महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब – ये 22 काम आप घर बैठे ही कर सकती है

कई सारी आधुनिक महिला चाहती है कि वह घर बैठे ही कोई जॉब करके पैसे जोड़ सके और अपने घर के उज्ज्वल भविष्य को बढ़िया बना सके. आज कल बहुत सारी महिलाएं घर बैठे जॉब ढूंढ रही हैं. तो आपको इस पोस्ट में 20 से भी ज्यादा महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब दिए जा रहे है.

आज समय इतना बदल चूका है कि महिलाएं घर तो संभाल ही रही हैं, साथ ही पति के कामों में भी हाथ बंटाती है या अपना खुद का ऑनलाइन या ऑफलाइन काम कर रही है.

ऐसी ही महिलाओं की सहायता के लिए इस लेख के माध्यम से हम आपको कुछ ऐसे महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब के बारे में बताने जा रहे हैं जो महिलाएं घर बैठे ही कर सकती हैं और बढ़िया पैसे कमा सकती हैं. इसलिए इस लेख को शुरुआत से लेकर अंत तक आवश्य ही पढ़ें.

महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब [20+ Job]

लोग सोचते हैं कि महिलाओं के लिए जॉब ऑप्शन बहुत कम होते हैं. लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है! ना जाने कितने ही जॉब विकल्प हैं जो महिलाएं कर सकती हैं और बढ़िया पैसे कमा सकती हैं.

Mahilaon Ke liye ghar baithe job
A Lady Working Online

लेकिन निम्नलिखित आपको हम कुछ ऐसे महिलाओं के लिए जॉब्स के बारे में बता रहे हैं जिसमें आपकी कमाई भी बढ़िया होगी और जॉब करने में भी आपको आसानी रहेगी. आप अपने हिसाब से इनमें से कोई भी बढ़िया जॉब का चयन कर सकती हैं और पैसे कमा सकती हैं.

1. Content Writing

आप अगर लिखने का शौक रखती हैं तो आपके लिए यह सबसे बेहतरीन जॉब विकल्प है.

इंटरनेट पर आपने बहुत सारी वेबसाइट, न्यूज़ पोर्टल और ब्लॉग आदि देखे होंगे जिसमें जानकारी को लिखित रूप में Provide किया जाता है. जैसा कि आप इस ब्लॉग को ही ले लीजिये.

अब इस लिखित रूप जानकारी को इस तरह अच्छी तरह से पेश किया जाता है कि पढ़ने वाले को लगे कि सामने बैठकर वह सुन रहा है. इस काम के लिए जरूरत पड़ती है कंटेंट राइटर की.

अब आप सोचेंगे कि लिखकर ही क्यों लोग YouTube दे देखकर भी जानकारी ले सकते है ना! तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंटरनेट पर 77% लोग किसी ना किसी प्रकार से लिखित रूप में जानकारी पढ़ती हैं.

इसलिए बहुत सारी छोटी बड़ी कंपनियां किसी विशेष विषय (जैसे कि खेल, समाचार, टेक्नोलॉजी और बॉलीवुड आदि) पर या फिर Multi Niche (सभी विषयों पर लिखने वाले) कंटेंट राइटर को हायर करती हैं और उन्हें बढ़िया सैलरी भी देती हैं.

कंटेंट राइटिंग से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

कंटेंट राइटिंग का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

कंटेंट राइटिंग का काम सीखने में कम से कम 5-6 महीने लगेंगे.

कंटेंट राइटिंग का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

कंटेंट राइटिंग का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 10 से 15 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Content Writing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

कंटेंट राइटिंग एक ऐसी कला है जिसका शौक या तो आपको शुरू से ही होना चाहिए और या फिर आपको इसे सीखने में समय लग सकता है.

अगर आप अच्छे से कंटेंट राइटिंग सीखना चाहती हैं तो मेरा सुझाव है कि जॉब से पहले 3 या 6 महीने के लिए कंटेंट राइटर के रूप में इंटर्नशिप (internship) करें.

इसके बाद आपको कोई भी छोटी या बड़ी कंपनी में कंटेंट राइटर की अच्छी सी जॉब मिल जाएगी जिसकी शुरुआती सैलरी 8 से 12 हज़ार रूपये हो सकती है.

वैसे आप एक फ्रीलांसर भी बन सकती हैं जिसमें प्रति शब्द के लिए आपको पैसे दिये जाते हैं. इसी प्रकार जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाता है उसी प्रकार से आपकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होती रहती है.

विस्तार से पढ़ें > Content Writer कैसे बने? कॉन्टेंट राइटर बनने की स्टेप बाई स्टेप प्रक्रिया

2. Data Entry

अगर आप पूछें सबसे सरल और ज़्यादा वेतन वाला Mahilaon Ke Liye Ghar Baithe Job कौन सा है तो मेरा जवाब होगा डाटा एंट्री का.

बहुत सारी महिलाएं हैं जो डाटा एंट्री का नाम सुनते ही इस जॉब के लिए मना करने लगती हैं क्योंकि यह काम सुनने में ही मुश्किल लगता है. लेकिन मैं आपको बता दूं कि ऐसा बिलकुल भी नहीं है.

इसमें कंपनी की तरफ से आपको कुछ Data मिलता है जो कि किसी भी फॉर्मेट में हो सकता है (जैसे कि फोटो, वीडियो, पीडीएफ या कोई अन्य फाइल) और उस डाटा को आपको विशेष सॉफ्टवेयर की मदद से एक फाइल में स्टोर करना होता है.

पहले डाटा को बड़ी बड़ी फाइलों में स्टोर किया जाता था लेकिन अब कंप्यूटर की मदद से एक ही फाइल में हम बहुत सारा डाटा जमा कर सकते हैं. इसलिए बहुत सारी कंपनियों, फैक्ट्रीयों, स्कूलों और अस्पतालों, आदि में डाटा एंट्री का काम प्रचलित हो चूका है.

आमतौर पर यह डाटा स्टाफ के लोगों के नाम और उनकी कुछ जानकारी ही होती है.

डाटा एंट्री की जॉब के लिए आपको इन Softwares की जानकारी जरूर होनी चाहिए:-

  • MS Excel
  • Forms on Fire
  • JotForm
  • TypeForm
  • UiPath

अगर आपको उपरोक्त बताए गए Softwares की जानकारी है और आपने 10वीं कक्षा पास करली है तो आसानी से आपको डाटा एंट्री की जॉब मिल सकती है.

डाटा एंट्री से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

डाटा एंट्री का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

डाटा एंट्री का काम सीखने में कम से कम 1 से 2 महीने लगेंगे.

डाटा एंट्री का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

डाटा एंट्री का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 08 से 12 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Data Entry की जॉब से कितनी कमाई होगी?

आपको शायद जानकर हैरानी होगी कि डाटा एंट्री की जॉब में आपकी कमाई आपकी टाइपिंग स्पीड पर निर्भर करती है.
क्योंकि जितनी स्पीड से आप डाटा को स्टोर करेंगी उतनी ज़्यादा आप कमाई कर पाएंगी.

अगर आपकी टाइपिंग स्पीड 30 से 40 WPM के बीच में है तो महीने के आखिर तक 10 हज़ार रूपये तो कमा ही लेंगी. इसके अलावा ज़्यादा मेहनत करने पर आपकी कमाई भी ज़्यादा होगी.

3. Graphic Designing

Advertising के क्षेत्र में Graphic Designing का एक ख़ास महत्त्व है. और आज के ज़माने में जिसमें हमें लोग कम और Advertisments को ज़्यादा देखते हैं, ऐसे में Graphic Designer की भारी मांग चल रही है.

इसके बारे में विस्तार से जानने से पहले Graphic Designing को समझते हैं.

ग्राफ़िक डिजाइनिंग में कुछ खास रंगों, टेक्स्ट्स और टूल्स का उपयोग करके किसी भी संदेश को आकर्षक बना दिया जाता है जिससे लोग उस संदेश की तरफ आकर्षित होते हैं.

आप जब बाहर गई हों तो आपने देखा होगा कि आपके आसपास बहुत सारे बोर्ड्स, बिलबोर्ड्स और होर्डिंग्स लगे होते हैं, असल में इन सभी को ग्राफ़िक डिजाइनिंग द्वारा ही तैयार किया जाता है.

आप अगर Graphic Designing में प्रवेश करना चाहती हैं तो आपको इन Softwares की जानकारी तो आवश्य ही होनी चाहिए:-

  • Adobe PhotoShop
  • Sketch
  • Adobe Illustrator
  • Lunacy
  • Mega Creator

ग्राफ़िक डिजाइनिंग से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

ग्राफ़िक डिजाइनिंग का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

ग्राफ़िक डिजाइनिंग का काम सीखने में कम से कम 3 से 4 महीने लगेंगे.

ग्राफ़िक डिजाइनिंग का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

ग्राफ़िक डिजाइनिंग का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 08 से 12 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Graphic Designing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

ग्राफ़िक डिजाइनिंग में आपकी कमाई निर्भर करती है कि किस प्रकार की डिजाइनिंग में आप माहिर हैं.

जैसे कि कुछ कंपनियों को जरूरत होती है केवल पोस्टर और होर्डिंग बनाने की तो कुछ लोगों को एकदम प्रोफेशनल ग्राफ़िक डिज़ाइनर चाहिए होते हैं जो कंपनी की जरूरतों को पूरा कर सकें.

इसके अलावा यह भी देखा जाता है कि कौन कौन से ग्राफ़िक डिजाइनिंग टूल्स में आप माहिर हैं.

एक फ्रेशर ग्राफ़िक डिज़ाइनर जिसे उपरोक्त बताए गए टूल्स की समझ हो, वह 8 से 12 हज़ार रूपये प्रति माह कमा लेता है जिसमें अनुभव के अनुसार समय समय पर बढ़ोतरी होती रहती है.

4. Freelancing

अंग्रेज़ी में एक कहावत है, “If You are Good at Something, Never Do It for Free”. जिसका मतलब है कि “यदि आप किसी चीज़ में अच्छे हैं, तो इसे कभी भी मुफ्त में न करें.”

“If You are Good at Something, Never Do It for Free.”

~ The Joker – Heath Ledger

सरल भाषा में इसका अर्थ है कि अगर आपको किसी कौशल-कला के बारे में अच्छी जानकारी है तो कभी उसे मुफ्त में ना करें.

बस यहीं आपको इंटरनेट पर करना है!

मान लीजिये कि आपको Video Editing के बारे में बढ़िया जानकारी है. तो आपको इंटरनेट पर वीडियो एडिटिंग के लिए ग्राहक ढूंढ़ने हैं और उनके साथ डील करनी है.

फिर डील में हुए काम को आपको पूरा करना है और वापिस अपने ग्राहक को काम सौंप देना है. काम पूरा हो जाने के बाद आपको पैसे मिल जाते हैं और आप चल देती हैं अपने अगले ग्राहक की तरफ.

लेकिन इंटरनेट तो छोटा सा है नहीं, तो आपके ग्राहक कहां मिलेंगे?

तो आपको अपने ग्राहक मिलेंगे फ्रीलांसिंग Websites पर जहां पर Freelancing का काम ढूंढ भी सकते हैं और किसी को दे भी सकते हैं. आजकल फ्रीलांसिंग के लिए कुछ Trending Websites यह हैं:-

  • Upwork
  • Fiverr
  • Truelancer
  • 99designs
  • Freelancer.com
  • Toptal

यह तो हो गयी उन महिलाओं की बात जिनके पास कोई कौशल है. मुझे पता है वह महिलाएं मुझे कोस रही होंगी जिनके पास कोई भी Skill नहीं है.

तो देखिये आपको इसकी भी चिंता करने की जरूरत नहीं,
इंटरनेट ज्ञान का एक समुंदर है. आप 2-3 महीने लगाकर इंटरनेट से या प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) के जरिए मुफ्त में कोई बढ़िया सा Skill सीख सकती हैं और पैसे कमाना शुरू कर सकती हैं.

अगर कम समय में आप बढ़िया पैसे कमाना चाहती हैं तो आपको इनमें से कोई एक Skill को जरूर सीखना चाहिए:-

  • Social media marketing
  • Lead generation
  • Facebook
  • SEO
  • B2B marketing

फ्रीलांसिंग से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

फ्रीलांसिंग का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

फ्रीलांसिंग का काम सीखने में कम से कम 3 से 4 महीने लगेंगे.

फ्रीलांसिंग का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

फ्रीलांसिंग का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 20 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Freelancing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

फ्रीलांसिंग से आपकी कमाई निर्भर करती है कि आप कौन सा काम कर रहे हैं और कितना काम कर रहे हैं.
इसमें हम कंटेंट राइटिंग का ही उदाहरण लेते हैं,

Freelancing - Mahilaon Ke liye ghar baithe job

मान लीजिये कि आप एक फ्रीलांस कंटेंट राइटर हैं जिसमें आपको 15 पैसे प्रति शब्द मिलते हैं. तो अगर आप रोज़ 4000 शब्द लिखती हैं तो महीने की आपकी कमाई 18,000 रूपये हो जाती है. जितने ज़्यादा शब्द लिखेंगी उतनी ज़्यादा आपकी कमाई होगी.

इसी तरह फ्रीलांसिंग के बाकी कामों में भी इसी तरह होता है. लेकिन आमतौर पर एक फ्रीलांसर महीने के 20 से 25 हज़ार कमा ही लेता है.

विस्तार से पढ़ें > फ्रीलांसिंग कैसे करें? एक सफल फ्रीलांसर बनने के लिए स्टेप बाई स्टेप प्रक्रिया

5. Blogging

आप इंटरनेट पर कहीं पैसे कमाने के बारे में सर्च करें और उसमें ब्लॉगिंग का नाम ना आए, ऐसा तो असंभव है!

तो चलिये आपको भी हम ब्लॉगिंग के बारे में बताते हैं,
ब्लॉग एक प्रकार की वेबसाइट ही होती है जिसमें लिखित रूप में कोई अनुभव, भावना या जानकारी को Share किया जाता है. अगर मैं ब्लॉग का सबसे बढ़िया उदाहरण देना चाहूं तो वह है यह पेज.

जी हाँ! आप जिसपर यह Ghar Baithe Job for Ladies लेख को पढ़ रहे हैं वह भी एक ब्लॉग ही है. इसके अलावा भी इंटरनेट पर 600 मिलियन से भी ज़्यादा Blogs उपलब्ध हैं.

इन आंकड़ों से आप अंदाज़ा लगा सकती हैं कि Blogging में कितना Scope है. सिर्फ भारत में ही आपको बहुत सारे ऐसे लोग मिल जाएंगे जो ब्लॉगिंग से महीने के लाखों रूपये कमा रहे हैं.

ब्लॉगिंग के बारे अगर आपको बढ़िया जानकारी है तो लोगों के ब्लॉग्स मैनेज करके या फिर अपना ब्लॉग बनाकर आप हर महीने अच्छी ख़ासी कमाई कर सकती हैं.

आप चाहे जॉब करें या अपना ब्लॉग बनाएं, आपको इन दोनों Blogging Platforms की जानकारी होना बहुत जरूरी है:-

  1. WordPress
  2. Blogger

ब्लॉगिंग से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

ब्लॉगिंग का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

ब्लॉगिंग सीखने में कम से कम 5 से 6 महीने लगेंगे.

ब्लॉगिंग का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

ब्लॉगिंग सीखने के बाद आपकी कम से कम 20 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Blogging की जॉब से कितनी कमाई होगी?

अगर आप ब्लॉग की तुलना शहद के साथ करें तो गलत नहीं होगा. जैसे शहद की गुणवत्ता समय के साथ साथ बढ़ती रहती है, उसी तरह से ब्लॉग से कमाई भी समय के साथ साथ बढ़ती रहती है.

आप अगर किसी का ब्लॉग मैनेज करती हैं तो आपको सैलरी मिलती है जोकि 15 से 20 हज़ार हो सकती है.
लेकिन अगर आप अपना खुद का ब्लॉग बनाती हैं और उसमें बढ़िया मेहनत करती हैं तो कम से कम ₹ 20,000 से ₹ 30,000 आपके कहीं नहीं जाने वाले. आपकी मासिक कमाई लाखों में भी हो सकती है.

विस्तार से पढ़ें > ब्लॉगिंग (Blogging) करने और इससे पैसे कमाने के तरीके

6. Online Tutor

अपने स्कूल के दिनों से ही मैंने देखा है कि हर महिला में एक टीचर छुपा होता है!

आपने भी अपने स्कूल में देखा होगा कि हर लड़की किसी ना किसी विषय में माहिर जरूर होती है. कोई गणित में माहिर होती है तो कोई साइंस में, कुछ लड़कियां सभी विषयों में भी माहिर होती हैं.

महिलाऐं भी शादी के बाद अपने बच्चों को घर पर ही पढ़ाती हैं. इससे उनकी पढ़ाने की कला और भी मज़बूत हो जाती है.
अगर आप में भी पढ़ाने की कला है तो आपको भी अपने अंदर के छुपे हुए टीचर को पूर्ण रूप से बाहर लाना चाहिए जिसका फायदा उठाते हुए आप एक ऑनलाइन टूशन टीचर बन सकती हैं.

बहुत सारी कंपनियां हैं जो ऑनलाइन टूशन टीचर को हायर करती हैं और उन्हें बढ़िया सैलरी भी देती हैं.

इसलिए ये एक बहुत ही अच्छा महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

भारत के यह टॉप प्लेटफॉर्म्स हैं जो ऑनलाइन टूशन टीचर्स को हायर करते हैं:-

ऑनलाइन टूशन पढ़ाने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

ऑनलाइन टूशन पढ़ाना सीखने में कितना समय लगेगा?

ऑनलाइन टूशन पढ़ाना सीखने में कम से कम 6 से 7 महीने लगेंगे.

ऑनलाइन टूशन पढ़ाना सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

ऑनलाइन टूशन पढ़ाना सीखने के बाद आपकी कम से कम 30 से 40 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Online Tutor की जॉब से कितनी कमाई होगी?

अगर आप अपने तौर पर ही लोगों को ट्यूशन पढ़ाती हैं तो उनसे महीने की फीस ले सकती हैं और ऑनलाइन क्लासेज़ को Zoom या Google Meet जैसे फ्री एप्स पर ले सकती हैं.

अगर आपके पास 30 बच्चे भी पढ़ते हैं और उनसे महीने के 500 फीस लेती हैं तो महीने की आपकी कमाई 15,000 रूपये बन जाती है.

जो कि एक बढ़िया कमाई का ज़रिया है.
लेकिन आप अगर टीचिंग प्लेटफार्म पर ट्यूटर की जॉब करती हैं तो आपको 20-25 हज़ार महीने के मिलते हैं. वहीं अगर Edureka और Byjus जैसे प्लेटफार्म पर ट्यूटर की जॉब पर कमाई लाखों में भी हो सकती है.

7. Virtual Assistant

बहुत सारी खूबियों में से महिलाओं में एक खूबी यह होती है कि उन्हें हर चीज़ को अच्छे से मैनेज करना आता है.

अपनी कला का इस्तेमाल करके आप एक वर्चुअल असिस्टेंट बन सकती हैं और बढ़िया पैसे कमा सकती हैं.

लेकिन पहले जान तो लो की आखिर यह वर्चुअल असिस्टेंट क्या होता है?

यह तो सभी ही जानते हैं कि देश विदेश में सभी बड़ी छोटी कंपनियां अपने Clients और एक दूसरे के साथ डील करती ही रहती हैं.

इन डील्स को मैनेज करने के लिए जरूरत होती है वर्चुअल असिस्टेंट की ताकि डील के दौरान कंपनी और क्लाइंट में से किसी को भी कोई समस्या का सामना ना करना पड़े.

ऑनलाइन माध्यम से ही इन डील्स को मैनेज किया जाता है इसलिए इन कामों के लिए असिस्टेंट भी वर्चुअल होना चाहिए.

एक वर्चुअल असिस्टेंट अपनी जॉब में कई प्रकार के काम करता है जिनमें से कुछ हैं:-

  • अपॉइंटमेंट शेड्यूल करना
  • फ़ोन कॉल करना
  • यात्रा की व्यवस्था करना
  • ईमेल खातों का प्रबंधन करना

वर्चुअल असिस्टेंट बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

वर्चुअल असिस्टेंट का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

वर्चुअल असिस्टेंट का काम सीखने में कम से कम 3 से 4 महीने लगेंगे.

वर्चुअल असिस्टेंट का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

वर्चुअल असिस्टेंट का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 20 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Virtual Assistant की जॉब से कितनी कमाई होगी?

वर्चुअल असिस्टेंट एक नहीं बल्कि कई तरह के काम करता है जिसके लिए उसे सैलरी भी बढ़िया दी जाती है.

एक नया वर्चुअल असिस्टेंट अमूमन 25 से 30 हज़ार रूपये महीना कमा लेता है. जैसे – जैसे समय गुज़रता है उसी प्रकार से असिस्टेंट की कार्यों को करने की क्षमता भी बढ़ती रहती है.

इसलिए व्यक्ति को प्रमोट करते रहते हैं और उसकी कमाई में भी बढ़ोतरी होती रहती है.

8. Affiliate Marketing

पहले किसने ही सोचा था कि ऑनलाइन किसी दूसरी कंपनी के प्रोडक्ट बेचकर हम पैसा भी कमा सकते हैं. लेकिन अब यह संभव है!

सबसे पहले तो समझें कि आखिर एफिलिएट मार्केटिंग होती क्या है? असल में इसमें आपको किसी Affiliate Program को जॉइन करना होगा जिसके बाद कंपनी आपको Products देती है.

इन Products का आपको प्रमोशन करना होता है और जब कोई भी आपके लिंक द्वारा उस प्रोडक्ट को खरीद लेता है तो उसके लिए आपको कमीशन मिलता है.

यह कमीशन प्रोडक्ट की कीमत का कुछ हिस्सा होती है. आमतौर पर यह कमीशन प्रोडक्ट की कीमत का 0.1% से लेकर 50% तक हिस्सा होती है.

आपके Affiliate अकाउंट में जब Withdrawable पैसे हो जाते हैं तो आसानी से इन पैसों को आप अपने बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकते हैं.

एफिलिएट मार्केटिंग से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

एफिलिएट मार्केटिंग सीखने में कितना समय लगेगा?

एफिलिएट मार्केटिंग सीखने में कम से कम 2 से 3 महीने लगेंगे.

एफिलिएट मार्केटिंग सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

एफिलिएट मार्केटिंग सीखने के बाद आपकी कम से कम 20 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Affiliate Marketing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

फ्रीलांसिंग की तरह एफिलिएट मार्केटिंग में भी कमाई आपकी मेहनत पर निर्भर करती है और आपकी कमीशन पर भी.

जितने ज़्यादा लोग आपके प्रोडक्ट्स को खरीदेंगे उतना ज़्यादा आपको कमीशन मिलेगा. अब ये आपको तय करना है कि प्रोडक्ट्स आप कैसे प्रमोट करेंगे.

मान लीजिये आप रोज़ 10 प्रोडक्ट्स ऐसे बेचते हैं जिसमें आपकी कमीशन 50 रूपये है. तो इससे आपकी महीने की कमाई 15 हज़ार रूपये बनती है. लेकिन ज़्यादा प्रोडक्ट्स अगर आप बेचते हैं तो आपकी कमाई भी ज़्यादा होती है.

विस्तार से पढ़ें > ऑनलाइन पैसा कमाने के 10 प्रमुख [Genuine] तरीके

9. Social Media Manager

आपने बड़े बड़े सेलेब्रिटीज़ को देखा होगा जो सोशल मीडिया पर हर समय एक्टिव रहते हैं.

लेकिन उनके पास इतना समय होता नहीं कि हर समय सोशल मीडिया पर वह लोगों के लिए Posts करते रहें और उनका Active रहना भी जरूरी होता है क्योंकि आधी पहचान तो इन सेलेब्रिटीज़ को सोशल मीडिया से मिलती है.

इसलिए वह ऐसे लोगों को हायर करते हैं जो उनके सोशल मीडिया खातों को हैंडल कर सकें और उनमें Posts अपडेट करते रहें.

अगर आपका Mind क्रिएटिव है और आप जानती हैं कि कैसे सोशल मीडिया पर पोस्ट करके लोगों का ध्यान खींचना है तो एक सोशल मीडिया मैनेजर बनकर आप अच्छी खासी कमाई कर सकती हैं.

लेकिन इसमें माइंड क्रिएटिव होने की क्या जरूरत? असल में इसमें आपको हर समय कुछ नया पोस्ट करते रहना होगा और हो सकता है कि आपको एक नहीं बल्कि कई लोगों का अकाउंट मैनेज करना पड़े. इसलिए आपका इस काम में माइंड क्रिएटिव होना जरूरी है.

वैसे एक सोशल मीडिया मैनेजर को निम्नलिखित कार्य करने होते हैं:-

  • नए नए पोस्ट्स करना
  • Followers को बढ़ाने की नीति बनाना
  • कितने Followers बढ़े या घटे का Analysis करना
  • कैंपेन चलना आदि

सोशल मीडिया मैनेजर के काम से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

सोशल मीडिया मैनेजर का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

सोशल मीडिया मैनेजर का काम सीखने में कम से कम 5 से 6 महीने लगेंगे.

सोशल मीडिया मैनेजर का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

सोशल मीडिया मैनेजर का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 30 से 40 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Social Media Manager की जॉब से कितनी कमाई होगी?

इंटरनेट पर सोशल मीडिया जिस तरीके से अपने पैर पसार रहा है उसी तरीके से इसके पेशेवरों की भी जरूरत पड़ रही है.

ना जाने कितनी ही कंपनियां हैं जो सोशल मीडिया मैनेजर को हायर कर रही हैं. गूगल और मेटा (Meta) जैसी बड़ी बड़ी कंपनियां भी इस कतार में आ चुकी हैं.

एक सोशल मीडिया मैनेजर के रूप में अगर आप जॉब करते हैं तो आपकी शुरुआती सैलरी 30 हज़ार से ऊपर हो सकती है जो अनुभव के साथ साथ बढ़ती रहती है.

10. Translator

बहुत सारी कंपनियां ऐसी हैं जो अपने बिज़नेस को आगे बढ़ाना चाहती हैं और अपने आप को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लेकर जाना चाहती हैं.

यह कंपनियां चाह रही हैं कि दूसरे देश की दूसरी भाषा बोलने वाले लोग भी समझें कि हम क्या कहना चाह रहे हैं. इसलिए वह नियुक करते हैं Translator को.

अगर आपको दो या दो से ज़्यादा भाषाओँ की अच्छी जानकारी है तो यह आपके लिए सबसे बेहतरीन जॉब आईडिया है.

आपको इसमें कुछ कंटेंट दिया जाता है जोकि आमतौर पर लिखित रूप में होता है. इसे आपको दूसरी भाषा में अनुवाद करना होता है.

अनुवाद कुछ इस प्रकार का होना चाहिए कि लगे बस कंटेंट उसी भाषा में लिखा गया है और पढ़ने वाला सामने बैठकर आपको सुन रहा है.

ट्रांसलेटर के काम से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

ट्रांसलेटर का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

ट्रांसलेटर का काम सीखने में कम से कम 7 से 8 महीने लगेंगे.

ट्रांसलेटर का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

ट्रांसलेटर का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 30 से 35 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Translator की जॉब से कितनी कमाई होगी?

विदेशी कंपनियों की तो हमने केवल उदाहरण दी है. असल में बहुत सारे ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें ट्रांसलेटर की आवश्यकता होती है.

कभी कोई कंटेंट ट्रांसलेट करना पड़ता है तो कभी पूरी की पूरी किताब ही ट्रांसलेट करनी पड़ जाती है.

जितनी बढ़िया यह जॉब है उतनी ही बढ़िया इसमें कमाई है. बता दें कि ट्रांसलेटर की जॉब करके आप हर महीने 30 हज़ार रूपये से भी ज्यादा कमा सकती हैं.

11. Web Developer

आजकल इंटरनेट के ज़माने में हर कोई चाहता है कि इंटरनेट पर उसकी पहचान हो!

और इस पहचान को बनाने के लिए सबसे जरूरी है उसकी अपनी वेबसाइट होना. इसलिए लोग इस पर ध्यान दे रहे हैं और अपनी वेबसाइट बनवा रहे हैं.

कोई स्कूल हो, अस्पताल हो या कोई छोटा सा संस्थान ही क्यों ना हो, हर कोई अपनी वेबसाइट बनवा रहा है. यहां तक कि लोग पोर्टफोलियो के लिए अपनी पर्सनल वेबसाइट भी बनवा रहे हैं.

आप भी वेबसाइट बनाना सीख सकती हैं और वेब डेवलपर बनकर Ghar Baithe Job for female प्राप्त कर सकती हैं.

वेब डेवलपर बनने के लिए आपको इन स्किल्स की जानकारी होना जरूरी है:-

  • HTML
  • CSS
  • JavaScript
  • PHP
  • NodeJS

अब आप कहेंगी कि स्किल्स तो आपने बता दिये लेकिन इसे सीखूं कहां से? तो आपको इसकी भी चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है.

इंटरनेट पर ही वेब डेवलपमेंट के ढेर सारे कोर्स उपलब्ध हैं जोकि मुफ्त में ही उपलब्ध हैं. इसके अलावा YouTube पर भी बहुत सारी फ्री Playlists उपलब्ध हैं जिनसे आप वेब डेवलपमेंट सीख सकती हैं.

वेब डेवलपर बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब



वेब डेवलपर बनने में कितना समय लगेगा?

वेब डेवलपर बनने में कम से कम 6 से 7 महीने लगेंगे.

वेब डेवलपर बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

वेब डेवलपर बनने के बाद आपकी कम से कम 10 से 15 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Web Developer की जॉब से कितनी कमाई होगी?

सबसे पहले तो यह समझलें कि वेब डेवलपर तीन प्रकार के होते हैं. पहला फ्रंट एंड वेब डेवलपर, दूसरा बैक एंड वेब डेवलपर और तीसरा फुल स्टैक वेब डेवलपर.

इनमे से सबसे कम कमाई होती है फ्रंट एंड वेब डेवलपर की जोकि शुरुआती सैलरी होती है 8 से 15 हज़ार रूपये महीना तक. फ्रंट एंड से ज़्यादा कमाता है बैक एंड डेवलपर जिसकी शुरुआती सैलरी ही 10 हज़ार रूपये से ऊपर होती है.

फुल स्टैक डेवलपर को फ्रंट और बैक दोनों ही एंड मैनेज करने पड़ते हैं इसलिए फुल स्टैक डेवलपर सैलरी दोनों से ही ज़्यादा होती है जोकि शुरुआती सैलरी होती है 15 हज़ार से ऊपर. बता दें कि अनुभव बढ़ने पर सैलरी में बढ़ोतरी होती रहती है.

12. Interior Designer

जब अपना घर बनाने की बात आती है तो हर कोई चाहता है कि उसका बनने वाला घर सबसे सुंदर दिखना चाहिए! और चाहे भी क्यों ना, ज़िंदगी में हम एक बार तो अपना घर बनाते हैं.

लेकिन समस्या यहां तब आ पड़ती है जब घर के मालिक उलझन में पड़ जाते हैं कि उनका घर दिखना कैसा चाहिए?
इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोग जाते हैं इंटीरियर डिज़ाइनर के पास.

एक इंटीरियर डिज़ाइनर अपनी Creativity का उपयोग करके आपके घर के अंदरूनी हिस्से के बढ़िया Look प्रदान करता है और यह तय करता है कि आपका घर दिखने में कैसा होना चाहिए.

पहले क्या होता था कि बड़े शहरों में ही इंटीरियर डिजाइनिंग का कार्य करवाया जाता था लेकिन अब छोटे इलाकों और गांव में भी इंटीरियर डिजाइनिंग जाने लगी है.

अगर आप भी Creative Mind की मालकिन हैं तो आप इंटीरियर डिजाइनिंग सीख सकती हैं और बढ़िया जॉब प्राप्त कर सकती हैं.

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने में कितना समय लगेगा?

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने में कम से कम 5 से 6 महीने लगेंगे.

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने के बाद आपकी कम से कम 20 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Interior Designer की जॉब से कितनी कमाई होगी?

इंटीरियर डिज़ाइनर की कमाई अलग अलग शहरों में अलग अलग होती है क्योंकि कुछ शहरों में कम लोग इंटीरियर डिजाइनिंग करवाते हैं तो कुछ शहरों में ज़्यादा.

एक फ्रेशर इंटीरियर डिज़ाइनर भारत में लगभग 25 हज़ार रूपये प्रति महीने कमा लेता है.

आप एक दो साल के अनुभव के बाद अपना इंटीरियर डिजाइनिंग का बिज़नेस भी शुरू कर सकते हैं जिसमें आपकी कमाई ज़्यादा होगी.

13. Fashion Designer

महिलाओं को बचपन से ही फैशन में बहुत रूचि होती है और इस रूचि का उपयोग करके आप पैसे भी कमा सकती हैं.

महिलाएं क्या, आजकल तो बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी में फैशन का एक क्रेज़ सा छा गया है और इसी क्रेज़ की बदौलत भारत में फैशन का क्षेत्र बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है.

यहां तक कि टाटा, बिरला और अंबानी भी फैशन की इंडस्ट्री में कूद पड़े हैं. इससे हम अंदाज़ा लगा सकते हैं कि फैशन के क्षेत्र में अभी भी बहुत Potential है.

इस काम में आपको करना यह है कि कपड़ों को डिज़ाइन करना है और उन्हें कुछ इस प्रकार का बनाना है कि हर कोई उन्हें देखता ही रह जाए.

अपने कपड़े फैशनेबल बनाने में तो महिलाएं Expert होती ही हैं तो क्यों ना साथ साथ आप दूसरों के भी कपड़े डिज़ाइन करें और अपनी इस कला से पैसे कमा लें.
ये क्रिएटिव महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

फैशन डिज़ाइनर बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

फैशन डिज़ाइनर बनने में कितना समय लगेगा?

फैशन डिज़ाइनर बनने में कम से कम 8 से 9 महीने लगेंगे.

फैशन डिज़ाइनर बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

फैशन डिज़ाइनर बनने के बाद आपकी कम से कम 20 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Fashion Designer की जॉब से कितनी कमाई होगी?

फैशन डिज़ाइनर की सैलरी उसके स्किल और अनुभव पर निर्भर करती है कि किस प्रकार वह अपने Creative Mind को उपयोग में लाकर कपड़े तैयार करता है.

एक फ्रेशर फैशन डिज़ाइनर को डिमांड की वजह से बढ़िया सैलरी मिल जाती है. शुरुआती दौर में फैशन डिज़ाइनर 20 से 25 हज़ार कमाता है और इस संख्या में फैशन डिज़ाइनर के अनुभव के साथ साथ बढ़ोतरी होती रहती है.

14. Proofreading

अपनी ज़िंदगी में आपने ढ़ेर सारी किताबें पढ़ी होंगी.
लेकिन किताब पढ़ते समय क्या आपने कभी यह नोटिस किया है कि इन किताबों में ढूंढ़ने पर भी कोई गलती नहीं मिलती और सभी शब्दों की स्पेलिंग में भी कोई Mistake नहीं होती.

दरअसल किताब छपने से पहले उसे कई बार रीड किया जाता है और रीडिंग के दौरान अगर कोई गलती पाई जाती है तो उसमें सुधार किया जाता है.

किताब को एक बार नहीं बल्कि कई बार रीड करवाया जाता है ताकि बिना किसी गलती के किताब को छापा जा सके.
बस यही काम प्रूफ रीडर का होता है.

सरल शब्दों में समझें तो प्रूफ रीडर font, पेज का साइज, फ्रंट पेज और किताब में शब्दों की गलतियां आदि को चेक करता है.

अगर आपको भाषा की जानकारी है तो यह आपके लिए कोई मुश्किल काम नहीं होने वाला और साथ ही साथ प्रूफ रीडिंग के जॉब से आपकी कमाई भी अच्छी होगी.

प्रूफ रीडर बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

प्रूफ रीडर बनने में कितना समय लगेगा?

प्रूफ रीडर बनने में कम से कम 1 साल तक लग सकता है.

प्रूफ रीडर बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

प्रूफ रीडर बनने के बाद आपकी कम से कम 25 से 30 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.




Proofreading की जॉब से कितनी कमाई होगी?

बहुत सारे लोग सोचते हैं कि प्रूफ रीडिंग के माध्यम से केवल फ्रीलांसिंग ही की जा सकती है.

लेकिन यह सच नहीं है! प्रूफ रीडिंग के लिए बहुत सारी बड़ी छोटी कंपनियां जॉब भी प्रदान करती हैं जिसमें सैलरी भी अच्छी खासी होती है.

बता दें कि प्रूफ रीडिंग करके महीने के 20 से 25 हज़ार रूपये आसानी से कमाए जा सकते हैं जिसमें समय समय पर बढ़ोतरी भी होती रहती है.

15. Video Editing

अपने मोबाईल से लेकर टीवी तक कहीं भी आप देखलें, सामग्री आपको वीडियो फॉर्मेट में मिलती है.

वह इसलिए क्योंकि वीडियो द्वारा देखे गए कंटेंट को एक तो समझने में आसानी होती है और दूसरा देखने वाले को ऐसा लगता है कि वह असल में सामने बैठकर ही उस चीज़ को देख रहा है जो वीडियो में है.

लेकिन किसी भी वीडियो को बिना गलती के आप तक आसानी से नहीं पहुंचाया जाता, वीडियो को लोगों तक पहुंचाने से पहले उसमें कांट-छांट की जाती है, उसके View को बढ़िया बनाया जाता है और जरूरत के अनुसार उसमें आवाज़ को घटाया और बढ़ाया जाता है. कुल मिलाकर वीडियो को Edit किया जाता है.

और यह काम किया जाता है Video Editor द्वारा,
एक Video Editor अपनी एडिटिंग द्वारा वीडियो को कुछ इस प्रकार का बना देता है कि वीडियो आकर्षक भी लगती है और कोई वीडियो देखकर बोर भी नहीं होता.

वीडियो कंटेंट के लोगों द्वारा ज़्यादा Consume होते देख बहुत जगह Video Content को बनाया जा रहा है और इस वजह से Video Editors की भारी डिमांड चल रही है. वीडियो एडिटिंग सीख कर आप भी एक बढ़िया जॉब प्राप्त कर सकती हैं.

जब आप वीडियो एडिटर की जॉब के लिए आवेदन करेंगी तब आपसे इन वीडियो एडिटिंग Softwares के बारे में जरूर पूछा जाएगा:-

  • Adobe Premiere Pro
  • Apple Final Cut Pro
  • Apple iMovie
  • Cyberlink PowerDirector


वीडियो एडिटिंग सीखने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

वीडियो एडिटिंग सीखने में कितना समय लगेगा?

वीडियो एडिटिंग सीखने में कम से कम 3 से 4 महीने लगेंगे.

वीडियो एडिटिंग सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

वीडियो एडिटिंग सीखने के बाद आपकी कम से कम 12 से 15 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Video Editing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

शुरुआत में वीडियो एडिटिंग के काम को जानने वाले व्यक्ति को हर महीने 12 से 15 हज़ार रूपये मिलते हैं और कुछ सालों के बाद अनुभव और विशेषज्ञता अनुसार वीडियो एडिटर के वेतन में बढ़ोतरी भी कर दी जाती है.

आपको बता दें कि एक अनुभवी वीडियो एडिटर जिसे कम समय में अच्छी वीडियो एडिटिंग करनी आती है वह महीने के 50 से 75 हज़ार रूपये कमा लेता है जो कि जॉब या फ्रीलांसिंग के माध्यम से हो सकते हैं.

16. Digital Marketing Services

जब कोरोना की वजह से लॉकडाउन हुआ तब से हर चीज़ का डिजीटलीकरण हो चूका है. छोटी छोटी कंपनियां भी इंटरनेट पर अपना मौजूदगी बना रही हैं.

इस डिजीटलीकरण की वजह से डिजिटल मार्केटर्स की डिमांड बहुत ही तेज़ी से बढ़ रही है जो उनकी इंटरनेट पर एक अलग पहचान बनाने में मदद कर सकें.
लेकिन यह डिजिटल मार्केटिंग होता क्या है?

पहले के समय में लोगों को मार्केटिंग के लिए और Products या Services की प्रमोशन करने के लिए एक जगह से दूसरी जगह भटकना पढ़ता था. लेकिन अब मार्केटिंग पूरी तरह आसान हो चुकी है.

अब ऑनलाइन ही कुछ Tools और Techniques का इस्तेमाल करके मार्केटिंग की जाती है जिससे ग्राहकों को जुटा पाना बहुत आसान हो जाता है और ज़्यादा आम मार्केटिंग के मुकाबले डिजिटल मार्केटिंग में ज़्यादा पैसे भी नहीं लगते.

ये एक प्रोफेशनल महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

Digital Marketing - Mahilaon Ke liye ghar baithe job

डिजिटल मार्केटिंग असल में कई भागों में बंटा हुआ है जिससे जिसमें से कुछ भाग यह हैं:-

  • Search Engine Optimization
  • Pay-per-Click
  • Social Media Marketing
  • Content Marketing
  • Email Marketing
  • Mobile Marketing
  • Marketing Analytics

इसलिए बहुत सारी छोटी बड़ी कंपनियां डिजिटल मार्केटर्स को हायर कर रही हैं और उन्हें पैसे कमाने का बढ़िया मौका दे रही हैं.

डिजिटल मार्केटिंग सीखने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

डिजिटल मार्केटिंग सीखने में कितना समय लगेगा?

डिजिटल मार्केटिंग सीखने में कम से कम 1 साल तक लग सकता है.

डिजिटल मार्केटिंग सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

डिजिटल मार्केटिंग सीखने के बाद आपकी कम से कम 35 से 40 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Digital Marketing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

भारत में डिजिटल मार्केटिंग इस तरह से पैर पसार चुकी है कि डिजिटल मार्केटिंग को वरिष्ठ Jobs में देखा जाने लगा है.

डिजिटल मार्केटिंग कि जॉब में वेतन अलग अलग होता है क्योंकि डिजिटल मार्केटिंग में भी कई Parts होते हैं जिसमें से कुछ भागों के बारे में हम उपरोक्त भी बात कर चुके हैं.

लेकिन अगर मोटी मोटी कमाई निकाली जाए तो एक फ्रेशर डिजिटल मार्केटर शुरुआती दिनों में 15 से 20 हज़ार हर महीने कमा लेता है जिसमें अनुभव और पद बढ़ने पर कमाई में भी साथ साथ बढ़ोतरी होती रहती है.

17. SEO Specialist

जब भी कोई अपनी वेबसाइट या ब्लॉग बनाता है तो हर किसी कि चाहत होती है कि उसकी वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के टॉप पर रैंक करे.

अब वेबसाइट चाहे छोटी हो या बड़ी, उसे रैंक करवाना आसान काम नहीं है. वेबसाइट को रैंक करवाया जाता है SEO की मदद से.

अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि आखिर यह SEO क्या होता है? तो बता दें कि SEO का पूरा नाम सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन होता है जिसमें कुछ ट्रिक्स का इस्तेमाल करके वेबसाइट को सर्च इंजन के प्रथम स्थान पर रैंक करवाया जाता है.

इससे यह तो ज़ाहिर हो जाता है कि वेबसाइट को रैंक करवाना कोई आसान काम नहीं. इसलिए इन वेबसइटों के मालिक हैं वह उन लोगों से संपर्क करते हैं जो SEO के माहिर हैं.

बहुत सारी ऐसी कंपनियां हैं जो SEO Specialist को हायर करती हैं और उन्हें बढ़िया वेतन प्रदान करती हैं. आप भी SEO सीख कर किसी बढ़िया सी कंपनी में जॉब कर सकती हैं और पैसे कमा सकती हैं.

इस क्षेत्र की एक और बढ़िया बात है कि अगर आप जॉब नहीं करना चाहती तो एक Freelancer के रूप में भी आप काम कर सकती हैं.

SEO Specialist बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

SEO Specialist बनने में कितना समय लगेगा?

SEO Specialist बनने में कम से कम 1 साल तक लग सकता है.

SEO Specialist बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

SEO Specialist बनने के बाद आपकी कम से कम 22 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

SEO Specialist की जॉब से कितनी कमाई होगी?

SEO की अहमियत को समझते हुए बहुत सारी कंपनियां SEO Specialist की जॉब प्रदान कर रही हैं. इस काम में माहिर होने के लिए इसकी आप इंटर्नशिप भी कर सकते हैं.

इस जॉब के बारे में जब मैं सर्च कर रहा था तो मुझे पता लगा कि एक SEO Specialist की शुरुआती सैलरी 10 से 15 हज़ार के बीच में होती है.

लेकिन अगर आप इस काम में माहिर हो जाते हैं और आपका अनुभव बढ़ जाता है तो इस जॉब को करके आप लाखों में भी कमा सकते हैं.

18. Call Centre Representative

मैंने बचपन से ही सुना है कि महिलाएं बोलती बहुत हैं.
तो क्यों ना आपके बोलने की इस कला का लाभ उठाया जाए और इससे आप पैसे ही कमा लें?

एक Call Centre Representative बनकर आपको बनकर आपको ग्राहकों की समस्याओं को सुनना होता है और उन समस्याओं को सुलझाने की कोशिश करनी हैं. यह समस्याएं किसी प्रोडक्ट या सर्विस से संबंधित हो सकती हैं.

कंपनी का नाम सुनते ही बहुत सारे लोग समझने लगते हैं कि इस जॉब के लिए हमें किसी बड़े शहर में शिफ्ट होना होगा लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है.

आप घर पर बैठकर भी ऑनलाइन ही Call Centre Representative के रूप में जॉब कर सकती हैं जिसका आपको बढ़िया वेतन भी मिलेगा.

Call Centre Representative बनने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

Call Centre Representative बनने में कितना समय लगेगा?

Call Centre Representative बनने में कम से कम 4 से 5 महीने लगेंगे.

Call Centre Representative बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

Call Centre Representative बनने के बाद आपकी कम से कम 15 से 20 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Call Centre Representative की जॉब से कितनी कमाई होगी?

Call Centre की जॉब एक ऐसी जॉब है जिसमें आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स और भाषा में पकड़ दोनों ही बढ़िया होनी चाहिए.

इस जॉब में कमाई कंपनी पर निर्भर करती है जिसमें आप काम कर रही हैं. भारत में एक Call Centre Representative की सैलरी 15 से 20 हज़ार रूपये होती है.

लेकिन अगर आप किसी इंटरनेशनल कंपनी में जॉब करती हैं तो आपकी सैलरी 20 से 30 हज़ार रूपये महीना होती है.

19. Tiffin Services

जो लोग अपने घर के नज़दीक ही कहीं काम करते हैं वह तो काम पर जाते समय घर से खाना ले जाते हैं लेकिन जो दूसरे शहरों में अपने घर से दूर बसे हुए हैं उनका क्या?

उनके लिए होटलों और ढाबों से रोज़ रोज़ खाना लेना महंगा होता है और होटलों के खाने में घर जैसा स्वाद भी नहीं होता.
इसलिए ऐसे लोग लेते हैं टिफिन सर्विस. जिन तक हर रोज़ टिफिन पहुंचाया जाता है और वह कम दाम में घर जैसे खाने का लुत्फ़ उठा पाते हैं.

अब इस बात से आप बिलकुल भी इंकार नहीं कर सकती कि आपके घर में किसी को खाना बनाना नहीं आता. मुझे नहीं लगता महिलाओं के मुकाबले पुरुष स्वादिष्ट भोजन बना पाते हैं.

वैसे तो आपको खाना बनाना आता ही होगा लेकिन अगर नहीं आता है तो अपने घर में किसी बड़े से स्वादिष्ट खाना बनाना सीख सकती हैं और अपनी टिफ़िन सर्विस शुरू करके पैसे कमा सकती हैं.

ये आसानी से मिलने वाला महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

टिफ़िन सर्विस के काम से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

टिफ़िन सर्विस का काम ढूंढने में कितना समय लगेगा?

टिफ़िन सर्विस का काम ढूंढने में कम से कम 2 से 3 महीने लगेंगे.

टिफ़िन सर्विस में कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

टिफ़िन सर्विस में आपकी कम से कम 15 से 20 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Tiffin Services की जॉब से कितनी कमाई होगी?

टिफ़िन सर्विस के लिए आप अपनी नज़दीकी किसी फैक्ट्री से संपर्क कर सकती हैं जो हर रोज़ ही टिफ़िन सर्विस ले सकें. इस प्रकार की फैक्ट्री खाना बनाने का सामान भी आपको खुद प्रोवाइड करती हैं, आपको बस खाना बनाकर देना होता है जिसमें आप महीने के कम से कम 10-15 हज़ार रूपये कमा सकती हैं.

इसके अलावा टिफ़िन सर्विस का आप अपना काम शुरू करती हैं तो सारे सामान की तैयारी आपको ही करनी होगी लेकिन इसमें कमाई भी आपकी ज़्यादा होने वाली है.

20. Baby Care Taker

आपने देखा होगा कि आधुनिक शहरों में आमतौर पर पति-पत्नी दोनों ही ऑफिस जाते हैं.

लेकिन समस्या वहां तब आती है जब उनके पास अपने बच्चों को संभालने का समय नहीं होता और उन्हें अपने बच्चों की चिंता भी होती है.

इस समस्या से बचने के लिए वह हायर करते हैं उस महिला को जो उनके बच्चों की देखभाल कर सकें. यानि कि बेबी केयर टेकर.

यह जॉब ज़्यादा मुश्किल नहीं, आपको बस बच्चों को समय पर खाना खिलाना है, उनके साथ खेलना है, समय समय पर उनके कपड़े बदलने है. आसान भाषा में कहें तो बच्चों की सभी प्रकार की जरूरतों को पूरा करना है.

बच्चों के साथ साथ इसमें आपको भी बढ़िया सहूलतें मिलेंगी क्योंकि ताकि एक अच्छे वातावरण में आप बच्चों की देखभाल कर सकें. इसलिए यह जॉब विकल्प आपके लिए बढ़िया साबित हो सकता है.

ये भारत में एक उभरता महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

बेबी केयर टेकिंग के काम से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

बेबी केयर टेकिंग का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

बेबी केयर टेकिंग का काम सीखने में कम से कम 1 से 2 महीने लगेंगे.

बेबी केयर टेकिंग का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

बेबी केयर टेकिंग का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 15 से 18 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Baby Care Taker की जॉब से कितनी कमाई होगी?

बेबी केयर टेकिंग का काम आपको किसी कंपनी में नहीं बल्कि आपके आसपास ही किसी नज़दीकी घर में मिल जाएगा जिनके घर में सभी बिज़ी रहते हैं.

आप अपनी ही सोसाइटी में इस जॉब के बारे में किसी से पता कर सकती हैं. इसके लिए आपको बच्चे के माता-पिता का विश्वास भी जीतना होगा क्योंकि कोई भी अपना बच्चा उसे संभालने नहीं देगा जो उसके विश्वास के लायक ना हो.

ऑनलाइन भी आपको यह जॉब मिल सकता है लेकिन वह जॉब आपको दूर मिलेगी इसलिए घर के नज़दीक ही ट्राय करें. आमतौर पर इस जॉब में आपको प्रति माह 10 से 15 हज़ार रूपये मिल ही जाते हैं.

21. Sewing Job

हम सभी के घर में कोई ना कोई ऐसा जरूर होता है जिसे सिलाई के काम की जानकारी होती है.
सिलाई का काम एक ऐसा काम है जिसे एक दिन में तो बिलकुल नहीं सीखा जा सकता. इस काम को सीखने के लिए कई महीने लग जाते हैं.

अपने घर में ही किसी बड़े से आप सिलाई का काम सीख सकती हैं और पैसे कमाना शुरू कर सकती हैं.
क्या कहा आपके घर में किसी को सिलाई का काम नहीं आता?

उसकी भी चिंता करने की आपको जरूरत नहीं. किसी टेलर के पास आप 4-5 महीने लगाकर काम सीख सकती हैं और फिर वहीं जॉब भी कर सकती हैं. अगर टेलर भी आपके नज़दीक कोई नहीं तो बता दें कि केवल YouTube पर ही बहुत सारे ऐसे चैनल हैं जो सिलाई की कला सिखाते हैं वो भी मुफ्त में.

ये तो बहुत ही पुराना और साथ ही बहुत बढ़िया महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

सिलाई सीखने के लिए आप YouTube पर इन चैनल्स को देख सकती हैं:-

सिलाई सीखने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब


सिलाई सीखने में कितना समय लगेगा?

सिलाई सीखने में कम से कम 7 से 8 महीने लगेंगे.

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

इंटीरियर डिज़ाइनर बनने के बाद आपकी कम से कम 22 से 25 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Silai की जॉब से कितनी कमाई होगी?

सिलाई के काम में आपकी कमाई इस बात पर निर्भर करती है कि किस प्रकार की चीज़ की सिलाई आप कर रही हैं और कौनसे काम पर आप लगी हैं.

अगर आप किसी टेलर के पास नौकरी पर लगी हैं तो महीने के आप 10 से 15 हज़ार रूपये कमा सकती हैं.
लेकिन अगर आप प्रति प्रोडक्ट की सिलाई पर पैसे लेती हैं तो आपकी कमाई ज़्यादा होगी.

जैसे कि आपने किसी टेलर से तकिया सिलाई करने का काम ले लिया और प्रति तकिया सिलने पर आपकी कमाई होती है 40 रूपये. ऐसे करके ही महीने के अगर 600 तकिये अगर आप सिल देती हैं तो आपके महीने के 30,000 रूपये बन जाते हैं.

इसके लिए आप अपने नज़दीकी किसी टेलर या फिर किसी फैक्ट्री से संपर्क कर सकती हैं.

22. Packing Job

मुझे मालूम है कि आप कहेंगी कि हर प्रकार की महिला के लिए मैंने जॉब विकल्प दिये हैं लेकिन आर्थिक रूप से कमज़ोर महिलाओं का क्या?

तो उनके लिए भी मेरे पास जॉब आईडिया है जोकि है पैकिंग जॉब!

असल में बहुत सारी ऐसी कंपनियां और फैक्ट्रीयां है जो अपने Products की Packaging तो करना चाहती हैं लेकिन उनके पास जगह नहीं हैं. इसलिए वह ऐसी महिलाओं को ढूंढ़ते हैं जो घर से ही पैकिंग का काम कर सकें.

पैकिंग के लिए Products आपके घर तक पहुंचाए जाते हैं और पैकिंग पूरी होने पर फैक्ट्री तक प्रोडक्ट भी वह खुद ले जाते हैं.

इस जॉब के लिए आप अपनी नज़दीकी किसी कंपनी से संपर्क कर सकती हैं.

ये बहुत ही आसान महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब है.

पैकिंग का काम सीखने से जुड़े 2 महत्वपूर्ण सवाल और उसका जवाब

पैकिंग का काम सीखने में कितना समय लगेगा?

पैकिंग का काम सीखने में कम से कम 1 से 2 महीने लगेंगे.

पैकिंग का काम सीखने के बाद कम से कम कितनी सैलरी हो सकती है?

पैकिंग का काम सीखने के बाद आपकी कम से कम 08 से 10 हज़ार रूपये (अनुमानित) सैलरी हो सकती है.

Packing की जॉब से कितनी कमाई होगी?

पैकिंग की जॉब के लिए आप अपने नज़दीक किसी फैक्ट्री या कंपनी से संपर्क कर सकती हैं.

कुछ कंपनियां प्रति प्रोडक्ट को पैक करने पर पैसे देती हैं तो कुछ कंपनियां आपको मासिक सैलरी देंगी जोकि आपकी लोकेशन और काम के हिसाब से अलग आग हो सकती है.
लेकिन इतना तो हम कह ही सकते हैं कि महीने के आप 8 से 10 हज़ार रूपये तो ज़रूर ही कमा लेंगे.

महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब – FAQs

20 से भी ज़्यादा जॉब Ideas को जानने के बाद किसी के भी मन में इन जॉब्स के प्रति सवाल आना ज़ाहिर सी बात है. तो चलिये इनमें से आपके कुछ कॉमन से सवालों के जवाब देने की कोशिश करते हैं.

क्या घर बैठे पैकिंग का काम महिलाओं के लिए बढ़िया जॉब विकल्प है?

आर्थिक रूप से जो तंग महिलाएं हैं उनके लिए पैकिंग की जॉब एक बढ़िया विकल्प है लेकिन अगर उनके पास कोई Skill है तो उन्हें बाकी जॉब आईडिया भी ट्राय करने चाहिए.

ऐसी कौन सी कंपनी है जो घर बैठे काम देती है?

भारत और भारत के बाहर की बहुत सारी छोटी बड़ी कंपनियां हैं जो महिलाओं को घर बैठे जॉब्स देती हैं. इन कंपनियों के बारे में आप LinkedIn, Indeed, Naukri.com, Jooble और Careerjeet आदि पर सर्च कर सकते हैं.

महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब करने से कितनी कमाई होगी?

यह बात आपकी मेहनत और जॉब प्रोफाइल पर निर्भर करती है कि घर बैठे जॉब करने से कितनी कमाई होगी. यदि आप अच्छे से मेहनत करती हैं तो आपकी मासिक कमाई हज़ारों क्या लाखों में भी हो सकती है.

लेडीज के लिए पार्ट टाइम जॉब में से कौन सा जॉब सबसे बढ़िया है?

पार्ट टाइम के लिए वैसे तो बहुत सारे जॉब आईडिया हैं लेकिन अगर आपको अपनी मर्ज़ी से पार्ट टाइम जॉब करनी है तो आपको एक फ्रीलांसर बन जाना चाहिए जिसमें आप सुविधा के अनुसार काम कर सकती हैं.

क्या घर बैठे Data Entry करके भी पैसे कमाए जा सकते हैं?

जी हाँ! आप घर बैठे या ऑफिस जाकर डाटा एंट्री की जॉब कर सकती हैं और बढ़िया पैसे कमा सकती हैं.

महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब – निष्कर्ष

कई महिलाएं सोचती हैं कि आर्थिक रूप से तंग महिलाओं को अपनी जॉब में पैसे नहीं बनते जिसकी वजह से उनके पास कोई जॉब विकल्प नहीं बचता. तो मैं आपको बता दूँ ऐसा बिलकुल भी नहीं है.

छोटे जॉब करके महिलाएं सबसे पहले पैसे जमा कर सकती हैं और जमा पैसों के साथ कोई बढ़िया सी Skill सीख सकती हैं.

फिर इस Skill के साथ जॉब कर सकती हैं या एक फ्रीलांसर के रूप में जॉब करके कमाई कर सकती हैं. देखिये मेहनत तो आपको हर जॉब में करनी पड़ेगी.

अगर आपको सफल होना है तो आप मेहनत से नहीं बच सकते. इसलिए मेहनत में हमेशा आपको लगे रहना चाहिए.

इस लेख में बताए गए महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब आईडियाज़ यदि आपको Useful लगे हैं तो इस लेख सांझा जरूर करें ताकि आपके जानने वाले भी जॉब आईडिया ले सकें और पैसे कमा सकें.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments