JEE Main Kya Hai? जानें जेईई मेन का परीक्षा पैटर्न और पाठयक्रम

जो विद्यार्थी इंटर (12th) विज्ञान (PCM) से किए होंगे या कर रहे है उसने एक न एक बार तो जरूर जेईई मेन (JEE Main) का नाम सुना होगा। अगर आपको नही पता कि JEE Main kya hai? और इस साल JEE Main ka syllabus क्या है? तो इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

इंटर (12th) में जो भी विद्यार्थी विज्ञान (PCM) चुनते है। उनमें से ज्यादातर विद्यार्थियों का सपना होता है कि वह किसी अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज से इंजीनियरिंग कर एक अच्छा इंजीनियर बने क्योंकि इंजीनियरिंग आज भी अच्छे करियर में से एक है। और उनका ये सपना पुरा करता जेईई मेन परीक्षा में लाया गया अच्छा रैंक।

अच्छा रैंक लाने के लिए जरूरी हैं कि आपको अच्छे से पता हो कि JEE Main kya hai? और अगर आप इस साल जेईई मेन (JEE Main) की परीक्षा देने वाले है तो आपको ये भी पता होनी चाहिए के JEE Main ki taiyari kaise kare?

JEE Main Kya Hai?

JEE Main एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है, जिसके माध्यम से आपको IITs, NITs, आदि जैसे प्रतिष्ठित टेक्निकल इंस्टीट्यूट में B.E./ B.tech, B.Arch एवं B.Planning कोर्स करने का मौका मिलता है.

JEE Main का फुल फॉर्म Joint Entrance Examination – Main होता है.

ये परीक्षा राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) प्रत्येक साल आयोजित करवाती है.

जेईई मेन के रैंक के आधार पर आप नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी (NITs), इंडियन इंस्टीट्यूट्स ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी

(IIITs) और अन्य सेंट्रेली फंडेड टेक्निकल इंस्टीट्यूशंस (CFTIs)
आदि में नामांकन (Admission) ले सकते है।

आप अगर इंडियन इंस्टीट्यूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी (IITs) में नामांकन लेना चाहते है तो आपको जेईई मेन की परीक्षा पास करने के बाद जेईई एडवांस (JEE Advance ) कि भी परीक्षा पास करनी होगी।

जेईई एडवांस कि परीक्षा सिर्फ जेईई मेन के टॉप 2.5 लाख क्वालीफायर (Qualifier) ही दे सकते है।

JEE Main kya hai


जेईई मेन कि परीक्षा साल में सिर्फ दो बार आयोजित होती है: जनवरी और अप्रैल में। लेकिन पिछले साल (2021) यह परीक्षा साल में चार बार आयोजित हुई थी: फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई में।

ये भी पढ़े > UPSC_संघ लोक सेवा आयोग (सिविल सर्विस) परीक्षा की संपूर्ण जानकारी

जेईई मेन के लिए पात्रता [Eligibility Criteria]

JEE Main kya hai? जान लेने के बाद आइए अब जेईई मेन के लिए योग्यता भी जान लेते हैं. नीचे JEE Main ke liye qualification, आयु सीमा और विषय के बारे में बताया जा रहा है.

JEE Main Ke Liye Qualification

JEE Main परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं या समतुल्य (equivalent) पिछले दो सालों (2020 & 2021) के अंदर पास होना अनिवार्य है. इसके अलावा वो अभ्यर्थी भी इस परीक्षा में शामिल हो सकते है जो इस साल 12वीं या समतुल्य की परीक्षा देने वाले है. 

अगर आपका सवाल ये है कि JEE Main के लिए 12वीं या समतुल्य में कौन सा विषय होना चाहिए तो इसका जवाब है कि अलग-अलग कोर्स के लिए अलग-अलग विषय की कंडीशन होती है. जो आपको नीचे की तालिका (table) में बताया जा रहा है.

कोर्सअनिवार्य विषय
B.E./B.Techफिजिक्स, मैथेमेटिकस के साथ कोई अन्य विषय*
B.Archमैथेमेटिकस, फिजिक्स एवं केमिस्ट्री
B.Planningमैथेमेटिकस
Mandatory Subjects

* केमिस्ट्री, बायोलॉजी, बायोटेक्नोलॉजी या टेक्निकल वोकेशनल विषय में से कोई एक.

जेईई मेन के लिए आयु सीमा

जेईई मेन के लिए अभी तक कोई आयु सीमा नहीं निर्धारित किया गया है.

JEE Main ka Paper Kaisa Hota Hai?

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (National Testing Agency_NTA) ने जेईई मेन (JEE Main) 2021 के लिए नई एग्जाम पैटर्न जारी की है। इस एग्जाम पैटर्न के अनुसार इस परीक्षा में तीन पेपर शामिल होंगे और तीनों पेपरों के लिए अलग परिक्षाएं आयोजित कराई जाएगी। इन तीनों पेपर का पैटर्न नीचे दिया जा रहा है:

  1. Paper – 1 (B.E./B.Tech.)
  2. Paper – 2A (B.Arch)
  3. Paper – 2B (B.Planning)
पेपरप्रश्नकुल अंक
पेपर – 175300
पेपर – 2A82400
पेपर – 2B105400
JEE Main Exam Pattern

ये परीक्षा ऑनलाइन कंप्यूटर बेस्ड (CBT) मोड में होगा. इसके प्रत्येक पेपर के लिए 3 घंटे की अवधि (duration) होगी. आप ये परीक्षा निम्नलिखित 13 भाषाओं में दे सकते हैं:

  1. इंग्लिश
  2. हिंदी
  3. असमिया 
  4. बंगाली
  5. गुजराती
  6. कन्नड़
  7. मराठी
  8. मलयालम
  9. उड़िया
  10. पंजाबी
  11. तमिल
  12. तेलुगु
  13. उर्दू

इसमें प्रश्न बहुविकल्पीय (MCQs), न्यूमेरिकल तथा ड्राइंग (सिर्फ B.Arch के लिए) के प्रकार के रहते हैं. तथा जेईई मेन में प्रत्येक सही उत्तर के लिए 4 अंक मिलते हैं वहीं प्रत्येक गलत उत्तर पर 1 अंक काट लिए जाते है.

JEE Main Ka Syllabus

Paper – 1 (B.E./B.Tech.) के लिए JEE Main ka Syllabus


MATHEMATICS

  • सेट्स, रिलेशंस एंड फंक्शंस
  • कॉम्प्लेक्स नंबर्स एंड क्वाड्रेटिक इक्वेशंस
  • मैट्रिसेज एंड डिटर्मिनानट्स
  • प्रमोटेंशंस एंड कांबिनेशंस
  • बायनॉमियल थ्योरम एंड इट्स सिंपल एप्लीकेशंस
  • सीक्वेंस एंड सीरीज
  • लिमिट कंटिन्यूटी एंड डिफरेंटशिएबिलिटी
  • इंटीग्रल कैलकुलस
  • डिफरेंशियल इक्वेशंस
  • कोऑर्डिनेट ज्योमेट्री
  • थ्री डाइमेंशनल ज्योमेट्री
  • वेक्टर अलजेब्रा
  • स्टैटिसटिक्स एंड प्रोबेबिलिटी
  • ट्रिगोनोमेट्री
  • मैथमेटिकल रीजनिंग

PHYSICS

Section – A
  • फिजिक्स एंड मेजरमेंट
  • काइनमैटीक्स
  • लॉस ऑफ मोशन
  • वर्क, एनर्जी एंड पावर
  • रोटेशनल मोशन
  • ग्रेविटेशन
  • प्रॉपर्टीज आफ सॉलिड्स एंड लिक्विड्स
  • थर्मोडायनेमिक्स
  • काइनेटिक थ्योरी ऑफ़ गैसेस
  • ऑक्सीलेशन एंड वेब्स
  • इलेक्ट्रोस्टेटिक्स
  • करंट इलेक्ट्रिसिटी
  • मैग्नेटिक इफेक्ट आफ करंट एंड मैग्नेटिज्म
  • इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन एंड अल्टरनेटिंग करंट
  • इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव्स
  • ऑप्टिक्स
  • डुएल नेचर आफ मैटर एंड रेडिएशन
  • एटम्स एंड न्यूक्लेई
  • इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज
  • कम्युनिकेशन सिस्टम्स
Section – B
  • एक्सपेरिमेंटल स्किल्स

CHEMISTRY

Section – A : Physical Chemistry
  • सम बेसिक कॉन्सेप्ट्स इन केमेस्ट्री
  • स्टेट्स ऑफ मैटर
  • एटॉमिक स्ट्रक्चर
  • केमिकल बॉन्डिंग एंड मॉलेक्युलर स्ट्रक्चर
  • केमिकल थर्मोडायनेमिक्स
  • सलूशन
  • एकविलीब्रियम
  • रिडक्स रिएक्शंस एंड इलेक्ट्रो केमिस्ट्री
  • केमिकल काइनेटिक्स
  • सरफेस केमिस्ट्री
Section – B
  • क्लासिफिकेशन ऑफ एलिमेंट्स एंड प्रिडिसिटी इन प्रॉपर्टीज
  • जनरल प्रिंसिपल्स एंड प्रोसेस ऑफ आइसोलेशन ऑफ मेटल्स
  • हाइड्रोजन
  • s-block एलिमेंट्स (अल्कली एंड अल्कलाइन अर्थ मेटल्स)
  • पी ब्लॉक एलिमेंट्स
  • डी एंड एफ ब्लॉक एलिमेंट्स
  • कोऑर्डिनेशन कंपाउंड्स
  • एनवायरमेंटल केमेस्ट्री
Section – C : Organic Chemistry
  • यूनिफिकेशन एंड कैरक्टराइजेशन आफ ऑर्गेनिक कंपाउंड्स
  • सम बेसिक प्रिंसिपल्स आफ ऑर्गेनिक केमेस्ट्री
  • हाइड्रोकार्बंस
  • ऑर्गेनिक कंपाउंड्स कंटेनिंग हैलोजन
  • ऑर्गेनिक कंपाउंड्स कंटेनिंग ऑक्सीजन
  • ऑर्गेनिक कंपाउंड्स कंटेनिंग नाइट्रोजन
  • पॉलीमर्स
  • बायोमोलीक्यूलिस
  • केमेस्ट्री इन एवरीडे लाइफ
  • प्रिंसिपल्स रिलेटेड टू प्रैक्टिकल केमेस्ट्री

Paper – 2A (B.Arch) के लिए JEE Main Ka Syllabus

Part – 1 : MATHEMATICS

  1. सेट्स, रिलेशंस एंड फंक्शंस
  2. कॉम्प्लेक्स नंबर्स एंड क्वाड्रेटिक इक्वेशंस
  3. मैट्रिसेज एंड डिटर्मिनानट्स
  4. प्रमोटेंशंस एंड कांबिनेशंस
  5. बायनॉमियल थ्योरम एंड इट्स सिंपल एप्लीकेशंस
  6. सीक्वेंस एंड सीरीज
  7. लिमिट कंटिन्यूटी एंड डिफरेंटशिएबिलिटी
  8. इंटीग्रल कैलकुलस
  9. डिफरेंशियल इक्वेशंस
  10. कोऑर्डिनेट ज्योमेट्री
  11. थ्री डाइमेंशनल ज्योमेट्री
  12. वेक्टर अलजेब्रा
  13. स्टैटिसटिक्स एंड प्रोबेबिलिटी
  14. ट्रिगोनोमेट्री
  15. मैथमेटिकल रीजनिंग

Part – 2 : APTITUDE

  • अवेयरनेस ऑफ पर्सन बिल्डिंग्स एंड मैटेरियल्स
  • थ्री डाइमेंशनल

Part – 3 : Drawing

  • ड्राइंग

Paper – 2B (B.Planning) के लिए JEE Main Ka Syllabus

Part – 1 : MATHEMATICS

  • सेट्स, रिलेशंस एंड फंक्शंस
  • कॉम्प्लेक्स नंबर्स एंड क्वाड्रेटिक इक्वेशंस
  • मैट्रिसेज एंड डिटर्मिनानट्स
  • प्रमोटेंशंस एंड कांबिनेशंस
  • बायनॉमियल थ्योरम एंड इट्स सिंपल एप्लीकेशंस
  • सीक्वेंस एंड सीरीज
  • लिमिट कंटिन्यूटी एंड डिफरेंटशिएबिलिटी
  • इंटीग्रल कैलकुलस
  • डिफरेंशियल इक्वेशंस
  • कोऑर्डिनेट ज्योमेट्री
  • थ्री डाइमेंशनल ज्योमेट्री
  • वेक्टर अलजेब्रा
  • स्टैटिसटिक्स एंड प्रोबेबिलिटी
  • ट्रिगोनोमेट्री
  • मैथमेटिकल रीजनिंग

Part – 2 : APTITUDE

  • अवेयरनेस ऑफ पर्सन बिल्डिंग्स एंड मैटेरियल्स
  • थ्री डाइमेंशनल

Part – 3 : PLANNING

  • जनरल अवेयरनेस
  • सोशल साइंसेज
  • थिंकिंग स्किल्स

अगर आप ये Syllabus, Pdf फॉर्मेट में चाहते है तो इसे आप जेईई मेन के ऑफिशियल वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते है।

JEE Main Ki Taiyari Kaise Kare?

चूंकि ये स्नातक स्तर की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग एग्जाम है. इसलिए इसकी तैयारी भी बड़ी होनी चाहिए. यहां बड़ी तैयारी का मतलब ये नहीं है कि बहुत समय तक पढ़ना बल्कि ये है कि आपको रणनीति बनाकर मेहनत से पढ़ना है.

सबसे पहले जरूरी है कि आप जेईई मेन के पाठ्यक्रम को अच्छे से समझ लें. JEE Main ka syllabus ऊपर दिया जाएगा है. उसमें से देखें की आपको क्या आता है और क्या नहीं. इसके अलावा उसके वेटेज भी देखें की किस टॉपिक से कितने प्रश्र आते हैं, फिर उसी के अनुसार रणनीति बनाए.

जेईई मेन की तैयारी के लिए NCERT की किताबें सबसे अच्छी है. लेकिन अगर ये आपको समझने में दिक्कत हो तो स्टैंडर्ड किताबें पढ़ सकते है. जैसे फिजिक्स के लिए एच. सी. वर्मा की किताब “Concept of Physics”, फिजिक्स के कॉन्सेप्ट को समझने के लिए बहुत उपयोगी है.

JEE Main की तैयारी के लिए किताब पढ़ने के साथ-साथ नोट्स भी बनाएं. पढ़े हुए को नियमित रूप से रिवाइज करें. रोजाना न्यूमेरिकल और पिछले साल के प्रश्न पत्रों (previous year question papers) को हल करने का प्रयास करें. एवं अंत में मॉक टेस्ट देकर अपने तैयारी का आकलन करें.

उम्मीद है कि अब आपको JEE Main kya hota hai मालूम हो गया होगा. आपका अगर जेईई मेन से जुड़ा कोई प्रश्न है तो कॉमेंट में जरूर पूछें एवं इस पोस्ट को उन लोगों तक शेयर करें जो जेईई मेन की परीक्षा देना चाहते हैं.

JEE Main Kya Hai – FAQs

क्या 12वीं कक्षा एवं जेईई मेन में आने वाले पेपर एक जैसे होते है या अलग-अलग होते है?

नहीं, 12वीं कक्षा और जेईई मेन में आने वाले पेपर एक जैसे नहीं होते है बल्कि अलग-अलग होते है. 12वीं कक्षा के पेपर में आपसे सिर्फ वही पूछा जाता है जो आपके 12वीं के पाठयक्रम में है, वहीं जेईई मेन में आपसे 11वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं के पाठयक्रम से प्रश्न पूछा जाता है.

JEE Main में कितने पेपर होते है?

JEE Main में तीन पेपर होते हैं.

प्रत्येक वर्ष कितने स्टूडेंट जेईई मेन का एग्जाम देते है और उसमें से कितने पास होते हैं?

प्रत्येक साल लाखों स्टूडेंट जेईई मेन की परीक्षा देते है, जिसमें से 20 से 25 हजार ही जेईई एडवांस के लिए क्वालीफाई करते है.

JEE Main Ka Exam Kab Hoga?

JEE Main के पहले सेशन का एग्जाम 20 जून से 29 जून तक होगा, वहीं दूसरे सेशन का एग्जाम 21 जुलाई से 30 जुलाई तक होगा.

जेईई मेन की परीक्षा साल में कितनी बार होती है?

जेईई मेन की परीक्षा साल में दो बार होती है.

JEE Main Ka Full Form Kya Hai?

JEE Main का फुल फॉर्म Joint Entrance Examination – Main है.

क्या स्टूडेंट जनवरी में जेईई मेन की परीक्षा देने के बाद अप्रैल की जेईई मेन की परीक्षा दे सकते है?

हां, स्टूडेंट जनवरी की जेईई मेन की परीक्षा देने के बाद अप्रैल की जेईई मेन की परीक्षा आराम से दे सकते है. इसमें कोई दिक्कत वाली बात नहीं है.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments