IPS Kaise Bane? आईपीएस अधिकारी बनने के विषय में सम्पूर्ण जानकारी

भारत देश में लगभग हर एक पढ़े लिखे युवा का यही सपना होता है की उसे एक अच्छी सरकारी नौकरी मिल जाए. सरकारी नौकरी प्राप्त करना अपने आप में बहुत ही बड़ी बात होती है क्योंकि इस नौकरी के कई सारे लाभ एक उम्मीदवार को मिलते है तथा प्राइवेट नौकरी की भांति सरकारी नौकरी के छूट जाने का डर भी नही होता है. 

यदि हम बात करें सरकारी नौकरी की तो आईपीएस (IPS) जैसे बड़े पद का नाम इस सूची में सबसे ऊपर आता है. आज के इस लेख में हम IPS Kaise Bane इस विषय पर चर्चा करने वाले है.

आईपीएस कैसे बने यह सवाल हर उस युवा व्यक्ति के मन में आता है जो आईपीएस अधिकारी बनने का सपना देखते है. अतः आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से इसी बारे में आपको जानकारी देने वाले है की आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए कौन–कौन से महत्वपूर्ण लक्ष्यों को प्राप्त करना पड़ता है? 

हम Step By Step आपको सारी चीजें बताएंगे ताकि सभी आवश्यक बातें आपको अच्छे से समझ में आ सके. आईपीएस क्या है? आईपीएस कैसे बने? आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है? जैसे कई सारे सवालों के जवाब इस लेख में दिए जायेंगे.

लेख की शुरुआत करने से पहले से आपको यह बात जरूर अच्छे से जान लेनी चाहिए की यदि आप यह सोच रहे हो की आईपीएस ऑफिसर बनना आसान कार्य है तो आपका यह सोचना बिलकुल गलत है. 

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करनी होगी. इसका हर एक पड़ाव बहुत ही ज्यादा ज़रूरी है. आईपीएस ऑफिसर का पद बहुत ही ऊंचा होता है तथा इसकी परीक्षा बहुत ही ज्यादा कठिन होती है. लेकिन अगर आप वाकई में सच्ची मेहनत से आईपीएस ऑफिसर बनने के बारे में सोच रहे हो तो इस लेख में हमारे साथ अंत तक जरूर बने रहिएगा.

आईपीएस (IPS) क्या है?

भारतीय पुलिस प्रशासन में IPS के पद को पुलिस अधिकारियों के अन्य सभी पदों में से सबसे उच्च और सम्मानजनक माना जाता है. 

IPS Kaise Bane
IPS Officer Kaise Bane

एक आईपीएस अधिकारी का कार्यभार केवल राज्य स्तर या केंद्र स्तर तक सीमित नहीं होता है बल्कि राज्य सरकार और केंद्र सरकार के अनुरूप होने वाले समस्त कार्यों में आईपीएस ऑफिसर (IPS) की अहम भूमिका रहती है. 

IAS, IPS और IFS के लिए भारत में परीक्षा का आयोजन UPSC के द्वारा किया जाता है. IPS की परीक्षा (UPSC CSE) को भारत में सबसे कठिन सरकारी परीक्षाओं में से एक माना जाता है. 

UPSC का गठन वर्ष 1 अक्टूबर 1926 में किया गया था.

आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है (IPS Full Form in Hindi)

अधिकतर लोगों को आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है इसके बारे में जानकारी जरूर होगी लेकिन फिर भी जिनको यह पता नही है की IPS Full Form in Hindi क्या है उनको बताना चाहेंगे की Indian Police Service ही IPS का फुल फॉर्म हैं. जिसे हिंदी में भारतीय पुलिस सेवा कहा जाता है. 

जैसा की हमने आपको बताया की आईपीएस की परीक्षा बहुत ही ज्यादा कठिन होती है इसलिए यदि आप आईपीएस बनने की तैयारी करना चाहते हो तो 10वीं या 12वीं कक्षा से ही IPS बनने की तैयारी शुरू कर दें. 

एक IPS Officer क्या कार्य करता हैं?

आईपीएस कैसे बने यह जानने से पूर्व आपको इस बारे में जरूर जानकारी होनी चाहिए की एक आईपीएस अधिकारी क्या क्या कार्य करता है? इसके बारे में हमने नीचे जानकारी आपको दी है.

  • समाज में कानून का पालन हो रहा है या नही इस बात पर नजर रखने और सामाजिक व्यवस्था को बनाए रखने के लिए आईपीएस ऑफिसर की अहम भूमिका होती है.
  • उच्च स्तर पर सामाजिक दुर्घटनाओं से समाज में रहने वाले लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी आईपीएस अधिकारी की होती है.
  • बड़े बड़े कुख्यात अपराधियों को सलाखों के पीछे डालने का कार्य आईपीएस अधिकारी का होता है.
  • यातायात से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए एक आईपीएस ऑफिसर ही जिम्मेदार होता है.
  • समाज के विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे गैर कानूनी कार्यों (चोरी, तस्करी, लूट पाट, शराबी धंधे) की रोकथाम के लिए आईपीएस अधिकारी को ही नियुक्त किया जाता है.
  • अनुभवी आईपीएस अधिकारियों को आवश्यकता पड़ने पर IB, CBI, RAW जैसे संगठन के साथ कार्य करने के लिए नियुक्त किया जाता है. इसके अवाला BSF, CRPF और ITBP के साथ मिलकर उनका नेतृत्व करने का कार्यभार आईपीएस अधिकारी को ही दिया जाता है.

यह रहे एक आईपीएस अधिकारी के कुछ मुख्य कार्य. इन सभी कार्यों के अलावा अन्य कई सारे काम है जो एक आईपीएस अधिकारी को अपनी सेवा के दौरान करने पड़ते है.

आईपीएस (IPS) ऑफिसर बनने के लिए कौन–कौन सी योग्यताएं होनी चाहिए?

एक आईपीएस अधिकारी बनने के लिए ऐसी कई सारे बातें है जिनको ध्यान में रखना बेहद ही जरूरी होता है. आईपीएस अधिकारी बनने के लिए शैक्षिक योग्यता, राष्ट्रीयता, आयु और शारीरिक मापदण्ड इन चारों चीजों को ध्यान में रखना बहुत ही जरूरी है क्योंकि इसी के आधार पर आप आगे जाके आईपीएस की परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हो. 

हमने इन सभी चार मापदंडों के बारे में विस्तार से नीचे जानकारी दी है. इन जानकारियों को ध्यान से पढ़ें.

A) शैक्षणिक योग्यता

कई सारे विद्यार्थियों के मन में यह बात जरूर आती है की यदि वह एक आईपीएस ऑफिसर बनना चाहते है तो शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए? 

यहां हम आपको बताना चाहेंगे की सबसे पहले तो आपको किसी भी सरकारी या फिर प्राइवेट स्कूल से अपनी 12वीं की परीक्षा को किसी भी विषय में अच्छे अंकों के साथ पास करना है. 

इसके बाद जैसे ही आप किसी महाविद्यालय में दाखिला लेते हो तो वहां भी आपको किसी भी विषय में अपनी शिक्षा को स्नातक डिग्री के साथ पूरा करना होगा. सिर्फ आईपीएस ही नही बल्कि अन्य किसी भी उच्च सरकारी नौकरी के लिए यही मापदंड जरूरी है.

B) राष्ट्रीयता

भारत में किसी भी सरकारी नौकरी और आईपीएस की परीक्षा में सफलता पूर्वक बैठने के लिए एक व्यक्ति के पास भारत की नागरिकता जरूर होनी चाहिए. 

अर्थात उसका आधार कार्ड भारत का होना चाहिए तथा उसका पता भी पूर्ण रूप से भारत का होना चाहिए तभी जाके वह आईपीएस अधिकारी बनने के लिए परीक्षा दे सकता है.

C) आयु सीमा

Category (श्रेणी)Age Limit (आयु सीमा)Attempts (प्रयास)
General21 से 32 वर्ष6 Attempts (प्रयास)
OBC21 to 35 वर्ष  (+3 Year Relaxation (+3 वर्ष की राहत)9 Attempts (प्रयास)
SC/ST21 to 37 (+ 5 Year Relaxation (+5 वर्षा की राहत )No Limit (कोई सीमा नहीं)
Age Limit for IPS

D) शारीरिक योग्यता

शारीरिक योग्यता भी एक आईपीएस अधिकारी बनने के लिए महत्वपूर्ण है. शारीरिक योग्यता को भी तीन श्रेणी में विभाजित किया गया है. यह तीन श्रेणी है:

  1. ऊंचाई
  2. छाती
  3. नेत्र दृष्टि

इन तीनों के भी अलग अलग मापदंड है जिनके बारे में नीचे जानकारी दी गई है.

1) ऊंचाई

हमने यहां नीचे लड़कों और लड़कियों की लंबाई यानी की ऊंचाई के बारे में जानकारी दी है की आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए यदि आप अप्लाई करना चाहते हो तो क्या मापदंड है हाइट के.

  • सामान्य वर्ग की श्रेणी में आने वाले लड़कों के लिए आवश्यक ऊंचाई 165 सेमी (5 फीट 5 इंच) जबकि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा ओबीसी के लिए यह सीमा 160 सेमी (5 फीट 4 इंच) रखी गई है.
  • सामान्य श्रेणी में आने वाली लड़कियों के जरूरी ऊंचाई 150 सेमी (4 फीट 12 इंच) तय की गई है और SC/ST तथा OBC वर्ग की लड़कियों के आवश्यक ऊंचाई 145 सेमी (4 फीट 9 इंच) है.

2) छाती 

आईपीएस जैसे बड़े पोस्ट को प्राप्त करने के लिए शारीरिक योग्यता के अनुरूप छाती की चौड़ाई को भी ध्यान में रखा जाता है. पुरुष और महिला के लिए यह सीमा अलग अलग तय की गई है जिसकी जानकारी नीचे दी गई हैं.

  • पुरुष उम्मीदवारों के लिए आईपीएस में छाती की चौड़ाई की सीमा 84 सेमी तय की गई है.
  • महिला उम्मीदवारों के लिए आईपीएस में छाती की चौड़ाई की सीमा 79 सेमी रखी गई है.

3) नेत्र दृष्टि

नेत्र दृष्टि का भी बिल्कुल सही होना भी आईपीएस अधिकारी के लिए बेहद जरूरी है. इसकी जानकारी नीचे गई है:

  • पूर्णतः स्वस्थ आंखों के लिए 6/6 या 6/9 की दृष्टि होना जरूरी है.
  • सबसे खराब आंखों के लिए 6/9 या 6/12 की दृष्टि होना जरूरी है.

IPS Kaise Bane? आईपीएस बनने के लिए आवश्यक चरण कौन–कौन से हैं?

आईपीएस क्या हैं? आईपीएस का फुल फॉर्म क्या है? आईपीएस बनने के आवश्यक योग्यताएं क्या होनी चाहिए? यह सारी चीज़ें आपको अच्छे से समझा दी गई है. अब हम सबसे मुख्य प्रश्न IPS Kaise Bane (आईपीएस कैसे बने) का जवाब आपको देने वाले है. 

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए जो भी आवश्यक चरण है उनकी जानकारी आपको निम्नलिखित रूप में दी गई हैं:

1. परीक्षा के लिए आवेदन करें

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए सभी योग्यताएं (शैक्षणिक, आयु, शारीरिक, राष्ट्रीयता) यदि आपके अंदर है तो आपको अब आईपीएस की परीक्षा के लिए आवेदन करना है. 

जैसा की हमने बताया की आईपीएस परीक्षा का आयोजन UPSC द्वारा करवाया जाता हैं. अतः अब आपको UPSC के ऑफिशियल वेबसाइट upsc.gov.in पर जाके परीक्षा के लिए आवेदन करना है. 

आप खुद भी आवेदन कर सकते हो और यदि कोई परेशानी आती है, तो आप साइबर कैफे में जाके भी आवेदन का कार्य करवा सकते हो. 

आईपीएस परीक्षा का आयोजन यूपीएससी द्वारा किया जाता है. इसलिए परीक्षा का पैटर्न आईएएस परीक्षा के समान तीन चरणों में विभक्त होता है. 

नीचे बताए गए तीनों चरणों को जब कोई उम्मीदवार सफलता पूर्वक पास कर लेता है तो वह आईपीएस अधिकारी बनने के लिए योग्य हो जाता है:

  1. प्रारंभिक परीक्षा(preliminary exam)
  2. मुख्य परीक्षा(main exam)
  3. साक्षात्कार (interview)

2. प्रारंभिक परीक्षा पास करें

आईपीएस अधिकारी बनने के लिए सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा को पास करना जरूरी है. इसे Qualifying Exam भी कहते है. 

आईपीएस बनने के लिए इस परीक्षा का आयोजन हर साल जून या अगस्त के महीने में होता है. जैसे ही प्रारंभिक परीक्षा पूरा हो जाता है तो कुछ महीने बाद इसका परिणाम भी घोषित कर दिया जाता है. 

प्रारंभिक परीक्षा के तहत दो (2) पेपर उम्मीदवार को देने पड़ते है जो की 200–200 अंकों यानी की कुल 400 अंकों का होता है.

दोनो पेपर में Objective Type प्रश्न पूछें जाते है जिसका अर्थ है की एक प्रश्न के लिए आपके पास 4 ऑप्शन दिए गए होंगे जिसमे से आपको सही जवाब को चुनना है. 

इस परीक्षा में Negative Marking भी की जाती है यानी की यदि आपका जवाब गलत हुआ तो नंबर काट लिए जाते है. 

प्रश्न पत्र उम्मीदवार को हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध करवाया जाता है. जब एक उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा को सफलता पूर्वक पास कर लेता है तभी जाके वह मुख्य परीक्षा में बैठ सकता है.

3. मुख्य परीक्षा पास करें

प्रारंभिक परीक्षा पास कर लेने के बाद अब उम्मीदवार को मुख्य परीक्षा में बैठने का मौका मिल जाता है. 

मुख्य परीक्षा में कुल 9 परीक्षा आयोजित की जाती है जिसमे से 7 पेपर मेरिट के होते है जबकि 2 पेपर भाषा के होते है. 

इन पेपरों में 2 प्रकार के प्रश्न पूछें जाते है जिनमे पहला वैकल्पिक और दूसरा निबंधात्मक प्रश्न होते हैं. मुख्य परीक्षा साल में आखिरी 4 महीनों में किसी भी महीने आयोजित की जा सकती है. 

जब मुख्य परीक्षा को उम्मीदवार द्वारा पास कर लिया जाता है तो उसे आखिर में साक्षात्कार (Interview) के लिए बुलाया जाता है.

4. साक्षात्कार पास करें

आखिर में इंटरव्यू के लिए उम्मीदवार को बुलाया जाता है. आईपीएस बनने का यह आखिरी चरण होता है, जिसमे UPSC के अनुभवी और प्रशिक्षित अधिकारियों द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछें जाते हैं. 

लगभग 45 मिनिट तक चलने वाले इस इंटरव्यू के कुल 275 अंक दिए जाते है. इस इंटरव्यू में न सिर्फ प्रश्न पूछें जाते है बल्कि उम्मीदवार के आचार व्यवहार, व्यक्तित्व (personality), खुद पर भरोसा है या नही, खुद को दूसरों के सामने प्रस्तुत करने की क्षमता आदि को अधिकारियों द्वारा परखा जाता है.

5. आईपीएस की ट्रेनिंग करें

अंत में जब आईपीएस परीक्षा से लेकर इंटरव्यू तक सारा कार्य संपन्न हो जाता है और जब उम्मीदवार इंटरव्यू में पूर्णतः पास हो जाता है तो उसे IPS की ट्रेनिंग के लिए बुलाया जाता है. 

लगभग 3 साल तक चलने वाली इस आईपीएस की ट्रेनिंग में एक IPS Officer को पुलिस और प्रशासन से जुड़े हर एक पहलू से अवगत करवाया जाता है. 

जब उम्मीदवार ट्रेनिंग भी पूरी कर लेता है तो 3 साल बाद उसकी आखिकारकर आईपीएस पद पर नियुक्ति की जाती है.

IPS Kaise Bane? IPS Officer बनने के लिए तैयारी कैसे करें?

आईपीएस बनने के लिए आईपीएस की परीक्षा पास तो करनी पड़ती है लेकिन इससे पहले जरूरी होता है आईपीएस परीक्षा की तैयारी करना. आप आईपीएस बन पाओगे या नही यह अधिकतर निर्भर इस बात पर करती है की आपने तैयारी कैसे की है? हमने यहां कुछ ऐसे Points आपके साथ शेयर किए है जिनको पढ़ने के बाद आपको IPS की तैयारी करने में आसानी हो जायेगी.

  • सबसे पहले तो आपको किसी भी महाविद्यालय (College) से किसी भी विषय में अपना ग्रेजुएशन पूरा करना होगा और डिग्री हासिल करना होगा. एक उम्मीदवार चाहे तो अपने ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में ही परीक्षा के लिए आवेदन कर सकता है लेकिन IPS बनने से पूर्व उसके लिए डिग्री हासिल करना अनिवार्य हैं.
  • आईपीएस अधिकारी बनने के लिए अपने विषय से सबंधित चीजें तो पढ़नी ही पड़ती है लेकिन इसके अलावा करेंट अफेयर्स के बारे में भी जानकारी होना अति आवश्यक हैं क्योंकि परीक्षा में इस प्रकार के प्रश्न भी पूछें जाते है. करेंट अफेयर्स के लिए एक उम्मीदवार को समाचार पत्र, मैगजीन, ब्लॉग आदि पढ़ना चाहिए. सामान्य ज्ञान के बारे में भी जानकारी जरूर होनी चाहिए.
  • जैसा की आपको पता है की आईपीएस की परीक्षा काफी ज्यादा कठिन होती है ऐसे में जरूरी है की उम्मीदवार अच्छे से अपने विषय को समझकर उसकी तैयारी करें. कड़ी मेहनत के साथ स्मार्ट वर्क भी करें. कहने का अर्थ है की चीजों को समझकर आगे बढ़े.
  • इन सबके साथ विद्यार्थी को समय सारणी जरूर बनाना चाहिए और उसके अनुसार ही बारी बारी से सभी विषय को पढ़ना चाहिए. ऐसा बिलकुल भी न करें की आप एक ही विषय को घंटों भर तक पढ़ते रहें और दूसरे विषयों पर ध्यान ही न दें.
  • पिछले कुछ वर्षों में जो भी आईपीएस की परीक्षा आयोजित हुई है उनके प्रश्न पत्र को जरूर पढ़ना चाहिए और देखना चाहिए की किस तरह से प्रश्न पूछें गए है. उन प्रश्न पत्र को खुद से ही सुलझाने का प्रयास करना चाहिए.
  • यूट्यूब पर कई सारे चैनल मिल जायेंगे जहां से आप IPS की तैयारी कर सकते हो. जी हां, काफी सारे ऐसे चैनल है जो आईपीएस की परीक्षा की तैयारी अपने चैनल के द्वारा करवाते है. 
  • साथ ही आप किसी विख्यात कोचिंग सेंटर को ज्वाइन कर सकते हो जहां पर आपको आईपीएस से संबंधित कोचिंग दी जायेगी. इसके अलावा ऑनलाइन कोचिंग क्लास भी आप लगवा सकते हो.
  • Mock Test पर भी ध्यान जरूर दें क्योंकि इससे आपके पेपर हल करने की गति में इजाफा होगा.

यह रही वह सारी चीजें जिनको ध्यान मे रखते हुए आपको आईपीएस अधिकारी बनने के लिए तैयारी करनी है.

IPS Exam Syllabus in Hindi

जैसा की हमने बताया की IPS अधिकारी के परीक्षा के दो पड़ावों को आपको पार करना होता है. अतः आपके लिए जरूरी है की आपको IPS Exam Syllabus के बारे में जानकारी तो जरुर होनी चाहिए. इसलिए हमने प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा के पाठ्यक्रमों की जानकारी नीचे आपको दी है.

IPS प्रारंभिक परीक्षा का पैटर्न और पाठ्यक्रम

प्रारंभिक परीक्षा के अंतर्गत उम्मीदवार को दो परीक्षाएं देनी पड़ती है और प्रत्येक पेपर के लिए 2–2 घंटे दिए जाते है. यह दोनों 200–200 अंकों के Objective Type पेपर होते है.

प्रारंभिक परीक्षा पेपर -1प्रारंभिक परीक्षा पेपर-2
देश और विदेश की वर्तमान घटनाएंComprehension
भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहासपारस्परिक और संचार कौशल
भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय भूगोलतार्किक और विश्लेषणात्मक कौशल
वित्तीय और सामाजिक विकाससामान्य मानसिक योग्यता
राजनीति और शासननिर्णय लेने और समस्याओं को हल करने की क्षमता.
पर्यावरण की वर्तमान गतिविधियाँसामान्य गणित (10वींं स्तर का गणित)
IPS Exam Syllabus in Hindi

IPS मुख्य परीक्षा का पैटर्न और पाठ्यक्रम

आईपीएस की मुख्य परीक्षा में उम्मीदवार को 9 पेपर देने पड़ते है जिनमे से दो पेपर भाषा के होते है. इन दोनों से एक भाषा उम्मीदवार चुन सकता है और दूसरी भाषा जो की अंग्रेजी होती है वह अनिवार्य होती है.

पेपरअधिकतम अंक
एक निबंध प्रकार का पेपर200 अंक
एक भारतीय भाषा क्वालीफाइंग पेपर300 अंक
एक अंग्रेजी क्वालीफाइंग पेपर300 अंक
दो सामान्य अध्ययन पेपर300 अंक
चार वैकल्पिक विषय का पेपर300 अंक
IPS Exam Syllabus in Hindi

IPS Kaise Bane – FAQs 

आईपीएस के लिए कौन सी डिग्री चाहिए?

यदि आप एक आईपीएस अधिकारी बनने के बारे में सोच रहे हो और आपके मन में यह सवाल है की आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कौन सी डिग्री चाहिए तो हम बताना चाहेंगे की आप किसी भी यूनिवर्सिटी/कॉलेज से किसी भी विषय में स्नातक डिग्री हासिल कर सकते हो.

आईपीएस बनने के लिए 12वीं में कितने परसेंट चाहिए?

आईपीएस बनने से पहले आपको ग्रेजुएशन करने की जरूरत होती है तथा ग्रेजुएशन के लिए आपको 12वीं में 50% या उससे अधिक परसेंट नंबर तो जरूर चाहिए ताकि आप किसी अच्छे से कॉलेज/यूनिवर्सिटी में दाखिला ले पाओ.

आईपीएस की तैयारी कौन सी क्लास के बाद की जाती है?

अगर आप आईपीएस बनना चाहते हो तो इसकी तैयारी आपको 10वीं कक्षा के बाद से ही शुरू कर देनी चाहिए.

क्या मैं 12वीं के बाद आईपीएस (IPS) ज्वाइन कर सकता हूं?

जी नही, 12वीं के बाद तुरंत आईपीएस ज्वाइन नही किया जा सकता हैं. आईपीएस ज्वाइन करने के लिए पहले आपको किसी भी विषय में किसी यूनिवर्सिटी/कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरा करना होगा.

आईपीएस कैसे बनें? आईपीएस क्या है? आईपीएस ऑफिसर बनने ने लिए आवश्यक योग्यताएं क्या है? जैसे अन्य कई सारे सवालों के जवाब आज के इस आर्टिकल में दिए गए हैं. 

यदि आप IPS Kaise Bane के बारे में जानना चाहते हो तो आपको यह लेख आखिर तक जरूर पढ़ना चाहिए और यदि आपने इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ा होगा तो हम यही उम्मीद करते है की आपको सारी चीजें अच्छे से समझ में आ चुकी होंगी. 

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आए तो इस आर्टिकल को शेयर जरूर करें.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments