिद्ध कविताएं हिंदी में लिखी गई है. इसके अलावा फिल्मों में गाने हिन्दी भाषा में होते है. लेकिन फिर भी हिंदी बोलने मे बहुत से लोगों को शर्म आती है. 

आपको यह भी जानना चाहिए की पूरी दुनिया में हिंदी भाषा तीसरी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है फिर भी इसके ऊपर खतरा मंडरा रहा है. अतः हिंदी दिवस का उद्देश्य ही है लोगों को हिंदी भाषा के प्रति जागरूक करना है.

Hindi Diwas Speech in Hindi 2024 [4]

हमारे विद्यालय के आदरणीय प्रधानाचार्य जी, सम्माननीय गुरुजन और यहां मेरे सामने मौजूद सहपाठियों, आप सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

जैसा की आप सभी को यह अच्छी तरह से पता है की हिंदी दिवस के इस विशेष अवसर पर आज हम यहां पर उपस्थित हुए हैं. आपको यह भी मालूम है की भारत देश के कोने कोने में हिंदी भाषा बोली जाती है. 

यहां तक की हिंदी पूरी दुनिया की तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है. इसी के चलते 14 सितंबर 1949 को भारत के संविधान ने हिंदी को राजभाषा घोषित किया था और यह हम सभी भारतीयों के लिए बहुत ही ज्यादा गर्व की बात है.

हिंदी दिवस को आज के दिन पूरे देशभर में एक पर्व के रूप में मनाया जाता है, ताकि समस्त भारत में लोगों के दिलों में हिंदी भाषा के प्रति जागरूकता उत्पन्न की जा सके. 

यह सारा प्रयास हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के लिए अहम भूमिका निभाती है. स्कूलों, कॉलेजों, कार्यालयों, संगठनों और अन्य उद्यमों में आज का यह दिन हिंदी कविताएँ, हिंदी दिवस पर भाषण प्रतियोगिता, कहानी, निबंध और शब्दावली प्रश्नोत्तरी से जुड़े अद्धितीय कार्यक्रमों और प्रतियोगिताओं के आयोजन के साथ मनाया जाता है. 

आप इस बात में जरूर विश्वास रखते होंगे की किसी भी देश की मातृभाषा उस देश की विकास मे एक अहम भूमिका निभाती है.

लेकिन आजादी के 76 साल बाद आज भी हिन्दी भाषा को वह सम्मानजनक स्थान नही मिल पाया है जिसका यह हकदार है. यदि देखा जाए तो इसके सबसे बड़े दोषी भी हम ही है. 

हम ही है जो अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए अंग्रेजी स्कूलों में डाल तो देते है लेकिन उनको हिंदी भाषा के बारे में बताते ही नही है. उनको हिन्दी नही आती है तो हम बड़े गर्व से बोलते है की मेरा बेटा अंग्रेजी स्कूल में पढ़ता है. 

अतः यह तो बहुत ही शर्म की बात है की हम भारतीय होकर हिंदी बोलने में कतराते है या हमे हिंदी बोलना ही नही आता है. ऐसा बिलकुल भी नहीं है की अन्य भाषा सीखना गलत है.

परंतु हमारा कहना है की आप अन्य भाषाएं सीखिए लेकिन अपनी मातृभाषा को तो मत भूलिए. हमारी भाषा ही हमारी पहचान हमारी संस्कृति से करवाती है. यदि आप सभी अपनी ही मातृभाषा को भूल जायेंगे तो कल को हम अपने आप को ही इस देश में रहकर भी पराया समझेंगे. 

अतः अंत में मैं अपने विचारों को विराम देते हुए आप सभी से यह कहना चाहूंगी/चाहूंगा की हमें अपनी राजभाषा हिंदी को सर्वोच्च सम्मान देना होगा और हिंदी भाषा को नही भूलना होगा. 

हमारी भाषा ही हमारे विचारों को व्यक्त करने का जरिया है. अतः इसी के साथ मैं अपने शब्दों को यहां विराम देना चाहूंगा/चाहूंगी. धन्यवाद.

हिंदी भाषा के विषय में रोचक तथ्य (Interesting facts about Hindi Language)

“हिंदी दिवस पर भाषण (hindi diwas par bhashan)” तो हमने ऊपर आपको उपलब्ध करवा दिया है. आइए जब हम आपको हिंदी भाषा से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों की जानकारी देने जा रहे हैं.

  • आज हम जो हिन्दी भाषा बोलते है उस हिंदी शब्द की उत्पत्ति फारसी से हुई हैं.
  • हिंदी भाषा वर्तमान समय में दुनिया में तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है. लगभग 655 मिलियन लोग वर्तमान समय में हिंदी बोलते है.
  • पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, न्यूजीलैंड, संयुक्त अरब अमीरात, युगांडा, गुयाना, सूरीनाम, त्रिनिदाद, मॉरीशस और दक्षिण अफ्रीका आदि कई सारे देश है जहां पर हिंदी भाषा बोली जाती है.
  • काका कालेलकर, मैथिली शरण गुप्त, हजारी प्रसाद द्विवेदी, सेठ गोविंददास जैसे कई लेखकों ने मिलकर हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने में अपना अहम योगदान दिया है.
  • भारत का बिहार राज्य पहला राज्य है जिसने हिंदी भाषा को अपनाया था. हिंदी भाषा को 1881 में बिहार राज्य ने अपनाया था.

यह थी रोचक बातें हिंदी भाषा से जुड़ी हुई जिनके बारे में हमने आपको बताया है.

हिंदी दिवस पर भाषण – FAQs

लोगों के दिलों में जोश भर देने वाली हिंदी दिवस पर शायरी

हिंदी दिवस के मौके पर लोगों के दिलों में जोश भर देने के लिए आप ये शायरी बोल सकते हैं:

कोटि-कोटि कंठों की मधुर स्वरधारा है
हिन्दी है हमारी, हिन्दुस्तान हमारा है …

हिंदी दिवस पर हमने ठाना है,
लोगों में हिंदी का स्वाभिमान जगाना है,
हम सब का अभिमान है हिंदी,
भारत देश की शान है हिंदी.

हिन्दुस्तानी हैं हम गर्व करो हिंदी भाषा पर,
सम्मान देना और दिलाना दायित्व हैं हम पर.

हिंदी दिवस पर सुविचार बताइए?

हिंदी दिवस पर हमारे महापुरुषों द्वारा कहे गए 3 प्रमुख सुविचार निम्न हैं:

“देश के सबसे बड़े भूभाग में बोली जानेवाली हिन्दी राष्ट्रभाषा, पद की अधिकारिणी है.”
                               ~ सुभाषचन्द्र बोस

“हिन्दी देश की एकता की कड़ी है.”
       ~ डॉ. जाकिर हुसैन

“हिन्दी एक बेहतर भाषा है, यह जितनी बढ़ेगी देश को उतना ही उन्नति के राह पर होगा.”
~ पं० जवाहरलाल नेहरू

विश्व हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व हिंदी दिवस हर वर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है.

हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है.

हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता हैं अपने शब्दों में लिखिए?

भारत में हिंदी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है जिसके चलते 14 सितंबर 1949 को हिंदी को भारतीय संविधान द्वारा राजभाषा का दर्जा दिया गया ताकि सम्पूर्ण भारत में हिंदी भाषा को सर्वोपरि रखा जाए. अतः इसीलिए हिंदी दिवस मनाया जाता है.

भाषण बोलने से पहले क्या बोलना चाहिए?

भाषण की शुरुआत हमेशा मंच पर उपस्थित सभी अथिति गणों को संबोधित और उनको सुभकामनाएं देकर करनी चाहिए. उसके बाद अपने बारे में परिचय दें तथा उसके बाद ही आपको विषय की शुरुआत करें.

हिंदी को राष्ट्रभाषा क्यों बनाया गया?

दरअसल हिंदी पूरी दुनिया मे तीसरी सबसे अधिक और भारत में भी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है. यहां तक की रोजमर्रा की जिंदगी में अपने विचारों को दूसरों के सामने प्रकट करने का हिंदी भाषा एक सरलतम जरिया बन गया है जिसके चलते साल 1949 में 14 सितंबर को हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा के रूप में भारतीय संविधान द्वारा दर्जा दिया गया.

हिंदी दिवस पर पोस्टर कैसे बनाएं?

आप Canva, PixelLab जैसे ऐप के जरिए आसानी से हिंदी दिवस पर पोस्टर बना सकते हैं.

हिंदी दिवस पर सुंदर दोहे

हिंदी दिवस पर सुरेशपाल वर्मा जसाला के 3 सुंदर दोहे:

मीठा झरना सा झरे, बहता रस अनमोल।
आनंदी टब सा भरें, हिंदी के मधु बोल।।

अब तो मिलना चाहिए, हिंदी को सम्मान।
पूर्ण राष्ट्रभाषा बने, ऐसा लो संज्ञान।।

तू-तू मैं-मैं हो रही, फोन-फोन पर आज।
कुछ भी हो हिंदी करे, जीभ-जीभ पर राज।।

हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं कैसे दें?

आप हिंदी दिवस पर शायरी, दोहे या कोई कथन के साथ हिंदी दिवस की शुभकामनाएं दे सकते हैं. जैसे:

हिन्‍दी और हिन्दुस्तान हमारा हैं, और हम इसकी शान हैं. 
दिल हमारा एक हैं, और एक हमारी जान हैं.

आपको हिन्‍दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

हिन्दी है भारत की आशा, 
हिन्दी है भारत की भाषा.

हिन्दी दिवस पर आप सभी को शुभकामनाएं.

वक्ताओं की ताकत है हिंदी भाषा,
लेखक का अभिमान है हिंदी भाषा,
भाषाओं के शीर्ष पर बैठी, 
मेरी प्यारी हिंदी भाषा.

आपको हिंदी दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं.

हिंदी का स्थापना दिवस कब है?

प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है. क्योंकि संविधान सभा ने 14 सितम्बर 1949 को यह निर्णय लिया कि हिन्दी केन्द्र सरकार की आधिकारिक भाषा होगी.

हिंदी दिवस कोट्स

हिंदी दिवस पर 3 प्रमुख कोट्स निम्नलिखित हैं:

“राष्ट्रीय एकता की कड़ी हिन्दी ही जोड़ सकती है.”
~ बालकृष्ण शर्मा नवीन

“राष्ट्रभाषा हिन्दी का किसी क्षेत्रीय भाषा से कोई संघर्ष नहीं है.”
~ अनंत गोपाल शेवड़े

“हिन्दी उन सभी गुणों से अलंकृत है, जिनके बल पर वह विश्व की साहित्यिक भाषा की अगली श्रेणी में समासीन हो सकती है.”
~ मैथिलीशरण गुप्त

हिंदी दिवस पर स्टेटस क्या लगाएं?

हिंदी दिवस पर आप कोट्स, शायरी, दोहे आदि अपने सोशल मीडिया के स्टेटस पर लगा सकते हैं. 

व्हाट्सएप, फेसबुक, यूटयूब और इंस्टाग्राम पर हिंदी दिवस पर बने आकर्षक फोटो अपने स्टेटस पर लगा सकते हैं, तो वहीं ट्विटर पर किसी महापुरुष के हिंदी के बारे में सुविचार ट्वीट कर सकते हैं.

हिंदी को राजभाषा कब घोषित किया गया है?

संविधान सभा में चली लम्बी चर्चा के बाद 14 सितम्बर सन् 1949 को हिन्दी को इस देश भारत की राजभाषा घोषित गया.

हिंदी दिवस की शुरुआत किसने की थी?

तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत की थी.

हिंदी दिवस पर भाषण – सारांश

यदि आप एक विद्यार्थी हैं और आपके शिक्षण संस्थान में हिन्दी दिवस के दिन कोई कार्यक्रम आयोजन होने जा रहा है जिसके लिए आपको हिंदी दिवस पर भाषण की तलाश है तो आज के इस लेख में आपकी समस्या का समाधान उपलब्ध है. 

हमने इस लेख में हिंदी दिवस पर चार अलग अलग और छोटे भाषण तैयार किए है जिनका इस्तेमाल आप अपने स्कूल या कॉलेज में भाषण देने के लिए कर सकते हो. 

अतः हम उम्मीद करते है की आपको ब्लॉग पोस्ट “हिंदी दिवस पर भाषण (hindi diwas speech)” पसंद आया होगा. यदि लेख पसंद आए तो इसे शेयर अवश्य करें. 

आपके लिए 5 बहुत ही उपयोगी आर्टिकल

  1. विश्व हिंदी दिवस (world hindi day) पर एक शानदार भाषण एवं सुविचार [Quotes]
  2. इंजीनियर्स डे पर भाषण
  3. राष्ट्रीय शिक्षा दिवस (National Education Day) पर भाषण, शायरी एवं कोट्स
  4. राष्ट्रीय युवा दिवस (National Youth Day) पर एक शानदार भाषण
  5. विश्व विद्यार्थी दिवस (World Student’s Day) पर एक शानदार भाषण
कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
This Blog is Hosted on Cloudways