IAS Officer Kaise Bane? IAS की तैयारी के लिए कुछ टिप्स

बहुत से विद्यार्थियों का सपना होता है कि वह IAS बनकर देश की सेवा करे. इसके लिए हर साल लाखों अभ्यर्थी UPSC सिविल सेवा परीक्षा देते हैं, लेकिन कुछ ही लोग इस परीक्षा को अच्छे रैंक से पास करके आईएएस ऑफिसर बन पाते हैं. अगर आप का भी सपना है आईएएस बनने का तो आइए विस्तार से जानते हैं कि IAS Officer Kaise Bane?

आईएएस ऑफिसर भारतीय नौकरशाही (bureaucracy) में टॉप पर होते हैं. ये (IAS) सिविल सेवा का सबसे प्रतिष्ठित पद है. इसलिए इसकी परीक्षा भी कठिन होती है. UPSC सिविल सेवा परीक्षा को भारत का सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है. लेकिन परीक्षा की कठिनाई को देखकर डरने की जरूरत नहीं है, बल्कि सही रणनीति के साथ पूरी लगन से इस परीक्षा की तैयारी में लग जाना है.

इस ब्लॉग पोस्ट में हमलोग IAS officer kaise bane से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जानेंगे जैसे IAS के लिए योग्यता क्या है? UPSC (CSE) का एग्जाम पैटर्न क्या है? UPSC की तैयारी कैसे करे? और अंत में इससे जुड़े कुछ FAQs देखेंगे.

IAS Officer Kaise Bane?

IAS ऑफिसर बनने के लिए आपको अपनी स्नातक (graduation) डिग्री पूरी करने के बाद UPSC सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करना होगा. फाइनल ईयर के विद्यार्थी भी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने से पहले ये सुनिश्चित कर लें की आईएएस बनने के लिए जो पात्रता (eligibility criteria) निर्धारित की गई है (जिसे इसी पोस्ट में आगे जानेंगे), उस पर आप खड़े उतर रहें हों.

जब आप UPSC सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं तब आपसे सिर्फ इसके प्रारंभिक परीक्षा (preliminary examination) के लिए ही आवेदन लिया जाता है. प्रारंभिक परीक्षा पास कर लेने पर इसके मुख्य परीक्षा के लिए फिर से ऑनलाइन आवेदन करना होगा. इस आवेदन फॉर्म को डिटेल एप्लीकेशन फॉर्म भी कहा जाता है.

प्रारंभिक परीक्षा (prelims) क्वालीफाइंग मात्र होता है. मुख्य परीक्षा के लिखित और इंटरव्यू के अंको को जोड़कर रैंक निर्धारित किया जाता है. टॉप रैंक लाने वाले अभ्यर्थियों को IAS की सेवा मिलती है.

IAS Officer Kaise Bane

मुख्य परीक्षा (mains) पास कर लेने पर आपको ट्रेनिंग के लिए लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (LBSNAA)  जाना होता है जो की मसूरी में है. ये ट्रेनिंग पूरी होने पर किसी जगह आपकी पोस्टिंग की जाती है. जहां आपकी पोस्टिंग होती है वहां के आप IAS अधिकारी कहलाते हैं.

IAS का फुल फॉर्म Indian Administrative Service होता है.

IAS को हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहा जाता है.

आईएएस बनने के लिए सबसे पहला स्टेप है कि इसके लिए जो पात्रता निर्धारित की गई है उसको जानना, तो आइए इसे जानते हैं.

IAS के लिए योग्यता

IAS बनने के लिए विद्यार्थी का किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से स्नातक किसी भी स्ट्रीम से पास होना अनिवार्य है. फाइनल ईयर के विद्यार्थी भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं.

नागरिकता (Citizenship)

IAS ऑफिसर बनने के लिए भारतीय नागरिक (indian citizen) होना अनिवार्य है.

IAS के लिए आयु सीमा

विभिन्न श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए आयु सीमा निम्नलिखित है.

श्रेणीन्यूनतम आयुअधिकतम आयु
सामान्य (general)2132
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC)2135
SC/ST2137
PWD (general)2142
Age limit for IAS

UPSC सिविल सर्विस एग्जाम के लिए Attempts

विभिन्न श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए अटेंप्ट्स की संख्या निम्नलिखित है.

श्रेणी Attempts की संख्या
सामान्य (general)6
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC)9
SC/STअसीमित (unlimited)
PWD (general)9
Number of Attempts for UPSC (CSE)

नोट : सिर्फ फॉर्म भरने को अटेंप्ट नही माना जाता है, बल्कि प्रारंभिक परीक्षा के किसी भी एक पेपर में शामिल होने को attempt गिना जाता है.

UPSC Exam Pattern in Hindi

UPSC सिविल सेवा परीक्षा में दो परीक्षाएं होती है. प्रारंभिक परीक्षा (prelims) और मुख्य परीक्षा (mains).

मुख्य परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है.

  1. मुख्य लिखित परीक्षा
  2. इंटरव्यू

इंटरव्यू को पर्सनेलिटी (perdonality) टेस्ट भी कहा जाता है.

UPSC सिविल सेवा के प्रारंभिक परीक्षा (prelims) का एग्जाम पैटर्न

इसके प्रीलिम्स में दो पेपर होते हैं.

  1. General Studies I
  2. General Studies II

General Studies II के पेपर को CSAT भी कहा जाता है.

CSAT का फुल फॉर्म Civil Services Aptitude Test होता है.

इसमें सिर्फ General Studies I के पेपर में लाए गए अंको के आधार पर ही प्रीलिम्स का cut off तैयार किया जाता है.

General Studies II का पेपर सिर्फ क्वालीफाइंग मात्र होता है. इसमें क्वालीफाई करने के लिए न्यूनतम 33% अंक लाने होते हैं.

पेपर का नामप्रश्नों की संख्याकुल अंक
General Studies I100200
General Studies II80200
Exam Pattern of UPSC (CSE) Prelims

इस परीक्षा में सभी वस्तुनिष्ठ (objective type) प्रश्न होते हैं एवं इस परीक्षा की अवधि (duration) दो घंटे की होती है.

IAS Kaise Bane - OMR Sheet
OMR Sheet

इसके सभी प्रश्नों का उत्तर (answer) बहुत ही ध्यान से दें क्योंकि इसमें नेगेटिव मार्किंग का भी प्रबंध है. प्रत्येक गलत उत्तर पर ⅓ अंक काट (deduct) लिए जाते है, यानी के अगर आप तीन प्रश्नों का गलत उत्तर देंगे तो आपके 1 अंक कटेंगे.

प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्नपत्र में हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में प्रश्न लिखे होते है.

Prelims में लाया गया अंक फाइनल स्कोर में नहीं जुड़ता हैं.

इस परीक्षा का उद्देश्य सिर्फ मुख्य परीक्षा (mains) के लिए आयोग्य (ineligible) अभ्यर्थियों की छटनी करना होता है.

UPSC सिविल सेवा के मुख्य परीक्षा (mains) का एग्जाम पैटर्न

यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य लिखित परीक्षा में दो तरह के पेपर होते है.

  1. जो सभी के लिए समान हो
  2. ऑप्शनल सब्जेक्ट

इसमें कुल 9 पेपर होते हैं, जिसमें से 7 पेपर के अंक फाइनल स्कोर में जुड़ता है तथा 2 पेपर क्वालीफाइंग मात्र होता है.

पेपरविषयकुल अंक
Paper Aअनिवार्य भारतीय भाषा300
Paper Bअंग्रेजी 300
Paper Iनिबंध250
Paper IIGeneral Studies I250
Paper IIIGeneral Studies II250
Paper IVGeneral Studies III250
Paper VGeneral Studies IV250
Paper VIOptional I250
Paper VIIOptional II250
Exam Pattern of UPSC (CSE) Mains

इसमें सभी प्रश्न विवरणात्मक (descriptive) होते हैं, जिसकी अवधि 3 घंटे की होती है.

Paper A और Paper B (भारतीय भाषा एवं अंग्रेजी) सिर्फ क्वालीफाइंग मात्र होता है, यानी इसके अंक फाइनल स्कोर में नहीं जुड़ते हैं. लेकिन इसमें क्वालीफाई करना अनिवार्य होता है तभी आपके अन्य पेपर के अंको को जोड़ा जाता है.

Paper A में क्वालीफाई करने के लिए 25% अंक लाने होते हैं जबकि Paper B में क्वालीफाई करने के लिए 30% अंक लाने होते हैं.

इसमें कुल 1750 अंक में से आपका स्कोर निर्धारित किया जाता है. 

अभ्यर्थियों को सभी प्रश्नों के उत्तर यूपीएससी द्वारा प्रदान किए गए आंसरशीट पर देना होता है. अलग से कोई आंसरशीट नही मिलेगी.

UPSC सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू का पैटर्न

इंटरव्यू इस परीक्षा का फाइनल स्टेज होता है. इसमें आपका व्यक्तित्व (personality), समस्या समाधान कौशल (problem solving skill), रवैया (attitude), नैतिकता (moral integrity), आदि को परखा जाता है.

इंटरव्यू कुल 275 अंक का होता है.

Interview in UPSC IAS Exam
IAS Interview

मुख्य लिखित परीक्षा और इंटरव्यू में लाए गए अंको को जोड़कर फाइनल स्कोर निर्धारित किया जाता है, यानी अधिकतम [1750 + 275] 2025 अंक में से.

लगभग टॉप 100 रैंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों को IAS की सेवा मिलती है.

ये भी पढ़ें > UPSC सिविल सेवा परीक्षा (Prelims & Mains) का पाठ्यक्रम (syllabus)

IAS ki Training Kaise Hoti Hai

जब आप UPSC सिविल सेवा परीक्षा में अच्छे रैंक ले आते है तो आपको IAS पद के लिए चुना जाता है. चूंकि ये बहुत बड़ा पद है, इस पद पर रह कर आपको बहुत बड़ी-बड़ी जिम्मेदारी निभानी होती है. इसलिए इन आनेवाले जिम्मेदारियों को अच्छे से निभाने के लिए आपको पहले से ट्रेनिंग देकर तैयार किया जाता है.

IAS की ट्रेनिंग के लिए आपको लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (LBSNAA) जाना होता है, जो मसूरी (उत्तराखंड) में स्थित है.

आईएएस की ट्रेनिंग में पहले 3 महीने का फाउंडेशन कोर्स होता है जिसके अंतर्गत आपको कुछ खास शारीरिक (physical) और मानसिक (mental) गतिविधि कराई जाती है. इसके अलावा गाँव की जिंदगी और समस्याओं को अच्छे से समझने के लिए सिविल सेवा अधिकारी को 7 दिन गाँव में रहना होता है.

फाउंडेशन ट्रेनिंग के बाद आईएएस अधिकारी की प्रोफेशनल ट्रेनिंग शुरू होती है. इस ट्रेनिंग के दौरान प्रशासन (administration) और शासन (governance) के हर सेक्टर की जानकारी दी जाती है. इसमें देश के प्रसिद्ध विशेषज्ञ और वरिष्ठ अधिकारी क्लास लेने आते है.

प्रोफेशनल ट्रेनिंग में आपको स्थानीय लोगों की बातों को समझने के लिए स्थानीय भाषा भी सिखाई जाती है. इसके अलावा इसमें 2 महीने की विंटर स्टडी टूर भी होती है, जिसे “भारत दर्शन” भी कहा जाता है. टूर के जरिए आपको भारत की विविधता को समझने का मौका मिलता है.

अंत में एक साल की ऑन जॉब प्रैक्टिकल ट्रेनिंग होती है. जिसके अंतर्गत हर ट्रेनी आईएएस को किसी एक जिले में ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है. जिसमें वहां के कलेक्टर के अंडर एक साल की ट्रेनिंग होती है.

Training पूरी होने के बाद किसी जगह आपकी पोस्टिंग की जाती है, जहां भी आपकी IAS के पद पर पोस्टिंग होगी वहां के आप IAS अधिकारी होंगे.

आइए अब जानते है कि आईएएस बनने के बाद आपको कौन-कौन से काम करने होते है (what is the work of IAS officer in hindi), आप पर क्या जिम्मेदारियां होती है और आपके पास कितना पावर होता है.

आईएएस का क्या काम होता है?

What is the duty of IAS officer in hindi

आईएएस का मुख्य काम जनता और सरकार के बीच मध्यवर्ती (mediator) के रूप में कार्य करना है. ये जब क्षेत्रीय पदों पर तैनात किए जाते है तब इनका काम (role and responsibilities of IAS officer in hindi) राजस्व (tax) को इकठ्ठा करना, केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों को जमीनी स्तर पर लागू करना, कानून और व्यवस्था बनाए रखना और क्षेत्र में सरकार के एजेंट के रूप में कार्य करना होता है.

इसके क्षेत्रीय पदों में मजिस्ट्रेट/ उप कलेक्टर, जिलाधिकारी (DM), अपर जिलाधिकारी, कमीशनर, आदि शामिल है.

IAS को अपने विभाग या संबंधित मंत्रालय के मिनिस्टर इन चार्ज के सलाह से नीति के निर्माण और इंप्लीमेंटेशन सहित सरकार के प्रशासन और डेली वर्क को संभालना होता है.

ऊपर बताए गए कामों के अलावा एक आईएएस ऑफिसर को आपातकाल स्थिति (emergency) के लिए भी हमेशा तैयार रहना होता है. किसी भी प्राकृतिक आपदा (जैसे बाढ़, तूफान) के नुकसान को कम करने के लिए रणनीति बनाना होता है. दंगा-फसाद (riots) जैसी भयावह स्थिति को नियंत्रण करना होता है. जिसके लिए आईएएस अधिकारी के पास ये पावर होती है की दंगा-फसाद वाले क्षेत्र और उसके निकटवर्ती क्षेत्र में धारा 144 यानी कर्फ्यू लगा सकते है.

UPSC की तैयारी कैसे करे

यूपीएससी परीक्षा को भारत की सबसे मुश्किल परीक्षा मानी जाती है. इसलिए इस परीक्षा में अच्छा रैंक लाने के लिए सिर्फ मेहनत करने से काम नहीं चलेगा, बल्कि मेहनत के साथ-साथ एक अच्छी रणनीति बनाकर इस परीक्षा की तैयारी करनी होगी. तो आइए UPSC की तैयारी से जुड़े कुछ टिप्स जानते हैं.

नियमित रूप से न्यूज पेपर पढ़ें

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी में न्यूज पेपर पढ़ने की बहुत ही अहम भूमिका है.

समाचार पत्र पढ़ने से आपको करेंट अफेयर्स की जानकारी रहती है, आपके सामान्य ज्ञान (GK) के भंडार में बढ़ोतरी होती है, आप नए-नए शब्द सीखते हैं, आदी.

Importance of Newspaper in UPSC IAS Preparation
English Newspaper

UPSC एग्जाम की तैयारी के लिए अंग्रेजी न्यूज पेपर में “The Hindu” सबसे अच्छा माना जाता है, वहीं हिंदी समाचार पत्र में “दैनिक भास्कर” बहुत उपयोगी है. इसलिए अपने दिनचर्या में इस न्यूज पेपर को पढ़ना शामिल कर लेना आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा.

Basic को मजबूत बनाएं

UPSC का पाठ्यक्रम समझ कर अपने बेसिक को मजबूत बनाएं. मूल अवधारणाओं को रटने के बजाय समझने पर ज्यादा ध्यान दें. बेसिक को मजबूत बनाने के लिए NCERT की किताब काफी उपयोगी है.

आप NCERT के ऑफिशियल वेबसाइट से इन किताबों को डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं.

अलग-अलग स्रोतों से तैयारी करें

IAS की तैयारी आप कोचिंग के माध्यम से भी कर सकते हैं और बिना कोचिंग के भी कर सकते हैं. ये पूरी तरह से आप पर और आपके हालात पर निर्भर करता है.

इस परीक्षा की तैयारी के लिए कई सारी उपयोगी किताबें मौजूद है. आप उसे पढ़ सकते हैं.

आईएएस के लिए किताब पढ़ने के अलावा आप YouTube पर लेक्चर देख सकते हैं, ब्लॉग (Blog) पोस्ट पढ़ सकते हैं, और आजकल तो telegram भी बहुत उपयोगी है यूपीएससी परीक्षा से जुड़ी अध्ययन सामग्री (study material) प्राप्त करने के लिए.

समय समय पर रिवीजन करें

पढ़ने के साथ-साथ उसका रिवीजन करना भी बहुत जरूरी है. किसी भी टॉपिक को पढ़ने के बाद उनसे जुड़े प्रश्न का खुद से उत्तर लिखने का प्रयास करें. इस तरह आपके पढ़े हुए का रिवीजन भी हो जाएगा और आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस भी हो जाएगी.

उत्तर लिखते समय शब्द सीमा और समय का खयाल रखें. ग्राफ, मानचित्र आदि बनाने का नियमित रूप से प्रैक्टिस करे.

तैयारी पूरी होने पर Mock Test दें

आपने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की पूरी तैयारी कर ली है पर अब आप अपनी तैयारी का आकलन कैसे करेंगे? तैयारी के आकलन के लिए मॉक टेस्ट सबसे अच्छा जरिया है.

आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से मॉक टेस्ट दे सकते हैं. कई सारे कोचिंग संस्थान मॉक टेस्ट और मॉक इंटरव्यू की सुविधा प्रदान करती है.

विस्तार से पढ़ें > UPSC की तैयारी कैसे करें? यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए किताब और टिप्स

IAS Officer Kaise Bane – FAQs

IAS ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है?

IAS ऑफिसर की बेसिक सैलरी 56,100 ₹ से शुरू होती है तथा 2,50,000 ₹ (कैबिनेट सेक्रेटरी) तक जाती है.

आईएएस बनने के लिए कितने घंटे पढ़ना चाहिए?

इसका कोई फिक्स आंसर नही है. लेकिन “UPSC Pathshala” के एक्सपर्ट के अनुसार आईएएस की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को 1 साल तक प्रतिदिन 4 घंटे अध्ययन करना चाहिए.

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2022 का नोटिफिकेशन कब आएगा?

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2022 का नोटिफिकेशन उनके ऑफिशियल वेबसाइट पर 02 फरवरी, 2022 को आएगा.

आईएएस एग्जाम में कैसे क्वेश्चन पूछे जाते हैं?

आईएएस के प्रारंभिक परीक्षा (prelims) में वस्तुनिष्ठ (objective type) प्रश्न पूछे जाते है, मुख्य परीक्षा (mains) में विवरणात्मक (descriptive) प्रश्न होते है, और वहीं इंटरव्यू में आपसे बौद्धिक क्षमता और समस्या समाधान कौशल परखने वाला प्रश्न पूछा जाता है.

Kya Government School ke Bachche IAS Ban Sakte hain?

हाँ, गवर्नमेंट स्कूल के बच्चे भी आईएएस बन सकते है. कई सारे आईएएस अधिकारी सरकारी स्कूल से पढ़ें हुए है. उन्हीं में से एक है हरियाणा राज्य के टिंट गांव (रेवाड़ी नगर) से डॉ पंकज. ये 2019 की यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में 56 रैंक प्राप्त कर आईएएस ऑफिसर बने हैं. इन्होंने 12वीं तक की शिक्षा अपने गांव से ही पूरी की हैं.

उम्मीद है कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको मालूम हो गया होगा कि IAS Officer Kaise Bane? अगर आईएएस अधिकारी बनने से जुड़ा आपका कोई प्रश्न है तो कॉमेंट में जरूर बताएं एवं जो लोग भी आईएएस बनना चाहते है उन तक ये पोस्ट शेयर करें.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

11 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Priya Gautam
Priya Gautam
6 months ago

Thanks 🙏

Swastika
6 months ago

Great article thanks for sharing this information

Rja
Rja
5 months ago

Thanks🙏 For This Information 😊 And ♥️You So Much

Grish tiwari
Grish tiwari
5 months ago

Thanks for the information

Suresh dewasi
Suresh dewasi
4 months ago

Muje English nhi àati he and me villager hu

sonu
4 days ago

nice info