बिहार के छात्र-छात्राओं के लिए बिहार सरकार की 5 प्रमुख योजना

बिहार सरकार ने बिहार के छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहित करने और उनके मदद के लिए कई सारी योजनाएं लाई है. इन योजनाओं की वजह से कई विद्यार्थियों को अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखने में और नए-नए हुनर सीखने में मदद मिली है.

सभी राज्य की राज्य सरकार (state government) और केंद्र सरकार (central government) समय-समय पर विद्यार्थियों के लिए नई-नई योजनाएं लाती रहती है.

इस ब्लॉग पोस्ट में हमलोग बिहार सरकार की विद्यार्थियों के लाई गई प्रमुख योजनाओं के बारे में जानेंगे. आप अगर केंद्र सरकार की योजना जो छात्र-छात्राओं के लिए लाई गई है के बारे में जानना चाहते हैं, तो कमेंट में जरूर बताएं. हम उस पर भी जल्द एक ब्लॉग पोस्ट लाने की कोशिश करेंगे.

इन योजनाओं से विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सकें, इसके लिए बिहार सरकार ने अपनी कई योजनाओं में समय के साथ-साथ बदलाव किए हैं. इसका बहुत ही अच्छा उदाहरण हैं, बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना. इस योजना में विद्यार्थियों को पहले सिर्फ अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए लोन मिलता था. पर अब इसी योजना के अंतर्गत टेक्निकल कोर्स (B.Tech, BCA) करने वालों को लैपटॉप खरीदने के लिए भी पैसा दिया जाता है. जिससे टेक्निकल कोर्स करने वाले विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के साथ-साथ प्रैक्टिस भी कर सकें.

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के अलावा बिहार सरकार की और भी कई सारी योजनाएं हैं, जिससे बिहार के छात्र-छात्राएं लाभ उठा रहे हैं. आइए इन सभी योजनाओं के बारे में जानते हैं.

विद्यार्थियों के लिए बिहार सरकार की 5 प्रमुख योजना

Student ke liye bihar sarkar ki yojnaye
Students in School Uniform

1. बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना

इस योजना की शुरुआत 02 अक्टूबर 2016 को की गई थी. इस योजना का मुख्य मकसद बिहार की साक्षरता दर (literacy rate) को बढ़ाना था. क्योंकि 10वीं या 12वीं के बाद कई सारे विद्यार्थी आर्थिक तंगी की वजह अपनी आगे की पढ़ाई जारी नहीं रख पाते हैं.

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड (BSCC) योजना के तहत विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए 4 लाख तक का लोन दिया जाता है. इस लोन पर साधारण ब्याज लगता है जिसकी दर 4% हैं. ट्रांसजेंडर, दिव्यांगो और लड़कियों के लिए ये ब्याज दर मात्र 1% हैं.

इस योजना के लिए आप अपने जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र (District Registration cum Counseling Center_ DRCC) जाकर या 7nischay yuva-upmission के वेब पोर्टल से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. इस योजना के लिए आवदेन करने में किसी भी तरह का कोई शुल्क नहीं लगता हैं.

ये भी पढ़ें > बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

इस योजना के अंतर्गत कुल 42 कोर्स को सम्मिलित किया गया है. इन कोर्स में सामान्य कोर्स (जैसे BA, B.Sc, आदि), टेक्निकल कोर्स (B.Tech, BCA), प्रोफेशनल कोर्स (BBA, MBA) एवं कई डिप्लोमा और पॉलीटेक्निक कोर्स को भी शामिल किया गया है.

इसमें आपको 4 लाख में से ही पढ़ाई की फीस के साथ-साथ हॉस्टल फीस भी दिया जाता है. आपको अगर हॉस्टल नहीं मिला है या आप हॉस्टल में नहीं रहना चाहते हैं तो आपको पीजी (PG) में रहने का भी पैसा दिया जाता है. इन सबके अलावा टेक्निकल कोर्स करने वाले विद्यार्थी को लैपटॉप खरीदने के लिए भी पैसा दिया जाता है.

ये भी पढ़ें > बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड (BSCC) योजना की संपूर्ण जानकारी _ पात्रता (Eligibility Criteria), आवश्यक दस्तावेज और लोन वापसी की प्रक्रिया

2. मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन योजना

इस योजना के तहत बिहार के जो छात्र-छात्राएं 10वीं फर्स्ट (1st) डिवीजन से पास करते हैं, उन्हें 10,000 (10 हज़ार) ₹ की प्रोत्साहन राशि दी जाती हैं. ये प्रोत्साहन राशि किसी विशेष जाति के लिए खास नहीं है, बल्कि ये प्रोत्साहन राशि सभी जाति के बालक और बालिकाओं को जो 1st डिवीजन से मैट्रिक पास किए हो को मिलता है.

Mukhyamantri Balak/Balika Protsahan Yojana के अंतर्गत 10वीं सेकंड (2nd) डिवीजन से पास करने वाले अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) के विद्यार्थियों को ही प्रोत्साहन राशि दी जाती हैं. ये प्रोत्साहन राशि 8 हज़ार (8,000) ₹ होती हैं.

इस योजना का लाभ सिर्फ उन्ही विद्यार्थियों को मिलता है, जो अविवाहित हो और जिनके परिवार की वार्षिक आय 1.5 लाख या उनसे कम हो.

मुख्यमंत्री बालक/बालिका प्रोत्साहन योजना का लाभ उठाने के लिए, बिहार राज्य के इस योजना के लिए योग्य (eligible) विद्यार्थी को ऑनलाईन आवेदन करना होगा. इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन आप ई कल्याण बिहार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं.

3. मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना

पढ़ाई पूरी होने के बाद सभी को तुरंत नौकरी नहीं मिल पाती हैं. कई विद्यार्थियों को नौकरी पाने में कई साल लग जाते हैं. जब तक विद्यार्थी नौकरी ढूंढने में लगा रहता है, तब तक वह बेरोजगार होता हैं. तो ऐसे ही बेरोजगार को वित्तीय सहायता देने के लिए मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना लाई गई है.

इस योजना के तहत बिहार राज्य के 12वीं पास वैसे बेरोजगार जो अभी अपनी नौकरी तलाश कर रहे हैं, उनको वित्तीय सहायता दी जाती है. ये वित्तीय सहायता 1,000 (एक हज़ार) ₹ प्रतिमाह 2 साल तक प्रदान की जाती हैं.

मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना (MNSSBY) का लाभ सिर्फ उन्हीं अभ्यर्थी को मिलेगा है, जिसकी आयु 20 – 25 वर्ष हो और जिनके परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रुपए या उनसे कम हो.

4. कुशल युवा प्रोग्राम

भारत के टॉप बेरोजगार राज्यों की सूची में बिहार का नाम भी आता है. बिहार में अधिक बेरोजगारी की कई वजह हैं, जिसमें से एक वजह लोगों के पास जरूरी हुनर (skill) का ना होना भी है. जिनके पास कोई हुनर नहीं है, उनके अंदर हुनर विकसित (skill development) करने के लिए बिहार सरकार ने कुशल युवा प्रोग्राम शुरू किया.

यह योजना 10वीं पास विद्यार्थी और 12वीं पास विद्यार्थी दोनों के लिए उपलब्ध हैं.

इस योजना के अंतर्गत 3 कोर्स आते हैं :

  • KYP Course 1
  • KYP Course 2
  • KYP Course 3

KYP Course 1 के अंतर्गत अंग्रेजी और हिंदी कम्युनिकेशन स्किल सिखाई जाती हैं.

KYP Course 2 के अंतर्गत IT लिटरेसी स्किल डेवलप कराई जाती हैं.

KYP Course 3 के अंतर्गत वर्कप्लेस पर काम आने वाले सॉफ्ट स्किल और लाइफ स्किल सिखाएं जाते हैं.

Skill training _ Students ke liye bihar sarkar ki yojana

इन सभी कोर्स के बारे में विस्तार से जानने के लिए बिहार स्किल मिशन के ऑफिशियल वेबसाइट (skillmissionbihar.org) पर विजिट कर सकते हैं.

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना और कुशल युवा प्रोग्राम ये तीनों योजना बिहार सरकार के ‘आर्थिक हल, युवाओं को बल’ निश्चय के अंतर्गत आती हैं.

5. मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना

बिहार सरकार ये योजना उन विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है, जो पढ़ाई करने के बाद अपना कोई बिजनेस करना चाहते हैं. बिहार में बेरोजगारी बहुत ज्यादा है, बहुत से विद्यार्थी नौकरी पाने के लिए बहुत मेहनत करते हैं पर उसे नौकरी नहीं मिलती है. वैसे विद्यार्थियों के लिए अपना बिजनेस करना एक अच्छा विकल्प है.

मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत बिहार के युवाओं को अपना उद्यम स्थापित करने के लिए 10 लाख रुपए का लोन दिया जाएगा. इस योजना का लाभ सभी वर्ग और जाति के लोग उठा पाएंगे.

इस 10 लाख रुपए में से सिर्फ 5 लाख रुपए (50%) ही बिहार सरकार को लौटाना होगा, बाकी का 5 लाख रुपया नही लौटाना हैं. ये सरकारी अनुदान हैं. इन 5 लाख रुपए पर युवकों को 1% ब्याज लगेगा जबकि महिलाओं के लिए कोई भी ब्याज दर नहीं है.

इस योजना के बारे में विस्तार से जानने के लिए और इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए बिहार के उद्योग विभाग के पोर्टल (www.udyami.bihar.gov.in) पर विजिट करें.

ये भी पढ़ें > 12वीं पास के लिए बिहार में 15+ सरकारी नौकरी



इस पोस्ट में आपको बिहार सरकार की विद्यार्थियों के लिए लाई गई 5 प्रमुख योजनाओं के बारे में बताया गया. उम्मीद है आपको ये जानकारी उपयोगी लगी होगी. आपको अगर लगता है कि ये जानकारी किसी और के लिए भी उपयोगी हो सकती है तो उन तक शेयर जरूर करें.

एक ही पोस्ट में सभी योजनाओं के बारे में विस्तार से बता पाना संभव नहीं था. इसलिए आप जिस योजना के बारे में भी विस्तार से जानना चाहते हैं, हमें कमेंट में जरूर बताएं. हम जल्द उस पर भी एक पोस्ट लेकर आने का प्रयास करेंगे.

कृपया इस पोस्ट को शेयर करें!
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments